Dev dipawali 2019 : राजघाट पर लेजर शो, गंगा की लहरों पर सजेंगे शिव, चार सेल्फी प्वाइंट और सोशल मीडिया सेंटर भी

वाराणसी, जेएनएन। देव दीपावली में इस बार पूरी रंगत राजघाट पर समेटने की तैयारी है। इस लिहाज से घाट पर संगीत संध्या का विशेष आयोजन किया गया है, जिसमें प्रख्यात सूफी गायक हंसराज हंस व प्रख्यात संतूर वादक भजन सोपोरी अपनी-अपनी प्रस्तुतियों से जन-जन को रिझाएंगे। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल व मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ शाम को इस घाट पर दीपदान व गंगा पूजन करेंगे। इसके साथ ही लेजर लाइट शो के जरिये गंगधार पर बाबा भोलेनाथ आकार पाएंगे। इसमें काशी विश्वनाथ गंगे का बखान किया जाएगा। पर्यटन विभाग की ओर से 20-20 मिनट के चार शो तैयार किए गए हैं। चार सेल्फी प्वाइंट और सोशल मीडिया सेंटर भी बनाया गया है।

सूना रहेगा दशाश्वमेध घाट

देव दीपावली का उत्सव सजने के बाद 25 वर्षों में पहली बार ऐसा होगा जब दशाश्वमेध घाट सूना होगा। पीपा पर मंच बनाने को लेकर फंसे पेच में प्रशासन द्वारा अनुमति निरस्त किए जाने पर गंगा सेवा निधि व गंगोत्री सेवा समिति ने अपने कार्यक्रम स्थगित कर सिर्फ गंगा आरती कराने का निर्णय लिया है। 

550 कनस्टर तेल से जगमगाएंगे घाट

केंद्रीय देव दीपावली महासमिति के अध्यक्ष वागीश मिश्रा ने बताया कि राजघाट से असि घाट के बीच तेल बांटने का काम सोमवार को दूसरे दिन भी चला। देर रात तक राजघाट, मैदागिन, गोदौलिया और असि पर कार्यकर्ताओं के माध्यम से घाटों पर तेल पहुंचाया गया। दो दिनों में कुल 550 कनस्टर तेल बंटवाया गया है। उन्होंने बताया कि मंगलवार दोपहर तक भी कुछ स्थानों पर जहां तेल नहीं पहुंच पाया है, वहां तेल पहुंचाया जाएगा। उधर, जैन मंदिर के व्यवस्थापक सुरेंद्र जैन ने जैन घाट पर सहयोगियों के साथ मिलकर खूबसूरत अल्पनाएं सजाईं।

 

सफाई के लिए सम्मानित किए जाएंगे

देव दीपावली के लिए चलाए गए सफाई अभियान में बेहतर सफाई करने वाले तीन सफाई इंस्पेक्टर, 15 सफाई सुपरवाइजर और 50 सफाई कर्मियों को नगर आयुक्त गौरंाग राठी सम्मानित करेंगे। साथ ही उन्हें प्रशस्ति पत्र भी देंगे। इस संबंध में आवश्यक कार्रवाई के लिए उन्होंने अपर नगर आयुक्त अजय कुमार सिंह और नगर स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देशित किया है।

गंगा-गोमती घाट पर जलेंगे 1.51 लाख दिए

देव दीपावली पर कैथी के मां जाह्नवी प्रज्ञा सेवा समिति की ओर से आदि गंगा देव दीपावली महोत्सव के तहत गंगा गोमती के तट पर एक लाख 51 हजार मिट्टी के दिए जलाए जाएंगे। यह आयोजन मार्कंडेय महादेव मंदिर धाम से संगम तट तक होगा। यह जानकारी आयोजक पंडित प्रभु नाथ चौबे ने दी है।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.