गाजीपुर में उपमुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने कहा, आज यूपी की शिक्षा व्यवस्था फिर से ए ग्रेड में रखी जा रही

उपमुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने कहा कि प्रदेश में शिक्षा के क्षेत्र में आया क्रांतिकारी बदलाव देश को विश्व गुरु बनाने में अहम भूमिका अदा करेगा। शिक्षा क्षेत्र की तस्वीर ही बदल गई है। नआजादी के बाद पहली बार बदले गए पाठ्यक्रम ने प्रयागराज बोर्ड की गरिमा बहाल की है।

Saurabh ChakravartyFri, 24 Sep 2021 08:10 PM (IST)
उपमुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने कहा कि प्रदेश में शिक्षा के क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव आया है।

जागरण संवाददाता, गाजीपुर। उप मुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने कहा कि भाजपा को राजभर समाज की चिंता है। कल्याण सिंह जब मुख्यमंत्री बने तो उन्होने महाराजा सुहेलदेव के जन्म स्थान पर मेले का आयोजन शुरू कराया जो आज तक लगता आ रहा है। दूसरी तरफ पूर्व की सरकारें मुस्लिम आक्रांता सैयद सलार मसूद गाजी के मकबरे मेले का आयोजन करती रही है। वह शुक्रवार को नेशनल इंटर कालेज के मैदान में आयोजित महाराजा सुहेलदेव सम्मान समारोह को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे।

कहा कि आज उत्तर प्रदेश विकास का पर्याय बन गया है। देश भर में जब भी विकास कार्यों के उदाहरण की बात आती है तो उत्तर प्रदेश का नाम ही सबसे पहले आता है। प्रदेश में संचालित प्रधानमंत्री आवास योजना प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना, स्मार्ट सिटी योजना, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम जैसी योजनाओं में 44 योजना उत्तर प्रदेश पहले स्थान पर है। विकास के चलते ही प्रदेश आज देश की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। डिप्टी सीएम ने कहा कि उत्तर प्रदेश में बदलाव केंद्र की मोदी सरकार और योगी सरकार के संयुक्त प्रयासों से संभव हुआ है। कहा कि विधायक कृष्णानंद राय का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। अपराध और अपराधियों का ठिकाना कहा जाने वाला प्रदेश आज निवेशकों का नया पसंदीदा स्थान बन गया है।

प्रदेश के इतिहास में पहली बार साढ़े चार लाख करोड़ से अधिक के निवेश प्रस्ताव मिले हैं। निवेश प्रस्ताव पर प्रारंभ हुए कार्य प्रदेश की तस्वीर तकदीर बदलने के साथ ही यहां के किसान, नौजवान और महिलाओं के सुनहरे भविष्य की बुनियाद रखेंगे। आजादी के बाद यह पहली सरकार है जिसने साढ़े चार साल में 4.5 लाख नौकरिया दी हैं। कहा कि प्रदेश में शिक्षा के क्षेत्र में आया क्रांतिकारी बदलाव देश को विश्व गुरु बनाने में अहम भूमिका अदा करेगा। आज शिक्षा क्षेत्र की तस्वीर ही बदल गई है। नकल विहीन परीक्षा और आजादी के बाद पहली बार बदले गए पाठ्यक्रम ने प्रयागराज बोर्ड की गरिमा बहाल की है। आज यूपी की शिक्षा व्यवस्था फिर से ए ग्रेड में रखी जा रही है। नोएडा आईटी हब बनने की ओर अग्रसर है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार के कोविड प्रबंधन कि देश और दुनिया में सराहना हुई है।

ओमप्रकाश पर निशाना साधा कैबिनेट मंत्री ने

कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर ने ओम प्रकाश राजभर का नाम लिए बगैर कहा कि ओवैसी को लेकर गाजीं मिंया के मजार पर चादर चढ़ाने का काम कर रहे हैं। राजभर समाज उनकी सच्चाई जान चुका है। गाजी की मजार जाकर महाराजा सुहेलदेव के सम्मान को ठेस पहुंचाई है। समाज उन्हें माफ नहीं करेगा।

बलिया के सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त ने सरकार की उपलब्धियां गिनाने के साथ कासिमाबाद का नाम बदलकर सुहेलदेव नगर रखने का प्रस्ताव रखा। उन्होंने नेशनल इंटर कालेज के मैदान का सुंदरी करण कराने का आश्वासन दिया। कार्यक्रम को पिछड़ा वर्ग आयोग के उपाध्यक्ष प्रभुनाथ चौहान, जिलाध्यक्ष भानु प्रताप सिंह, विधायक सुनीता सिंह, महामंत्री ओम प्रकाश राय आदि ने संबोधित किया। एमएलसी विशाल सिंह चंचल, विधायक अलका राय, पूर्व जिला अध्यक्ष वृजेंद्र राय, विजय शंकर राय, भाजयुमो के जिला अध्यक्ष विश्व प्रकाश अकेला, शिव प्रताप सिंह, संतोष गुप्ता, धर्मेंद्र नाथ राय, पप्पू सिंह, मनोज सिंह, लल्लन सिंह, नेशनल इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य दिनेश सिंह आदि रहे। अध्यक्षता नंदा राजभर व संचालन भाजयुमो के प्रदेश उपाध्यक्ष राजेश राजभर ने किया। राम प्रताप सिंह पिंटू ने आभार जताया।

अधिकारियों के साथ बैठक कर की समीक्षा

कार्यक्रम के बाद उप मुख्यमंत्री ने नेशनल इंटर कालेज के सभागार में अधिकारियों व पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की। इसके पूर्व उन्होनें मीडिया कर्मियों से बातचीत की।

प्रेसवार्ता में उन्होंने प्रदेश में भ्रष्टाचार के सवाल पर कहा आज तक विपक्ष भी भ्रष्टाचार का कोई मामला नहीं उठाया है। गाजीपुर में विश्व विद्यालय के सवाल पर कहा कि इस पर विचार किया जाएगा। कहा कि गाजीपुर आज नकल विहीन परीक्षा का पहचान बन गया है। कासिमाबाद में राजकीय महिला महाविद्यालय के सवाल को टाल गए।

उप मुख्यमंत्री को सौंपा पत्रक

नेशनल इंटर कॉलेज के प्रबंधक डा विपिन बहादुर सिंह ने उप मुख्यमंत्री को पत्रक सौंप कर बताया कि शासनादेश व मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री के आदेश के बावजूद , उच्च शिक्षा निदेशालय/ विभाग उत्तर प्रदेश द्वारा महाविद्यालय में प्रोफेसर पद पर नियुक्ति, प्रन्नति पिछले 10 साल से नहीं हुई। उन्होने प्रोन्नति की मांग की। तहसील बार व सेंट्रल बार एसोसिएशन के अधिवक्ता ने पत्रक सौंप कर उप निबंधक कार्यालय तहसील परिसर में खोलने की मांग की। उप मुख्यमंत्री के कार्यक्रम स्थल नेशनल इंटर कालेज के मैदान पर गुरुवार की रात बरसात होने के बाद पूरे मैदान पानी से लबालब भर गया। सुबह प्रशासन द्वारा पंप लगाकर पानी निकलवाने के बाद पूरा मैदान कीचड़ और पानी से भरा रहा।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.