Mirjapur में लापता तीन किशोरों का बंधी में मिला शव, आंख निकालकर हत्या की आशंका

तीनों किशोरों की धारदार हथियार से हत्या कर उनकी आंखें निकाल ली गई हैं।

मीरजापुर में घर से बेर खाने जंगल में निकले लालगंज क्षेत्र के बामी गांव निवासी एक ही परिवार के तीन चचेरे भाइयों का शव बुधवार को विंध्याचल के लेहडिय़ा बंधी के पानी में पाया गया। परिवार के लोगों ने किशोरों की हत्या कर आंख निकाले जाने की आशंका जताई है।

Publish Date:Wed, 02 Dec 2020 04:09 PM (IST) Author: saurabh chakravarti

मीरजापुर, जेएनएन। घर से बेर खाने जंगल में निकले लालगंज थाना क्षेत्र के बामी गांव निवासी एक ही परिवार के तीन चचेरे भाइयों का शव बुधवार को  विंध्याचल के लेहडिय़ा बंधी के पानी में पाया गया। परिवार के लोगों ने किशारों की हत्या कर आंख निकाले जाने की आशंका जताई है। मौके पर पहुंचे एएसपी आपरेशन महेश अत्री व एसडीएम लालगंज जंग बहादुर यादव ने घटनास्थल का निरीक्षण कर परिवार के लोगों से पूछताछ की। आक्रोशित परिवार के लोग पुलिस से शव छीनकर लहंगपुर बाजार ले गए और एनएच-7 को जाम कर दिया। परिवार के लोग जिलाधिकारी और एसपी को बुलाकर त्वरित कार्रवाई कराने की मांग की। 

बामी गांव निवासी सुधांशु (14) पुत्र राजेश तिवारी, शिवम (14) पुत्र राकेश कुमार तिवारी व हरिओम (14) पुत्र मुन्ना लाल मंगलवार की दोपहर अपने घर से जंगल के लिए निकले थे। इसके बाद वे बालक घर नहीं लौटे। परिजन देर तक उनकी खोजबीन किए, लेकिन नहीं मिलने पर देर रात घर वापस लौट आए। दूसरे दिन बुधवार की सुबह एक बार फिर परिवार के लोग लापता किशोरों की खेाजबीन करने निकले। इसी बीच किसी ने बताया कि किसी का कपड़ा ङ्क्षवध्याचल के गैपुरा क्षेत्र स्थित लेहडिय़ा बंधी के पास पड़ा है।

जानकारी होते ही परिजन भागकर वहां पहुंचे। सूचना पर पुलिस भी पहुंच गई। ग्रामीणों की मदद से बंधी के पानी में  उनकी तलाश कराई तो तीनों के शव बरामद हो गए। शव बाहर निकालने के बाद पाया गया कि उनके शरीर पर चोट के कई निशान हैं। इसके साथ ही उनकी आंखें भी निकाल ली गई हैं। यह देख परिवार के लोग आग बबूला हो गए। उनकी हत्या किए जाने की आशंका जताते हुए तत्काल हत्यारोपितों को पकडऩे की मांग करने लगे। कहा कि जब तक घटना का पर्दाफाश नहीं होगा तक वे लोग शांत नहीं बैठेंगे। परिवार के लोगों ने डीएम व एसपी को बुलाने की मांग करते हुए हाईवे जाम कर दिया। 

हत्या की आशंका जताई जा रही है

विंध्याचल के लेहडिय़ा बंधी के पानी में तीन किशोरों का शव बरामद होने की सूचना मिली है। हत्या की आशंका जताई जा रही है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है। तहरीर और पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

- अजय कुमार सिंह, पुलिस अधीक्षक

सभी एक ही परिवार के बच्चे

राजेश तिवारी को दो लड़को में  सुधांशु सबसे बड़ा था, छोटा भाई आर्यन व बहन निधि है। राकेश तिवारी को दो पुत्र व एक पुत्री में शिवम सबसे बड़ा था, छोटा शिवांश व बहन खुशी है, आर्मी के अवकाश ले चुके मुन्नालाल तिवारी के दो पुत्र व एक पुत्री में हरिओम सबसे बड़ा था, छोटा निशांत बहन डाली है। राकेश कुमार तिवारी व मुन्नालाल तिवारी दोनों सगे भाई है। राजेश तिवारी चचेरे भाई है।

घर में मांगलिक उत्सव का माहौल गम में बदला

राजेश तिवारी के बहन की शादी 30 नवंबर को थी एक दिसंबर को विदाई के बाद सब रात्री में जागरण के कारण आराम कर रहे थे। उधर यह तीनो बच्चो ने घर में बड़ो की नजर बचाकर जंगल में बैर खाने गए थे। यह जानकारी छोटे बच्चो से मिली थी।

सभी कक्षा आठ के छात्र थे

सुधांशु व शिवम विंध्‍यवासनी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में कक्षा आठ के छात्र थे। हरिओम नैनी प्रयागराज में इंग्लिश मीडियम से कक्षा आठ का छात्र था और पढ़ने में काफी तेज था। शादी में शामिल होने के लिए अपनी मां बाप के साथ घर पर आए थे। पिता मुन्नालाल तिवारी बरात विदाई के बाद नैनी चले गए थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.