Dashashwamedh Plaza : बनारसी पान से लेकर गुलाबी मीनाकारी तक का एक छत के नीचे इंतजाम

थाती की विशिष्टता को सहेजते हुए अधुनातन हो रही काशी का स्वरूप अब एक जगह पर दिख जाएगा। यह दशाश्वमेध घाट से ठीक पहले बन रहे टूरिस्ट प्लाजा में नजर आएगा । इसमें पर्यटकों की सुख-सुविधा के आधुनिक इंतजाम होंगे तो बनारस के मशहूर खानपान भी एक जगह मिल जाएंगे।

Saurabh ChakravartyMon, 27 Sep 2021 11:35 PM (IST)
वाराणसी में दशाश्वेध घाट पर निर्माणाधीन काम्प्लेक्स।

जागरण संवाददाता, वाराणसी। Dashashwamedh Plaza थाती की विशिष्टता को सहेजते हुए अधुनातन हो रही काशी का स्वरूप अब एक जगह पर दिख जाएगा। यह दशाश्वमेध घाट से ठीक पहले बन रहे टूरिस्ट प्लाजा में नजर आएगा । इसमें पर्यटकों की सुख-सुविधा के आधुनिक इंतजाम होंगे तो बनारस के मशहूर खानपान भी एक जगह मिल जाएंगे। यहां पूड़ी-कचौड़ी-जलेबी, ठंडई, लस्सी, मलइयो और बनारसी पान तक एक ही जगह पर पाएंगे। इसके अलावा बनारसी साड़ी, हैंडीक्राफ्ट जैसे लकड़ी के खिलौने, गुलाबी मीनाकारी, जरदोजी के सामान भी खरीदने के लिए भटकना नहीं पड़ेगा।

पर्यटकों को आकर्षित करने के उद्देश्य से वाराणसी विकास प्राधिकरण इसे आकार दे रहा है। स्मार्ट सिटी योजना से बन रहे इस प्लाजा में पूजन सामग्री की दुकानें भी होंगी। स्मार्ट सिटी कंपनी ने जो टाइम लाइन तय की है उसके सापेक्ष दिसंबर तक प्लाजा बनकर तैयार हो जाएगा। दशाश्वमेध घाट के पास कई वर्षों से खाली पड़ी उस जमीन पर मल्टी स्टोरी कामर्शियल काम्प्लेक्स विकसित किया जा रहा है, जो पर्यटन के दृष्टिगत महत्वपूर्ण साबित होगा। यहां से गुजर रहा रास्ता बाबा श्रीकाशी विश्वनाथ के दरबार तक भी जाता है। पर्यटक गंगा में आस्था की डुबकी लगाने, गंगा आरती या अध्यात्म की तलाश में घाटों पर जरूर आते हैं। दशाश्वमेध घाट की सीढिय़ां उतरने के ठीक पहले दशकों से बेकार पड़ी अर्धनिर्मित जगह को वीडीए व्यावसायिक तौर पर उपयोगी बना रहा है। काम्प्लेक्स में सीढियों के साथ-साथ बुजुुर्गों और दिव्यांगों की सुविधा के लिए लिफ्ट व एक्सेलेटर भी लगेगा। साथ ही सरफेस डेवलपमेंट के अंतर्गत भूतल पर पर्यटकों के बैठने के लिए स्टोन फ्लोरिंग और पाथवे बनाया जाएगा। साथ ही पर्यावरण संरक्षण का ध्यान रखते हुए हरियाली का भी ध्यान रखा गया है।

यहां तीन मंजिला काम्प्लेक्स बन रहा है। लोअर ग्राउंड फ्लोर पर 68, अपर ग्राउंड फ्लोर पर 42 फूड कोर्ट के लिए आरक्षित होगा। बेसमेंट का पुनर्विकास करते हुए 72 दुकानों का प्रविधान के साथ अन्य प्रयोजन के लिए स्थल आरक्षित किया गया है।

ऐसा होगा दशाश्वमेध प्लाजा

-03 मंजिला बनेगा काम्प्लेक्स

-3082.04 वर्गमीटर कुल एरिया

-991.14 वर्गमीटर लोअर ग्राउंड फ्लोर, 68 दुकानें

-922.96 वर्गमीटर अपर ग्राउंड फ्लोर, 42 दुकानें

-28.54 करोड़ रुपये कुल लागत

पर्यटन उद्योग को बड़ा लाभ होगा

दशाश्वमेध प्लाजा निर्माण कार्य तेज गति से चल रहा है। तय मियाद में कार्य पूरा किया जाएगा। इसका निर्माण होने के बाद पर्यटन उद्योग को बड़ा लाभ होगा। जनसंख्या नियोजन के तहत दो सौ से अधिक लोगों के लिए रोजगार के अवसर मिलेंगे।

-ईशा दुहन, वीडीए उपाध्यक्ष

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.