Coronavirus Varanasi City News : 3773 सैंपल के आए परिणाम, 178 Positive मरीज मिले

लैब से प्राप्त 3773 जांच रिपोर्ट में से 178 नए कोरोना पॉजिटिव मिले हैं।
Publish Date:Mon, 28 Sep 2020 08:40 AM (IST) Author: Saurabh Chakravarty

वाराणसी, जेएनएन। बीएचयू व मंडलीय अस्पताल लैब से रविवार को प्राप्त 3773 जांच रिपोर्ट में से 178 नए कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। होम आइसोलेशन के 180 मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आने पर उन्हें स्वस्थ घोषित कर दिया गया। वहीं इलाज के दौरान पिछले 24 घंटे में कोरोना से तीन मरीजों की मौत हो गई। कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या बढ़ कर अब 12855 हो गई है। इनमें से अब तक 11145 मरीज ठीक होकर अपने घर-परिवार में जा चुके हैं। वर्तमान में कुल 1501 सक्रिय कोरोना मरीज हैं। कोविड लेवल-थ्री अस्पताल बीएचयू में बिरदोपुर निवासी 72 वर्षीय पुरुष व उमरहा निवासिनी 66 वर्षीय महिला एवं एपेक्स हॉस्पिटल में नियार-चोलापुर निवासी 67 वर्षीय पुरुष की इलाज के दौरान मौत हो गई। जिले में कोरोना से अब तक 209 मरीजों की मौत हो चुकी है। वहीं अब तक 193534 सैंपल के रिपोर्ट आ चुके हैं, जिनमें से 12855 पॉजिटिव व 180679 निगेटिव रहे। वहीं 8266 सैंपल के परिणाम का इंतजार है।

को-मॉर्बिटिक मरीजों की प्राथमिकता पर होगी ट्रूनेट व आरटीपीसीआर जांच

कोविड-19 के लिए जनपद के नोडल अधिकारी व अपर मुख्य सचिव डा. देवेश चतुर्वेदी ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय का निरीक्षण कर स्वास्थ्य सेवाओं का जायजा लिया। वहीं सीएमएस से वेंटीलेटर, एएफएनसी की उपलब्धता व ऑक्सीजन की स्थिति की भी जानकारी ली। नोडल अधिकारी ने सामान्य स्थिति व आपात स्थिति में मरीजों को आॅक्सीजन की उपलब्धता की योजना की जानकारी ली। मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा. वी शुक्ला ने बताया कि डिमांड एवं आपूर्ति में समन्वय के लिए योजना पहले से ही तैयार है। वर्तमान में डिमांड से लगभग दोगुना क्षमता स्टाक में मौजूद रहे इसकी भी व्यवस्था की गई है। मृतक मरीजों के डेथ आॅडिट के बारे में मुख्य चिकित्साधिकारी व मुख्य चिकित्सा अधीक्षक से पूछताछ की गयी। इस पर मुख्य चिकित्सा अधीक्षक ने मृतक मरीज श्याम सुंदर के डेथ आॅडिट का विवरण प्रस्तुत किया, जिसमें मरीज कब आया, उसे कौन सी बीमारी थी, उसका ऑक्सीजन स्तर कितना था आदि जानकारी थी। इस दौरान बैठक में लखनऊ से आई विशेषज्ञ चिकित्सकों ने सलाह दी कि को-माॅर्बिटिक मरीजों की ट्रूनेट या आरटीपीसीआर जांच प्राथमिकता पर कराया जाय। इससे मृत्यु दर को काफी हद तक कम किया जा सकता है।

नोडल अधिकारी ने फोन के माध्यम से कोविड पाॅजिटिव मरीज ओमप्रकाश त्रिपाठी से बात कर उनका हाल-चाल पूछा। साथ ही अस्पताल की व्यवस्था, खाना-नाश्ता, डाक्टरों की उपलब्धता, दवा इत्यादि के बारे में मरीज से जानकारी ली। मरीज ओमप्रकाश ने अस्पताल की व्यवस्था पर संतोष जाहिर किया। नोडल अधिकारी ने मरीज के स्वस्थ होने पर खुशी जाहिर की।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.