वाराणसी में चार कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद बढ़ी चिंता, ओमिक्रान वैरिएंट की भी होगी जांच

देशों में आए कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन को लेकर जिले के लोगों में दहशत बढ़ ही रही थी कि शुक्रवार को शहर में कोरोना के एक रोगी पाए जाने पर प्रशासन के माथे पर भी बल आ गया है। स्वास्थ्य विभाग ने इसे लेकर सतर्कता बढ़ा दी है।

Abhishek SharmaPublish:Sat, 04 Dec 2021 11:54 AM (IST) Updated:Sat, 04 Dec 2021 11:54 AM (IST)
वाराणसी में चार कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद बढ़ी चिंता, ओमिक्रान वैरिएंट की भी होगी जांच
वाराणसी में चार कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद बढ़ी चिंता, ओमिक्रान वैरिएंट की भी होगी जांच

वाराणसी, जागरण संवाददाता। दक्षिण अफ्रीका सहित कई देशों में आए कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन को लेकर जिले के लोगों में दहशत बढ़ ही रही थी कि शुक्रवार को शहर में कोरोना के एक रोगी पाए जाने पर प्रशासन के माथे पर भी बल आ गया है। स्वास्थ्य विभाग ने इसे लेकर सतर्कता बढ़ा दी है। बावजूद इसके रोगी पाए जाने पर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं।

बताया जा रहा है कि कैंटोमेंट नदेसर निवासी 33 वर्षीय महिला विदेश से सफर करके आई है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग इसकी पुष्टि नहीं कर रहा है। पूर्वांचल में अभी नए वैरिएंट की जांच या जिनोम सिंक्वेंसी की व्यवस्था नहीं है। ऐसे में आरटी-पीसीआर से ही उक्त महिला कोरोना पाजिटिव पाई गई है। ओमिक्रोन की पुष्टि के लिए पुणे की लैब में हो सकती है। सीएमओ डा. राहुल सिंह ने बताया कि कोरोना के नए वैरिएंट को देखते हुए जिले में जितने में भी आक्सीजन प्लांट लगे हैं उसे प्रतिदिन एक घंटे चलाने का निर्देश दिया गया है। इसके साथ ही एयरपोर्ट भी सतर्कता बढ़ा दी गई है। वहीं जिले के विभिन्न केंद्रों पर 400 सत्रों के आयोजन में 57817 लोगों ने कोरोना का टीका लगाकर अपने को सुरक्षित किया।

गुवाहाटी से आए बीएचयू के डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव : दक्षिण अफ्रीका सहित कई देशों में आई कोरोनावायरस नए वेरिएंट ओमी क्रोन के कारण देश दुनिया में हड़कंप मचा हुआ है। वाराणसी में भी एक ही दिन में चार कोरोनावायरस के संदिग्‍ध मरीज मिलने से लोगों में दहशत फैल गई है। नदेसर निवासी 33 वर्षीय एक महिला मुंबई के रास्ते फ्रांस से आई हैं। कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर उसे शहर के एक होटल में क्‍वारंटाइन कराया गया है। उस होटल के सभी कर्मचारियों के भी सैंपलिंग की गई है।

वहीं चिकित्सा विज्ञान संस्थान बीएचयू स्थित गैस्ट्रोएंटरोलॉजी विभाग के एक डॉक्टर भी कोरोनावायरस हैं। यह डॉक्टर गुवाहाटी से आए हैं। इसके साथ ही ऑपरेशन कराने पहुंचे दो मरीज भी कोरोनावायरस पॉजिटिव पाए गए हैं। इसके अलावा अभी कुछ दिन पहले ही गाजीपुर में अमेरिका से एक फैमिली आई थी। उसमें माता-पिता और दो बच्चे कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। सैंपल की क्रास चेकिंग आईएमएसबीएचयू के एमआरयू लैब में की गई। इसमें भी इनकी पुष्टि हो गई है। एमआरयू लैब की इंचार्ज प्रोफेसर रोएना सिंह ने बताया कि इतने मामले आने के बाद अब एमआरयू लैब में सोमवार से जिनोम सीक्वेंसिंग शुरू कर दी जाएगी।