मीरजापुर में कंपनी के डायरेक्टर की गोली मारकर हत्या, गंभीर रूप से घायल एचओडी वाराणसी रेफर

मीरजापुर में बदमाशों ने धौहां स्थित शांति गोपाल कानकास्ट फैक्ट्री के डायरेक्टर को गोली मारी।
Publish Date:Sun, 27 Sep 2020 10:51 PM (IST) Author: Saurabh Chakravarty

मीरजापुर, जेएनएन। चुनार कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत रामलीला मैदान के पास स्थित कबीर मठ का इलाका देर शाम गोलियों की तड़तड़ाहट से थर्रा उठा। बदमाशों ने धौहां स्थित शांति गोपाल कानकास्ट फैक्ट्री के डायरेक्टर को गोली मारी। उनकी मौके पर ही मौत हो गई। वहीं पावर प्लांट के एचआेडी गोली लगने से घायल हो गए। घटना के बाद आसपास की दुकाने बंद हो गई और मौके पर अफरा-तफरी मच गई। पुलिस को मौके से पांच कारतूस के खोखे और एक जिंदा कारतूस बरामद हुआ। वारदात को अंजाम देने वाले अपराधी मौके से फरार हो गए। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि चार की संख्या में बदमाश थे और मौके से पैदल ही स्टेट बैंक की आेर मेन रोड से भाग निकले। मौके पर पहुंचे सीओ सुशील कुमार यादव व कोतवाल मनोज कुमार सिंह ने आसपास के लोगो से पूछताछ की।

भुवनेश्चर उड़ीसा के निवासी जीबनेंदु रथ (36) चुनार धौहा स्थित शांति गोपाल कानकास्ट लिमिटेड में डायरेक्टर के पद पर करीब दो वर्षों से कार्यरत थे। रविवार को छुट्टी का दिन होने के कारण वह कंपनी के ही एक

अन्य एचआेडी किशोर चंद दास (41) निवासी कटक उड़ीसा व आपरेशन इंचार्ज सुमित मोहंति निवासी उड़ीसा के साथ चुनार बाजार में दिनचर्या के सामानों की खरीदारी करने आए थे। शाम करीब सात बजे चुनार कबीर मठ पहुंच गाड़ी पार्क कर सभी खरीदारी के लिए चले गए। इसके बाद वापस आने पर सामान गाड़ी में रखने के बाद पास में ही एक टेलर की दुकान पर अपना कपड़ा लेकर ये वापस लौट रहे थे उसी समय कबीर मठ के पश्चिमी द्वार के पास पहले से घात लगाए बदमाशों ने उन पर फायर झोंक दिया। फायरिंग के दौरान जीबनेंदु रथ मौके पर गिर पड़े। वहीं खुद को बचाने के लिए भागने के दौरान किशोर को कमर के नीचे बाईं तरफ गोली लगी। इस बीच तीसरे साथी सुमित ने भाग कर मठ में शरण ली और पुलिस को घटना की सूचना दी। इस बीच चालक सचिन गाड़ी में ही था। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक वारदात को अंजाम देने के बाद चार की संख्या में अपराधी मौके से भारतीय स्टेट बैंक की तरफ पैदल ही भाग निकले। वहीं घटना के बाद मौके पर भीड़ लग गई। इस बीच घटना स्थल पर पहुंचे चौकी इंचार्ज कमल टावरी द्वारा जीबनेंदु और किशोर को सामुदायिक स्वास्थ केंद्र चचेरी मोड़ चुनार लाया गया। चिकित्सकों ने जीबनेंदु को मृत घोषित कर दिया। वहीं गंभीर रूप से घायल किशोर दास को ट्रामा सेंटर वाराणसी के लिए रेफर कर दिया गया।

करीब चार वर्ष पहले शुरू की थी शांति गोपाल कानकास्ट

नौकरी पेशे से इलेक्ट्रिकल इंजीनियर जीबनेंदु रथ ने करीब पांच वर्ष पहले शांति गोपाल कानकास्ट में इंजीनियर के पद पर नौकरी शुरू की थी। फैक्ट्री के डायरेक्टर पूर्व एसडी सिंह के निधन के बाद करीब दो वर्ष पूर्व स्वभाव से बेहद मिलनसार व हंसमुख स्व. रथ को कंपनी प्रबंधन ने डायरेक्टर बना दिया। ये और इनके अन्य साथी धौहा स्थित फैक्ट्री परिसर में ही रहते थे।

फैक्ट्री से ही जुड़े हैं वारदात के तार

घटना के संबंध में प्रभारी निरीक्षक मनोज कुमार सिंह ने बताया कि मौके से पांच खोखे व एक जिंदा कारतूस बरामद किया गया है। घटना का कारण पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि प्रथम दृष्टया पूछताछ में कोई कारण सामने नहीं आया है। मामले के विभिन्न पहलुआें पर जांच और पूछताछ के बाद ही घटना की वजह की जानकारी मिल सकेगी।

कुछ ही देर में सर्जरी कराई जाएगी

चुनार की घटना में घायल शांति गोपाल कॉस्ड आयरन फैक्टरी के कर्मचारी उड़ीसा निवासी किशोर चन्द्र दास (42) के कूल्हे में गोली फंसी हुई हैं, कुछ ही देर में सर्जरी कराई जाएगी। साथ पहुंचे चुनार थाने के सिपाही ने बताया कि घटना के दौरान आयरन फैक्टरी के निदेशक जुबेन्दू रथ की मौके पर ही मौत हो गई थी। शाम 7 बजे के करीब दोनों साथ में बाजार से खरीदारी करने जा रहे थे। अंधेरे का फायदा उठाकर बदमाशों ने हमला कर दिया। सिंह मेडिकल के चिकित्सकों के अनुसार किशोर की हालत स्थिर है सर्जरी कर कूल्हे में फंसी गोली को निकाला जाएगा। इधर घटना की खबर मिलते ही कंपनी के स्थानीय कर्मचारी भी सिंह मेडिकल पहुंच गए।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.