CM योगी आदित्यनाथ ने दी 445 करोड़ की योजनाओं की सौगात, बोले- सरकार ने पस्त किए माफिया के हौसले

सीएम योगी आदित्यनाथ ने गाजीपुर और जौनपुर में जनसभाओं को संबोधित किया। उन्होंने गाजीपुर में 195 करोड़ रुपये और जौनपुर में 250 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास भी किया। कहा कि आज विकास योजनाएं का लाभ बिना भेदभाव के वास्तविक पात्रों तक पहुंच रहा है।

Umesh TiwariMon, 20 Sep 2021 10:30 PM (IST)
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को गाजीपुर और जौनपुर में जनसभाओं को संबोधित किया।

वाराणसी, जेएनएन। दो दिन के पूर्वांचल दौरे पर आए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्व की सरकारों को वंशवादी, जातिवादी, परिवारवादी व स्वार्थी बताते हुए कहा कि यहां माफिया ने लोगों की जमीनें कब्जा कर रखी थीं। साढ़े चार वर्षों में प्रदेश सरकार ने गुंडों के हौसले पस्त कर दिए हैं। अवैध निर्माण पर बुलडोजर चलाए गए। सपा सरकार में गरीबों का राशन लूटा गया तो बसपा में बहनजी के हाथी का पेट इतना बड़ा था कि वह उसे भरने में ही लगी रहीं। पहले की सरकारों ने उत्तर प्रदेश को दंगाग्रस्त प्रदेश बनाने के साथ ही आर्थिक रूप से कमजोर कर दिया। भाजपा सरकार ने हर क्षेत्र में विकास कार्य किया और दंगा, छेड़खानी जैसी घटनाओं पर रोक लगाकर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को गाजीपुर और जौनपुर में जनसभाओं को संबोधित किया। उन्होंने गाजीपुर में 195 करोड़ रुपये और जौनपुर में 250 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास भी किया। बनारस से गाजीपुर पहुंचे सीएम ने सैदपुर नगर स्थित टाउन नेशनल इंटर कालेज में जनसभा को संबोधित किया। कहा कि आज विकास योजनाएं का लाभ बिना भेदभाव के वास्तविक पात्रों तक पहुंच रहा है। मुख्तार अंसारी का नाम लिए बिना कहा कि माफिया जमीन कब्जा कर हवेली बना लेते थे। भाजपा सरकार में जमीन कब्जा करने की हिम्मत किसी में नहीं है। वाराणसी-गोरखपुर फोरलेन का निर्माण अंतिम चरण में है। सीएम ने पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का अगले माह प्रधानमंत्री के हाथों उद्घाटन का भरोसा जताया।

इसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जौनपुर पहुंचे और मुंगराबादशाहपुर विधानसभा क्षेत्र के सार्वजनिक इंटर कालेज में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि दुर्गापूजा व रामलीला का मंचन कोरोना प्रोटकाल का ध्यान रखते हुए किया जाएगा। सपा के समय न दुर्गापूजा ढंग से होती थी, न रामलीला। मूर्ति विसर्जन के दौरान हिंसा आम बात थी, लेकिन आज ऐसा नहीं है। पिछली सरकारों ने विशेष जाति के लिए काम किया। नौकरी का विज्ञापन निकलते ही वसूली शुरू हो जाती थी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पहले प्रदेश की पहचान बिजली न रहने पर अंधेरा, टूटी सड़कों, बहन-बेटियों के इज्जत लूटने और त्योहार से पहले सांप्रदायिक दंगों से होती थी। डेंगू, बाढ़ जैसी आपदा में सैफई का एक परिवार नाच-गाना करके खुशियां मनाता था। लेकिन, आज सरकार हर तरफ देख रही है। उमानाथ सिंह राजकीय मेडिकल कालेज जनपद ही नहीं पूर्वांचल के लोगों को विश्वस्तरीय स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.