top menutop menutop menu

32.76 करोड़ हड़पने के लिये दर्ज कराया मुकदमा, विधायक विजय मिश्र के कारोबारी पुत्र विष्णु ने किया पलटवार

32.76 करोड़ हड़पने के लिये दर्ज कराया मुकदमा, विधायक विजय मिश्र के कारोबारी पुत्र विष्णु ने किया पलटवार
Publish Date:Sun, 09 Aug 2020 12:10 AM (IST) Author: Saurabh Chakravarty

भदोही, जेएनएन। भवन कब्जा करने और चेक पर जबरिया हस्ताक्षर कराने के आरोप में दर्ज मुकदमे के 24 घंटे बाद विधायक विजय मिश्र के कारोबारी पुत्र विष्णु मिश्र ने पलटवार किया है। कौलापुर स्थित आवास पर पत्रकारों से बातचीत में बताया कि 32.76 करोड़ न देना पड़े इसलिए गोपीगंज कोतवाली में विरोधियों के साजिश में आकर कृष्णमोहन तिवारी ने मुकदमा दर्ज कराया है। बताया कि कृष्णमोहन तिवारी द्वारा 32 करोड़ 76 करोड़ का चेक दिया गया था। बैंक में जब चेक लगाया गया तो वह बाउंस हो गया है। बकाया भुगतान न करना पड़े तो एक झूठी प्राथमिकी दर्ज करा दी है। बताया कि चार दिन पहले एक साथ बैठकर नाश्ता आदि हुआ है। सीसीटीवी कैमरे का सीडीआर निकालकर देखा जा सकता है। हमारे और उनके बीच मधुर संबंध रहे हैं। जब मैं पढ़ाई कर रहा था तब भी वह हमे लेने के लिए जाते थे।

शराब के कारोबार में हिस्सेदारी थी सूरज की

विधायक पुत्र ने आरोप लगाया कि कृष्ण मोहन तिवारी के बेटे सूरज के साथ भी शराब के कारोबार में हिस्सेदारी थी। उनकी  पांच कंपनियों में करोड़ों रुपये की देनदारी कृष्णमोहन पर है। ताऊ की मौत होने कारण परिवार उनके श्राद्ध कर्म में व्यस्त थे। इसी बीच कृष्णमोहन तिवारी ने एकाउंटेट को चेक दे दिया। हम कभी चेक से लेनदेन नहीं करते थे। अभी तो यह एक-दो चेक का मामला है। कई अन्य लोगों को लाखों का भुगतान चेक द्वारा किया गया है। यह सब भुगतान न करना पड़े इसलिए चार दिन के अंदर वह बदल गए और झूठी कहानी बनाकर प्राथमिकी दर्ज कराई है।

कृष्णमोहन की बहन ने दी तहरीर

कौलापुर के कृष्णमोहन तिवारी की बहन पुष्पलता मिश्रा ने पुलिस को तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है। आरोप लगाया कि कृष्णमोहन तिवारी का डीएनए टेस्ट हो। वह बिंदेश्वरी नारायण तिवारी के अवैध संतान हैं। जब वह गर्भ में थी तभी बिंदेश्वरी की मौत हो गई थी। कृष्णमोहन और उनके मां सुशीला देवी द्वारा प्रताडि़त किया जा रहा है। उनके चचेरे सुसर विजय मिश्र और विष्णु मिश्र 107 ख में रहते हैं। सात अगस्त को जब वह घर गई तो उनके तीनों लड़के राजकमल तिवारी, सूर्यकमल तिवारी, नील कमल तिवारी और बहुओं ने मारपीट कर चेन छीन लिए। असलहा निकाल जान से मारने की धमकी दी है।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.