वाराणसी में जलाया गया था बस परिचालक को, मर्चरी हाउस पहुंच परिजनों ने की शिनाख्त, होगा डीएनए टेस्ट

अंडरवियर पीठ के दाने मुंह के टूटे दांत व जैकेट से मृतक की पहचान की। बस परिचालक शनिवार को घर से निकला था। मोबाइल स्विच आफ बताने पर स्वजनों को अनहोनी की आशंका हुई। हत्या के मामले में चार लोगों को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है।

Abhishek SharmaMon, 29 Nov 2021 04:03 PM (IST)
खेत में जलाकर हत्या के मामले में चार लोगों को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है।

वाराणसी, जागरण संवाददाता। कोसड़ा (चक्रपानपुर) गांव के ताल में रविवार को तड़के पुआल के ढेर में जलाएं गए युवक की शिनाख्त बस परिचालक प्रकाशनाथ उर्फ सुग्गन मिश्रा (45) के रूप में हुई। पुआल में जलाने से पहले उसकी गला दबा कर हत्या किए जाने की आशंका जताई गई है। शिवपुर स्थित मर्चरी में रखे शव को सोमवार की दोपहर भाई ओंकारनाथ मिश्रा व रविन्द्र मिश्रा उर्फ गुड्डू ने पहुंच कर देखा।

अंडरवियर, पीठ के दाने, मुंह के टूटे दांत व जैकेट से मृतक की पहचान की। बस परिचालक शनिवार को घर से निकला था। मोबाइल स्विच आफ बताने पर स्वजनों को अनहोनी की आशंका हुई। हत्या के मामले में चार लोगों को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है। घटना के पीछे आशनाई की भी चर्चा है। थानाप्रभारी संजीत बहादुर सिंह ने बताया कि सुराग मिले हैं, जल्द ही मामले का पर्दाफाश हो जाएगा। परिचालक के शव व उनके भाई का डीएनए टेस्ट कराया जाएगा। घटना के बाबत अज्ञात के खिलाफ 302 व 201 का मुकदमा दर्ज किया गया है।

मिर्जामुराद के गौर गांव निवासी स्व. अम्बिका प्रसाद मिश्रा के चार पुत्रों में तीसरे नम्बर का अविवाहित पुत्र रहा प्रकाशनाथ उर्फ सुग्गन मिश्रा लगभग 25 वर्षों से निजी बस पर परिचालक का काम करता रहा। पिता के मरने के बाद विगत कुछ वर्षों से गांव में रहने लगा था। इसके बाद भी अधिकांश समय वह घर के बाहर ही व्यतीत कर शराब का भी सेवन करता था।

गौर गांव निवासी सुरेंद्र उर्फ अभय मिश्रा का बगल के गांव कोसड़ा गांव में खेत हैं। खेत में पुआल का गठ्ठर रख ढेर लगा था। खेत से कुछ दूरी पर मिर्जामुराद का देशी शराब ठेका है। खेत के रखे पुआल के ढेर में रविवार की भोर में आग निकलता देख ग्रामीण जब मौके पर पहुंचे तो उसमें किसी युवक के शव को जलता देख पुलिस को सूचना दी। आग पर जब तक काबू पाया जाता शव काफी जल गया था। हत्या के बाद शव को जलाए जाने की खबर लगते ही ग्रामीणों की भारी भीड़ जुट गई थी। ग्रामप्रधान धर्मेन्द्र कुमार ने पुलिस को सूचना दी। खेत में शराब की शीशी, चोखा, पत्तल, गिलास, पानी का पैकेट आदि मिलने से आशंका जताई जा रही है कि पार्टी में शराब पीने को लेकर साथियों के बीच विवाद होने पर मफलर से परिचालक की गला दबा कर हत्या कर दी गई होगी या फिर हत्या के उद्देश्य से ही उसे खेत में ले जाकर शराब पिलाने के बाद हत्या कर साक्ष्य को मिटाने की खातिर शव को पुआल में रख आग लगा दी गई होगी। हत्या की घटना को आशनाई से भी जोड़कर देखा जा रहा है। एक युवती के घर आने-जाने की चर्चा रही। परिचालक के पास रहे मोबाइल की तलाश की जा रही है।

भाई के शव को देख बहने लगे आंसू : मर्चरी हाउस पर भाई के जले हुए शव को देखते ही मौके पर पहुंचे दोनों भाइयों की आंखों से आंसू बहने लगे। इस तरह क्रूरता पूर्वक आखिर भाई को क्यो मार डाला। भाई की किसी से कोई दुश्मनी भी नही रही। शिनाख्त होते ही परिवार में कोहराम मच गया। मंगलवार को शव का पोस्टमार्टम होगा। मृतक का एक भाई विकास उर्फ गुद्दन मिश्रा रायपुर से घर आने के लिए निकल पड़ा है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.