मुख्‍तमंत्री योगी आदित्‍यनाथ की संजीदगी से बलिया को मिली संजीवनी, कई परियोजनाओं को स्वीकृति दी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दौरे को लेकर जनपद में खूब हलचल है। इसके पहले जब सीएम आए थे तो बलिया को संजीवनी देकर गए थे। कोरोना संक्रमण की पहली लहर में इससे बचाव के कोई खास इंतजाम नहीं थे।

Saurabh ChakravartyThu, 17 Jun 2021 05:22 PM (IST)
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दौरे को लेकर जनपद में खूब हलचल है।

बलिया, जेएनएन। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दौरे को लेकर जनपद में खूब हलचल है। इसके पहले जब सीएम आए थे तो बलिया को संजीवनी देकर गए थे। कोरोना संक्रमण की पहली लहर में इससे बचाव के कोई खास इंतजाम नहीं थे। पिछले साल जुलाई में दौरे पर आए मुख्यमंत्री ने महामारी को मात देने के लिए ठोस पहल की। आरटीपीसीआर लैब व कोविड अस्पताल बनाने के निर्देश दिए। जनपद की प्रमुख समस्या कटान को लेकर संजीदगी दिखाई। कई परियोजनाओं को स्वीकृति दी। जननायक चंद्रशेखर विश्वविद्यालय के विकास के लिए बजट स्वीकृत किया जा चुका है।

काेविड के उपचार की व्यवस्था

सीएम के दौरे के कुछ रोज बाद ही बाद एल-1 व एल-2 अस्पताल का संचालन शुरू कर दिया गया। इस समय आइसीयू के 25 बेड, आक्सीजन युक्त 301 बेड, आक्सीजन कसंट्रेटर 135 की व्यवस्था है। जिला अस्पताल में आरटीपीसीआर लैब संचालित होने लगी है। अब जांच रिपोर्ट के लिए इंतजार नहीं करना पड़ा।

कटान के दंश से मुक्ति के लिए 99.54 करोड़

वर्ष 2021 में कटान क्षेत्रों के लिए 13 नई परियोजनाओं पर 99.54 करोड़ की सौगात मिली है। इसमें एक परियोजना को नाबार्ड से स्वीकृति नहीं मिली। सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता संजय मित्रा ने कहा कि इस बार बाढ़ या कटान से तटवर्ती क्षेत्रों में कोई नुकसान नहीं होगा। चार परियोजनाओं का कार्य पूर्ण हो गया है, शेष आठ का लगभग 75 फीसद हाे चुका है।

विश्वविद्यालय के लिए 92.39 करोड़

प्रदेश सरकार ने जननायक चंद्रशेखर विश्वविद्यालय के विकास के लिए 92.39 करोड़ का आफर लेटर दिया है। इस रकम से भवन का निर्माण होगा। विश्वविद्यालय बसंतपुर शहीद स्मारक परिसर में 22 दिसंबर 2016 को स्थापित हुआ। लगभग 60 एकड़ में विश्वविद्यालय जहां पर स्थित है, वहां जलजमाव की स्थिति भी रहती है।

शहर के अंदर सुबह छह बजे से प्रतिबंधित रहेंगे छोटे-बड़े वाहन

जिले में शुक्रवार को मुख्यमंत्री के आगमन को देखते हुए शहर के सभी छोटे-बड़े वाहन पूर्णतया प्रतिबंधित रहेंगे। यह प्रतिबंध सुबह छह बजे से लेकर मुख्यमंत्री के जाने तक लागू रहेगा। रसड़ा व भरौली की तरफ से आने वाले वाहनों को फेफना, गड़वार, सुखपुरा, बांसडीह, रेवती होते हुए निकाला जाएगा। बैरिया व हल्दी की तरफ से आने वाले वाहन चिरैयामोड़ से रेवती बांसडीह होकर निकलेगी। टीएसआई सुरेश चंद्र द्विवेदी ने बताया कि कार्यक्रम के दौरान छोटे-बड़े सभी प्रकार के वाहनों का शहर में प्रवेश पूर्ण रूप से प्रतिबंधित रहेगा। शहर में यहां होगा बैरियर बांसडीह मार्ग-तीखमपुर, सिकंदरपुर-कुंवर सिंह चौराहा, गड़वार-कटहलनाला पुल, बैरिया कदम चौराहा, फेफना-माल्देपुर। लगाए गए 35 ट्रैफिक के जवानयातायात नियंत्रण को 35 ट्रैफिक के जवान लगाए गए हैं। वह पिकेट के अलावा बड़े वाहनों को शहर के अंदर आने पर रोकेंगे।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.