वाराणसी में अष्ट भैरव संग बाबा लाट भैरव ने खाई खिचड़ी, भक्तों में वितरित किया गया प्रसाद

बाबा श्री कपाल भैरव (लाट भैरव) जी के विवाहोपरांत मंगलवार को खिचड़ी भोग का आयोजन किया गया। खिचड़ी पूड़ी सब्जी खीर आदि व्यंजनों का भोग अर्पित किया गया। कोविड के कारण भंडारे का आयोजन स्थगित करते हुए भक्तों में प्रसाद के पैकेट का वितरण किया गया।

Saurabh ChakravartyTue, 21 Sep 2021 10:18 PM (IST)
बाबा श्री कपाल भैरव (लाट भैरव) जी के विवाहोपरांत मंगलवार को खिचड़ी भोग का आयोजन किया गया।

जागरण संवाददाता, वाराणसी। बाबा श्री कपाल भैरव (लाट भैरव) जी के विवाहोपरांत मंगलवार को खिचड़ी भोग का आयोजन किया गया। सर्वप्रथम बाबा श्री लाट भैरव के विशालकाय लिंग स्वरूप प्रतिमा को स्नान कराकर नवीन वस्त्र, रजत मुंडमाला, गेंदा, गुलाब, दौना आदि पुष्पों की माला से सुसज्जित किया गया। अष्ट भैरव सहित जगत जननी माता काली का विधिवत श्रृंगार किया गया। गर्भगृह में बने भव्य पंडाल में रजत मुखौटा धारण किए, मस्तक पर भस्म लगाएं, लाल वस्त्र में बाबा श्री की अद्भुत छवि का दर्शन हर कोई अलौकिक आनंद की अनुभूति कर आध्यात्मिक शक्ति को आत्मसात कर रहा था। अष्ट भैरवों में बाबा असितांग भैरव, रुरु भैरव, चंड भैरव, क्रोधन भैरव, उन्मत्त भैरव, कपाल भैरव, संहार भैरव, भीषण भैरव रहे। परंपरानुसार कज्जाकपुरा स्थित मंदिर प्रांगण में लाट भैरव जी के साथ अष्ट भैरवों को खिचड़ी, पूड़ी, सब्जी, खीर आदि व्यंजनों का भोग अर्पित किया गया। कोविड के कारण भंडारे का आयोजन स्थगित करते हुए भक्तों में प्रसाद के पैकेट का वितरण किया गया। विदित हो कि सामान्य दिनों में भंडारे के आयोजन में कई हजार भक्त प्रसाद ग्रहण करते रहे। शाम से लेकर मध्य रात्रि तक बाबा के दर्शन और प्रसाद के लिए भक्तों की कतार लगी रहती थी, लेकिन इस वर्ष नजारा कुछ अलग दिखा। मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं द्वारा देर रात्रि तक दर्शन पूजन का क्रम चलता रहा। तत्पश्चात पूजारी चंदन पांडेय ने अष्ट भैरव की आठ विधियों से आरती की। सभी ने सस्वर भैरवाष्टक का पाठ किया।

कपाल भैरव अथवा लाट भैरव प्रबंधक समिति अध्यक्ष हरिहर पांडेय ने समस्त कार्यक्रम सकुशल, सानंद संपन्न करवाने में सहयोग के लिए सभी सनातनी धर्मावलंबियों सहित जिला प्रशासन के सहयोग के लिए कृतज्ञता व्यक्त किया। इसी के साथ तीन दिवसीय कार्यक्रम को सम्पन्न कराने के उपरांत विराम दिया गया। कार्यक्रम में मुख्य रूप से अध्यक्ष हरिहर पांडेय, उपाध्यक्ष बसंत सिंह राठौर, प्रधानमंत्री छोटेलाल जायसवाल, मंत्री मुन्ना लाल यादव, विक्रम सिंह राठौर, शिवम अग्रहरि, बच्चे लाल, अजय सिंह, कर्णशंकर पांडेय, राजकुमार, झन्ना लाल आदि रहे।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.