अस्तित्व में आया आजमगढ़ राज्य विश्वविद्यालय, शासन-प्रशासन की सक्रियता बढ़ी

आजमगढ़ जिले में नए राज्य विश्वविद्यालय स्थापना को लेकर शासन-प्रशासन की सक्रियता बढ़ गई है। मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी परियोजना में शामित नए राज्य विश्वविद्यालय की स्थापना असपालपुर आजमबांध गांव में 550 करोड़ रुपये से होगा। आगणन की रिपोर्ट मंजूरी के लिए शासन को भेज दी गई है।

Abhishek SharmaWed, 16 Jun 2021 06:50 AM (IST)
मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी परियोजना में शामित नए राज्य विश्वविद्यालय की स्थापना असपालपुर आजमबांध गांव में 550 करोड़ रुपये से होगा।

आजमगढ़, जेएनएन। जिले में नए राज्य विश्वविद्यालय स्थापना को लेकर शासन-प्रशासन की सक्रियता बढ़ गई है। मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी परियोजना में शामित नए राज्य विश्वविद्यालय की स्थापना असपालपुर आजमबांध गांव में 550 करोड़ रुपये से होगा। आगणन की रिपोर्ट मंजूरी के लिए शासन को भेज दी गई है। इधर, अपर मुख्य सचिव उच्च शिक्षा मोनिका गर्ग की तरफ से 28 अप्रैल को जारी अधिसूचना के अनुसार 15 जून यानी मंगलवार से आजमगढ़ विश्वविद्यालय अस्तित्व में आ गया है। अस्थाई कार्यालय संचालित करने के लिए डीएवी पीजी कालेज को चिह्नित किया गया है, जिसकी रिपोर्ट उच्च शिक्षा विभाग को पूर्व में ही प्रेषित की जा चुकी है। अब कुलपति की नियुक्ति का इंतजार है। शिक्षा के क्षेत्र में जनपदवासियों के लिए यह ऐतिहासिक दिन है।

राज्य विश्वविद्यालय आजमगढ़ के शिक्षा सत्र 2020-21 में संचालन की तैयारी पूरी कर ली गई है। पूर्वांचल विश्व विद्यालय जौनपुर के बंटवारा के लिए शासन ने अधिसूचना पहले ही जारी कर दी गई थी। 15 जून से पहले जिन महाविद्यालयों के छात्र पूर्वांचल विश्वविद्यालय से जुड़े हैं, उनकी परीक्षाएं वहीं विश्वविद्यालय कराएगा। इसके बाद से सभी प्रक्रिया आजमगढ़ विश्वविद्यालय के निर्देशन में होगी। आजमगढ़ व मऊ के कुल 395 महाविद्यालय अलग होकर आजमगढ़ विश्वविद्यालय से जुड़ जाएंगे।

10 हजार वर्ग फीट में अस्थाई संचालन

जिलाधिकारी की अध्यक्षता में गठित टीम ने राज्य विश्व विद्यालय के अस्थाई कार्यालय के संचालन डीएवी पीजी कालेज के पुस्तकालय भवन के दो हाल, बरामदा, स्टाफ रूम, पुस्तकालय का प्रथम तल, पुराना हाल का चयन किया था। चयनित भाग का क्षेत्रफल करीब 10 हजार वर्ग फीट है। इसकी रिपोर्ट शासन को प्रेषित की जा चुकी है।

जल्द हो सकती है पदों पर तैनाती

शासन की तरफ से कुलपति, कुल सचिव, लेखाधिकारी आदि पदों के लिए अधिसूचना पूर्व में ही जारी की जा चुकी है। कुलपति की नियुक्ति के बाद ही अन्य पदों पर भी तैनाती की संभावना जताई जा रही है।

क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी

उच्च शिक्षा विभाग से जारी अधिसूचना के बाद आजमगढ़ राज्य विश्वविद्यालय अस्तित्व में आ गया है। जब तक विश्वविद्यालय का अपना भवन नहीं बन जाता तब तक के लिए डीएवी पीजी कालेज में संचालन के लिए डीएम की अध्यक्षता में गठित टीम ने रिपोर्ट पहले की भेज दी है। कुलपति की नियुक्ति का निर्णय शासन स्तर से लिया जाना है। इस बीच संचालन के लिए पूर्वांचल विश्वविद्यालय के अन्य अधिकारी अपना समय निर्धारित करेंगे। -डा. ज्ञान प्रकाश वर्मा, क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी, वाराणसी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.