बलिया में काेरोना जांच व पीड़ितों को दवा देने पहुंची चिकित्सीय टीम पर हमला, 60 पर एफआइआर और दो गिरफ्तार

काेरोना जांच व पीड़ितों को दवा देने पहुंची चिकित्सीय टीम पर हमला, 60 पर एफआइआर और दो गिरफ्तार

प्रभारी निरीक्षक राजीव कुमार मिश्र ने बताया कि चिकित्साधिकारी डा. अमित कुमार गौतम की तहरीर पर कोरोना संक्रमित घनश्याम को नामजद किया गया है। सोमवार को स्वास्थ्य केंद्रों पर वैक्सीन पहुंची तो चिकित्सकों व कर्मचारियों पर हुए हमले के कारण कार्य बहिष्कार कर दिया गया।

Saurabh ChakravartyMon, 19 Apr 2021 04:34 PM (IST)

बलिया, जेएनएन। बैरिया क्षेत्र के मधुबनी गांव के पासवान चौक पर काेरोना जांच व पीड़ितों को दवाएं देने पहुंची चिकित्सीय टीम पर हमला करने वालों पर पुलिस ने मुकदमा कायम कर लिया है। इसमें एक नामजद भी किया गया है। पुलिस ने दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस आरोपितों की तलाश में जुट गई है।

प्रभारी निरीक्षक राजीव कुमार मिश्र ने बताया कि चिकित्साधिकारी डा. अमित कुमार गौतम की तहरीर पर कोरोना संक्रमित घनश्याम को नामजद किया गया है। 60 अज्ञात पर मामला दर्ज किया गया है। बताया कि पासवान चौक निवासी जितेंद्र पुत्र कुंजबिहारी को उनके घर और उपेन्द्र पुत्र भूखल राम को सुरेमनपुर रेलवे स्टेशन के पास से गिरफ्तार किया गया है। यह ताप्ती गंगा एक्सप्रेस से भागने के फिराक में थे। इधर मारपीट में घायल डा. नीरज कुमार सिंह को इलाज के लिए चिकित्सकों ने वाराणसी रेफर कर दिया है। बता दे कि डा. अमित गौतम ने तहरीर में आरोप लगाया है कि मधुबनी पासवान चौक में घनश्याम का कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आया था। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र कोटवां के चिकित्सीय टीम ट्रेस करने, कोरोना संक्रमित को दवा देने व संपर्क में आये लोगों का कोरोना जांच करने गई थी। घनश्याम के परिजनों व आस पास के 50-60 लोगो ने लाठी-डंडे से मारने-पीटने लगे, जिसमें दो चिकित्सक व एक चालक को चोटें आई हैं। एसएचओ ने बताया कि मुकदमा पंजीकृत कर दो की गिरफ्तारी की गई है।

स्वास्थ्य टीम पर हमले के खिलाफ टीकाकरण बंद

चार दिनों से वैक्सीन के अभाव में कोरोना का टीकाकरण नहीं हो पाया था। सोमवार को स्वास्थ्य केंद्रों पर वैक्सीन पहुंची तो चिकित्सकों व कर्मचारियों पर हुए हमले के कारण कार्य बहिष्कार कर दिया गया। इसके कारण कोरोना टीकाकरण व जांच ठप रहा।

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के पदाधिकारियों ने जिलाधिकारी को पत्रक सौंपा

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के पदाधिकारियों ने सोमवार को जिलाधिकारी को पत्रक सौंपा। स्वास्थ्य केंद्र कोटवा बैरिया की कोविड सर्च टीम पर संक्रमित मरीजों के परिजनों द्वारा जानलेवा हमला किये जाने पर विरोध जताया गया। मुख्य चिकित्साधिकारी के अधीन कार्यरत चिकित्सा कर्मियों का मार्च का लंबित वेतन भुगतान की मांग उठाई गई है। संगठन कर्मचारी हित में संगठनात्मक कार्यवाही करने हेतु बाध्य होगा।

3053 केस अभी भी हैं सक्रिय, 92 हुए स्वस्थ

जिले में सोमवार को 754 कोरोना संक्रमित मिले। वहीं दो संक्रमितों की मौत भी हो गई और दो लोग अस्पताल से डिस्चार्ज किए गए। इसके इतर होम आइसोलेशन में रह रहे 90 लोग भी स्वस्थ हो चुके हैं। अब कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 8925 और कोरोना से मरने वालों की संख्या 108 पहुंच गई है। इसमें से 3053 केस सक्रिय हैं। एसीएमओ डा. प्रगति कुमार ने बताया कि सोमवार को 2789 लोगों की जांच हुई। अब तक कुल 362030 लोगों की जांच हो चुकी है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.