74th Independence Day 2020 : वाराणसी में शान से लहराया तिरंगा, दौड़ पड़ी उल्‍लास की लहर

74th Independence Day 2020 : वाराणसी में शान से लहराया तिरंगा, दौड़ पड़ी उल्‍लास की लहर

Independence Day 2020 कलेक्ट्रेट सहित अन्य सरकारी दफ्तरों पर शारीरिक दूरी के नियमों का पालन करते हुए ध्वजारोहण किया गया।

Publish Date:Sat, 15 Aug 2020 11:55 AM (IST) Author: Saurabh Chakravarty

वाराणसी,जेएनएन। 74वें स्वतंत्रता दिवस समारोह का आयोजन शनिवार को जनपद में हुआ। ध्वजारोहण के साथ परेड द्वारा सलामी एवं राष्ट्रगान से हुआ। इस अवसर पर स्वतंत्रता संग्राम के सेनानियों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए वक्‍ताओं ने कहा कि स्‍वतंत्रता संग्राम के महान सेनानियों के लम्‍बे संघर्ष एवं बलिदानों के फलस्‍वरूप हमारे देश ने आजादी प्राप्‍त की। कोरोनावायर ससंक्रमण के कारण आयोजन के वक्‍त शारीरिक दूरी और अन्‍य गाइड लाइन का पालन लोगों ने किया।

स्वतंत्रता दिवस का पर्व कोरोना से बचाव व नियमों के पालन के साथ उत्साह, उमंग व राष्ट्रीय भावना से मनाया गया। सरकारी, अर्द्ध सरकारी व अन्य भवनों पर राष्ट्रीय ध्वजारोहण हुआ। भवनों को 14/15 की रात्रि में विद्युत झालरों से प्रकाशमान किया गया। कोविड से बचाव को अपनाते हुए कार्यक्रम हुए। कमिश्नर दीपक अग्रवाल की पहल पर कोरोना योद्धा नर्स अनुराधा राय ने कमिश्नरी में स्वतंत्रता दिवस पर ध्वजारोहण किया। कमिश्नर ने उन्हें प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। ध्वजारोहण कर सम्मान से अभिभूत अनुराधा राय ने कमिश्नर का धन्यवाद करते हुए इससे कोरोना योद्धाओं में और उत्साह, उमंग व ऊर्जा पैदा हो जाने की बात कहीं। कमिश्नर ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर अपने संबोधन में कहा कि देश का हर नागरिक राष्ट्र निर्माण में स्तंभ है। स्वतंत्रता के अमर शहीदों का इतिहास हमें त्याग और बलिदान की सीख देता है। उन्होंने कहा कि वर्तमान विषम परिस्थितियों, कोरोना महामारी में बचाव व इलाज में लगे योद्धा सम्मान व आदर के योग्य हैं। देश में हर विषम परिस्थिति, चाहे वह गुलामी का समय रहा हो या आज वैश्विक महामारी का समय, भारतीय लोगों का चरित्र राष्ट्र के निर्माण व मजबूती के लिए दृढ़ता से उजागर हुआ है और पूरे विश्व को भारतीय एकता व स्वावलंबन का संदेश दिया है। गुलामी के दौर में स्वतंत्रता एक चुनौती थी महान देशभक्तों ने हासिल किया। आज एक वायरस दुनिया के लिए चुनौती बना है। इससे लोगों के जीवन को बचाने में लगे डॉक्टर, पैरामेडिकल, नर्स आदि योद्धाओं के जज्बे को सलाम है। हम सभी इस से सबक लें। सेवा भाव से कार्य करें। कोरोना पर विजय पाना है देश को मजबूत बनाना है।

ध्वजारोहण के बाद कमिश्नर, नर्स अनुराधा राय सहित विभिन्न प्रशासनिक अधिकारियों ने कमिश्नरी गार्डन में वृक्षारोपण किया। कार्यक्रम का संचालन एनआईसी के आर वी सिंह ने किया। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने कलेक्ट्रेट में स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर ध्वजारोहण किया। इस अवसर पर अपने संदेश में उन्होंने कहा कि यह स्वतंत्रता दिवस हमारे पूर्वजों ने कैसे बलिदान देकर देश को आजाद कराया, अब हमारी जिम्मेदारी है कि हम इसे बढ़ाते हुए सबसे आगे लेकर जाएं और आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ते हुए देश में कोरोना वायरस  महामारी से लोगों को बचाने के साथ-साथ खुद भी इससे बचें। सोशल डिस्टेंसिंग तथा मास्क आदि का प्रयोग करें। उन्होंने आशा व्यक्त की कि हम जल्दी से जल्दी इस महामारी को हराते हुए आर्थिक और सामाजिक गतिविधियों की तरफ कदम आगे बढ़ायें। इसी के साथ-साथ जनपद में विकास कार्यों को गति देते हुए पिछले कुछ महीनों में जो पीछे रह गये हैं उसे हासिल करें। उन्होंने सभी के सुरक्षित रहने की मंगल कामना करते हुए जनपद वासियों को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं दीं।

डीरेका में 74 वा स्वतंत्रता दिवस समारोह सम्पन्न

डीजल रेल इंजन कारखाना प्रशासनिक भवन के प्रांगण में 74वां स्वतंत्रता दिवस समारोह शनिवार को सम्पन्न हुआ।कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि एस.के.कश्‍यप, प्रमुख मुख्‍य विद्युत इंजीनियर द्वारा ध्वजारोहण के साथ परेड द्वारा सलामी एवं राष्ट्रगान से हुआ। तत्पश्चात रेलवे सुरक्षा बल, सेंट जॉन्स एम्बुलेंस ब्रिगेड एवं नागरिक सुरक्षा दल के इकाईयों के परेड का निरीक्षण किया। इस अवसर पर स्वतंत्रता संग्राम के सेनानियों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि स्‍वतंत्रता संग्राम के महान सेनानियों के लम्‍बे संघर्ष एवं बलिदानों के फलस्‍वरूप हमारे देश ने आजादी प्राप्‍त की । इतना ही नहीं, आजादी के उपरान्‍त भी उन्‍होंने अपने व्‍यक्तित्‍व एवं कृतित्‍व से समाज को एक नयी दिशा दी, जिसके फलस्‍वरूप एक स्‍वतंत्र, संप्रभु एवं सशक्‍त भारत का निर्माण संभव हो सका। उन्‍होंने उपस्थित अधिकारियों एवं कर्मचारियों को संकल्‍प दिलाते हुए कहा कि हम अपने कार्यों को पूरे मनोयोग, परिश्रम एवं ईमानदारी से करते हुए राष्‍ट्र के निर्माण में अपना सम्‍पूर्ण योगदान देंगे और देश, भारतीय रेल एवं डीरेका की खुशहाली एवं विकास के लिए प्रयासरत रहेंगे । यही हमारी उन महानायकों के प्रति सच्‍ची श्रद्धांजलि होगी । इसी क्रम में एस के कश्‍यप ने डीरेका की उपलब्धियों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि अतीत के शानदार परम्‍पराओं का अनुसरण करते हुए डीरेका ने विगत वित्‍तीय वर्ष 2019-20 में 272 विद्युत रेल इंजनों सहित कुल 310 रेल इंजनों का निर्माण किया है । जनहित में भारत सरकार द्वारा घोषित लॉकडाउन के कारण वर्तमान वित्‍तीय वर्ष में सम्‍पूर्ण देश के साथ डीरेका का भी उत्‍पादन प्रभावित हुआ है । वर्तमान वित्‍तीय वर्ष 2020-21 के जुलाई माह तक डीरेका ने 59 विद्युत रेल इंजनों का निर्माण किया है। हर्ष का विषय है कि लॉकडाउन के दौरान जिला प्रशासन से प्राप्‍त आवश्‍यक दिशा-निर्देशों के अनुरूप कारखाना में दिनांक 9 मई से उत्‍पादन कार्य प्रारम्‍भ होने के मात्र एक सप्‍ताह (दिनांक 16 मई) में डीरेका के कर्मठ कामगारों ने वित्‍तीय वर्ष का पहला रेल इंजन राष्‍ट्र को समर्पित कर दिया था । साथ ही साथ डीरेका ने जुलाई महीने में 31 विद्युत रेल इंजनों का निर्माण कर नया कीर्तिमान स्‍थापित किया है। इसके अतिरिक्‍त डीरेका ने मार्च माह में प्रथम प्रोटोटाइप डुअल मोड रेल इंजन का निर्माण कर उसका ट्रायल प्रारम्‍भ कर दिया है, जो वास्‍तव में डीरेका के लिए गौरव का क्षण है । यह इंजन विद्युत एवं डीजल दोनों से चल सकता है । साथ ही, वित्तीय वर्ष 2020-21 में डीरेका को 6 डीजल रेल इंजन मोज़ाम्बिक के लिये बनाने हैं, जिसके लिए डिज़ाइन का कार्य पूरा किया जा चुका है । विपणन के क्षेत्र में डीरेका की उपलब्धियों पर चर्चा करते हुए एस के कश्‍यप ने कहा कि विपणन के क्षेत्र में भी डीरेका निरंतर नई ऊंचाईयों की ओर अग्रसर हो रहा है । वित्‍तीय वर्ष 2019-20 में श्रीलंका को 3000 HP के 07 रेल इंजन सहित कुल 26 रेल इंजनों एवं अतिरिक्‍त पूर्जों की आपूर्ति/निर्यात विभिन्‍न देशों एवं गैर रेलवे ग्राहकों को किया गया है, जिससे वित्‍तीय वर्ष 2019-20 में डीरेका को कुल ` 306.81 करोड़ मूल्‍य का राजस्‍व प्राप्‍त हुआ है । इसके अलावा डीरेका में चल रहे भविष्‍य की परियोजनाएं, ऊर्जा बचत, विविध सुविधाएं, पर्यावरण संरक्षण, खेलकूद गतिविधियां इत्‍यादि उपलब्धियों पर भी प्रकाश डाला। इतना ही नहीं, उन्‍होंने कोविड-19 के दौरान डीरेका के प्रत्‍येक कोरोना योद्धाओं जैसे-चिकित्‍सक, नर्स, सफाईकर्मी, सुरक्षाकर्मी एवं इनसे जुड़े समस्‍त स्‍वयंसेवी संस्‍थाओं व व्‍यक्तियों का आभार व्‍यक्‍त किया, जिन्‍होंने विपरीत परिस्तिथियों में भी अपने स्वास्‍थ्‍य की चिंता किये बिना देशवासियों की सेवा में लगे हुए हैं । कार्यक्रम में डीरेका के समस्‍त कोरोना योद्धाएं जैसे-चिकित्‍सक, नर्स, सफाईकर्मी, सुरक्षाकर्मी इत्‍यादि ने विशिष्‍ट अतिथि के रूप में हिस्‍सा लिया । इस अवसर पर मुख्‍य अतिथि एस के कश्‍यप ने सभी कोरोना योद्धाओं से मुलाकात कर उनका उत्‍साहवर्धन किया । सम्‍पूर्ण कार्यक्रम का सुरूचिपूर्ण संचालन अमलेश श्रीवास्‍तव एवं आलोक पाण्‍डेय ने किया । कोविड-19 के कारण डीरेका के अधिकारिक यू-ट्यूब चैनल द्वारा सम्‍पूर्ण समारोह का स‍जीव प्रसारण किया गया। जिसका आनन्‍द घर बैठे सभी डीरेका परिवार एवं जनमानस ने भी लिया ।

बीएचयू के हर विभाग में हुआ ध्वजारोहण, कुलपति ने मालवीय भवन और एंफीथियेटर में फहराया झंडा

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर कुलपति प्रो. राकेश भटनागर ने एंफीथियेटर मैदान और मालवीय भवन में ध्वजारोहण किया। वहीं इसके बाद से सभी विभागों के अध्यक्ष ने विभाग के बाहर झंडारोहण कर 15 अगस्त का उत्सव मनाया। विश्वविद्यालय में छात्रावास के सभी वार्डेन मिलकर बिरला छात्रावास के प्रांगण में ध्वजारोहण किये और छात्रों में मिठाइयां बांटी गईं। इस बीच विश्वविद्यालय में पांच महीने बाद हर विभाग में लोगों की चहल पहल दिखी, जो किसी उत्सव की तरह लग रहा था।  कृषि विज्ञान संस्थान में निदेशक प्रो. रमेश चंद ने ध्वजारोहण कर लोगों को स्वतंत्रता आंदोलन के उद्देश्यों से रूबरू कराया। इस दौरान संस्थान में 50 से ज्यादा  अध्यापक और स्टाफ मौजूद रहे।

स्कूल में झंडारोहण, शिक्षकों को किया सम्मानित

रोटरी क्लब वाराणसी डाउनटाउन की ओर से शनिवार को  महमूरगंज स्थित प्राथमिक विद्यालय में  स्वतंत्रा दिवस के अवसर पर झंडारोहण किया गया। मुख्य अतिथि बेसिक शिक्षा अधिकारी राकेश सिंह व  विशिष्ट अतिथि सह मंडला अध्यक्ष मनीष अग्रवाल थे। इस अवसर पर विद्यालय में उपस्थित 10 शिक्षकों को   समानित किया गया।

विद्यालय में मिठाई एवं मास्क का वितरण भी किया गया।  रोटरी क्लब वाराणसी डाउन टाउन के अध्यक्ष संदीप गुप्ता, सचिव कौशल नगर, हेमंत अग्रवाल, अनुज भार्गव, समीर बर्मन, प्यारे अग्रवाल,प्रबोध मेहरा,घनश्याम गुजराती, संदीप अग्रवाल, अंशुमन सरकार आदि मौजूद थे।

 ग्रामीण अंचल में आजादी का जश्न मना, लहराया तिरंगा

 ग्रामीण अंचल में 74वां स्वतंत्रतता दिवस शनिवार को कोरोना संक्रमण के चलते सादगी पूर्ण माहौल में मना, चहुंओर आजादी के जश्न की धूम रही। मिर्जामुराद के खजुरी स्थित अपना दल (एस) व सेवापुरी विधानसभा कार्यालय पर विधायक नीलरतन पटेल 'नीलू', किसान इंटर कालेज में प्राचार्य शिवराज मिश्र, वी.बी.एस.मेमोरियल आईटीआई में सविता सिंह, यशपाल आईवी लीग स्कूल में कोआर्डिनेटर अमृता सिंह, जीवा इंटरनेशनल स्कूल में विनोद तिवारी, एस.एन.एस.स्कूल में प्रबंधक प्रवीण सिंह गौतम, शिवचरण स्मारक इंटरमीडिएट कालेज में प्रबंधक संजय सिंह व प्राचार्य सोनी, पंचायत भवन पर प्रधान प्रतिनिधि नारायण प्रताप सिंह, थाना परिसर में प्रभारी निरीक्षक सुनीलदत्त दुबे, लोकसमिति आश्रम स्थित आशा सामाजिक विद्यालय में नन्दलाल मास्टर ने झंडारोहण किया।नन्दलाल ने बच्चो को मास्क भी वितरित कराया।

34 वी वाहिनी पीएसी भुल्लनपुर में स्वतंत्रता दिवस समारोह हुआ सम्पन्न

वाराणसी।74 में स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर 34 वीं वाहिनी पीएसी भुल्लनपुर वाराणसी में राजीव नारायण मिश्र सेनानायक 34 वीं वाहिनी पीएसी भुल्लनपुर, वाराणसी द्वारा ध्वजारोहण किया गया एवं  समस्त जवानों एवं अधिकारीगण को भारत के राष्ट्रध्वज, राष्ट्रगान एवं स्वतंत्रता दिवस के बारे में अपने विचार उपस्थित अधिकारी एवं जवानों के साथ व्यक्त किया गया। इसके साथ ही प्रधानमंत्री भारत सरकार कि स्वच्छता मिशन कार्यक्रम के अंतर्गत विशेष स्वच्छता रखने हेतु एवं इसके लाभों के बारे में बताया गया। साथ ही वाहिनी में नियुक्त कुल 03 अधिकारी एवं कर्मचारियों को विभिन्न प्रकार के पदकों की उद्घोषणा करते हुए पदक पहनाया गया । इस पावन पर्व की पूर्व संध्या पर वाहिनी के समस्त सरकारी भवनों को प्रकाश से प्रकाशित करके सजाया गया। उक्त कार्यक्रम के पश्चात मिष्ठान वितरण किया गया उपरोक्त समस्त कार्यक्रमों में कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए विशेष सतर्कता एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया गया

इस अवसर पर वाहिनी के अभिषेक यादव, शिविर पाल रजनीकांत ओझा एवं वाहिनी के समस्त अधिकारीगण व समस्त जवानों के साथ पुलिस मॉडर्न  स्कूल शिक्षक तथा वाहिनी चिकित्सालय के चिकित्सक स्टाफ उपस्थित रहे।

शैक्षिक संस्थानों में भी पूरे आन, बान और शान से  तिरंगा लहराया

कोविड-19 के प्रकोप के बावजूद शैक्षिक संस्थानों में भी पूरे आन, बान और शान से  तिरंगा लहराया। इस दौरान राष्ट्रगान हुआ और एनसीसी के कैडेटो ने झंडे को सलामी दी । हालांकि इस मौके पर विद्यार्थियों को स्कूल कालेजों में नहीं बुलाया गया था I अध्यापकों व कर्मचारियों की उपस्थिति काफी कम रही । इसके बावजूद उत्साह में कोई कमी नहीं रहीं। महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के कुलपति प्रो. टीएन सिंह ने परिसर स्थित पंत प्रशासनिक भवन में सुबह नौ बजे ध्वजारोहण किया।वही संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय के ऐतिहासिक मुख्य भवन के सामने कुलपति प्रो. राजाराम शुक्ल ने ध्वजारोहण किया । इस मौके पर कुलपति ने उत्कृष्ट कार्य करने वाले प्रो. राम किशोर त्रिपाठी, पं. सुनील कुमार चौधरी, विष्णु कुमार को सम्मानित किया । उधर यूपी बोर्ड के क्षेत्रीय बोर्ड कार्यालय पर क्षेत्रीय अपर सचिव सतीश सिंह, डीडीआर दफ्तर पर ओंकार शुक्ल, जेडी अजय कुमार शुक्ल, डीआइओएस  डा. डा वीपी सिंह एड-बेसिक प्रवीण कुमार उपाध्याय , बीएसए राकेश सिंह ने  भी दफ्तरों पर तिरंगा फहराया। इसी प्रकार राजकीय, अशासकीय सहायता प्राप्त, निजी , कान्वेंट, मिशनरी स्कूलों में भी पूरे उल्लास के साथ झंडा फहराया गया ।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.