दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

प्रयागराज में खुलेगा प्रदेश का छठवां हस्त शिल्प सेवा केंद्र, तान्या बनर्जी होंगी प्रभारी

प्रदेश का छठवां हस्त शिल्प सेवा केंद्र प्रयागराज में खुलने जा रहा है।

वस्त्र मंत्रालय प्रयागराज क्षेत्र क्षेत्र हस्तशिल्पियों को बहुत बड़ी सहूलियत प्रदान करने जा रहा है। जल्द ही प्रदेश का छठवां हस्त शिल्प सेवा केंद्र प्रयागराज में खुलने जा रहा है जिसकी तान्या बनर्जी प्रभारी होंगी। इसके लिए सिविल लाइन में एक भवन का भी चयन कर लिया गया है।

Abhishek SharmaFri, 02 Apr 2021 08:44 AM (IST)

वाराणसी [मुकेश चंद्र श्रीवास्तव]। वस्त्र मंत्रालय प्रयागराज क्षेत्र क्षेत्र हस्तशिल्पियों को बहुत बड़ी सहूलियत प्रदान करने जा रहा है। जल्द ही प्रदेश का छठवां हस्त शिल्प सेवा केंद्र प्रयागराज में खुलने जा रहा है। इसके लिए सिविल लाइन में एक भवन का भी चयन कर लिया गया है। इससे काशी का भार कुछ कम होगा। कारण कि वाराणसी से जुड़े 28 जिलों में से ही नौ जिले कटकर प्रयागराज में शामिल होंगे। नया केंद्र बनने के बाद प्रयागराज, प्रतापगढ़, फतेहपुर, कौशांबी, महोबा, बांदा, जालौन, हमीरपुर व चित्रकूट के हस्तशिल्पियों को शिल्पी कार्ड बनवाने या अन्य कार्य के लिए वाराणसी आने की जरूरत नहीं पड़ेगी। 

वैसे प्रदेश में फिलहाल वाराणसी, लखनऊ, सहारनपुर, बरेली व आगरा में सेवा केंद्र हैं। नया सेवा केंद्र खुलने से वाराणसी का भार कम तो होगा ही साथ ही प्रयागराज क्षेत्र के लोगों को राहत मिलेगी। कार्य सुचारू हो सकेगा। नियमित रूप से निगरानी भी हो सकेगी। बांदा, चित्रकूट सहित अन्य दूर-दराज क्षेत्र के शिल्पियों को उनके ही क्षेत्र में सरकारी सुविधाओं का लाभ मिल सकेगा। मालूम हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कई बार काशी एवं आसपास में बनने वाले लकड़ी के खिलौने, गुलाबी मीनाकारी आदि की सराहना राष्ट्रीय मंचों पर कर चुके हैं। इसका असर भी दिख रहा है। यहां के शिल्पियों का महत्व कुछ वर्षों में बढ़ा है और यहां के उत्पादों की मांग भी बढ़ी है। ऐसे में नया शिल्प सेवा केंद्र बनने से चित्रकूट क्षेत्र के शिल्पियों का भी महत्व बढ़ेगा। 

वाराणसी केंद्र, यह रह जाएंगे जिले 

वाराणसी, जौनपुर, भदोही, चंदौली, सोनभद्र, मीरजापुर, गाजीपुर, बलिया, आजमगढ़, मऊ, गोरखपुर, देवरिया, महाराजगंज, कुशीनगर, सिद्धार्थ नगर, बस्ती, संत कबीर नगर, गोंडा व बलरामपुर। 

बोले अधिकारी

फिलहाल वाराणसी शिल्प सेवा केंद्र से 28 जिले जुड़े हैं। इसमें से नौ जिले कट कर प्रयागराज में खुलने वाले नए केंद्र से जुड़ेंगे। वहां की प्रभारी की देखरेख में सारी प्रक्रिया लगभग पूरी कर ली गई है। - अब्दुल्लाह, सहायक निदेशक, हस्त शिल्प सेवा केंद्र, वाराणसी (वस्त्र मंत्रालय) 

प्रयागराज में नया केंद्र खोलने के लिए सिविल लाइन स्थित बीएसएनएल कार्यालय में स्थल का चयन किया गया है। हैंड ओवर की तैयारी चल रही है। भवन मिलते ही केंद्र शुरू कर दिया जाएगा। - तान्या बनर्जी, सहायक निदेशक एवं प्रभारी, हस्त शिल्प सेवा केंद्र, प्रयागराज (वस्त्र मंत्रालय) 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.