चंदौली जिले के अस्‍पताल स्टोर में 340 वायल मौजूद, अस्पतालों से नदारद एंटी स्नेक वेनम

बरसात के मौसम में सर्पदंश की घटनाएं बढ़ जाती हैं। स्टोर में 340 वायल एंटी स्नेक वेनम उपलब्ध होने के बावजूद दूर-दराज के कई अस्पतालों में नदारद है। ऐसे में यदि सांप ने काट लिया तो लोगों को भागकर जिला अस्पताल अथवा चकिया स्थित जिला संयुक्त चिकित्सालय जाना होगा।

Abhishek SharmaTue, 13 Jul 2021 07:49 PM (IST)
स्टोर में 340 वायल एंटी स्नेक वेनम उपलब्ध होने के बावजूद दूर-दराज के कई अस्पतालों में नदारद है।

जागरण संवाददाता, चंदौली। बरसात के मौसम में सर्पदंश की घटनाएं बढ़ जाती हैं। हालांकि जिले के स्टोर में 340 वायल एंटी स्नेक वेनम उपलब्ध होने के बावजूद दूर-दराज के कई अस्पतालों में नदारद है। ऐसे में यदि विषधर के डंसने से लोगों को भागकर जिला अस्पताल अथवा चकिया स्थित जिला संयुक्त चिकित्सालय जाना होगा। इसमें जितना विलंब होगा, खतरा उतना ही बढ़ जाएगा।

बारिश के दौरान सांप बिल से बाहर निकलते हैं। इस दौरान सर्पदंश की घटनाएं खूब होती हैं। गांव-गिरांव में सांपों के कारण दहशत बनी रहती है। इन घटनाओं को लेकर लोगों में जागरूकता बढ़ी है। झाड़-फूंक कराने की बजाए अब अस्पताल जाते हैं। लेकिन अस्पतालों में एंटी स्नेक वेनम पर्याप्त मात्रा में मौजूद नहीं है, जबकि सीएमओ कार्यालय का स्टोर भरा पड़ा है।

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नियामताबाद में सिर्फ 15 वायल, चहनियां में दो, चकिया जिला संयुक्त चिकित्सालय में 62 वायल व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में 40 वायल, सकलडीहा सीएचसी में 30, नौगढ़ में 70 वायल और शहाबगंज में पांच वायल एंटी स्नेक वेनम फिलहाल उपलब्ध है। इलिया पीएचसी में एंटी स्नेक वेनम मौजूद नहीं है। यहां इंजेक्शन रखने के लिए फ्रीजर ही नहीं है। ऐसे में यदि दवा मंगाई भी गई तो खराब हो जाएगी। सांप काटने पर एक व्यक्ति को 10 डोज लगानी पड़ती है। ऐसे में यदि पर्याप्त स्टाक नहीं रहा तो दिक्कत हो सकती है। एक दिन में अस्पताल में सांप काटने के कई मरीज पहुंच गए तो उनका इलाज करना मुश्किल होगा।

इंजेक्शन की दिसंबर माह तक है एक्सपायरी : स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के अनुसार जिले में जो एंटी स्नेक वेनम मौजूद है, उसकी एक्सपायरी दिसंबर तक ही है। इससे पहले ही इसका इस्तेमाल करना होगा। इसके बाद इंजेक्शन का प्रयोग नहीं किया जा सकता है। ऐसे में अधिकारियों ने प्रभारी चिकित्साधिकारियों से अपेक्षा की है कि वे जरूरत के मुताबिक इंजेक्शन स्टोर से प्राप्त कर लें।

सर्पदंश से मौत पर मिलेगा चार लाख : प्रदेश सरकार ने सर्पदंश से मौत को भी प्राकृतिक आपदा मान लिया है। ऐसे में यदि सांप काटने से किसी की मौत हुई तो उसे चार लाख रुपये मुआवजा मिलेगा। राजस्व विभाग की ओर से इसका सत्यापन कराया जाएगा। इसके बाद मृतक के आश्रितों को आर्थिक सहायता मिलेगी। 

बोले चिकित्‍सा अधिकारी : जिले में एंटी स्नेक वेनम की कमी नहीं है। स्टोर में 340 वायल इंजेक्शन अभी मौजूद है। प्रभारी चिकित्साधिकारी जरूरत के मुताबिक ले जा सकते हैं। दिसंबर के बाद दवा एक्सपायर हो जाएगी। - डाक्टर वीपी द्विवेदी, सीएमओ।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.