25 हजार परिवारों ने शुरू की सवा पांच लाख श्री हनुमान चालीसा पाठ, काशी प्रान्त ने लिया संकल्प

वर्तमान में भी कोरोना महामारी के भयंकर प्रकोप से लोग त्राहिमाम...त्राहिमाम कर रहे है।

सतयुग द्वापर और त्रेता युग में जब असुरदल का प्रकोप अपने चरम पर पहुंच जाता था तब त्राहिमाम...त्राहिमाम करती असहाय जनता देवी-देवताओं के शरण में पहुंचकर उनसे समस्या के निवारण की विनती करती थी। वर्तमान में भी कोरोना महामारी के भयंकर प्रकोप से लोग त्राहिमाम...त्राहिमाम कर रहे है।

Abhishek SharmaTue, 18 May 2021 10:06 AM (IST)

वाराणसी, जेएनएन। सतयुग, द्वापर और त्रेता युग में जब असुरदल का प्रकोप अपने चरम पर पहुंच जाता था, तब त्राहिमाम...त्राहिमाम करती असहाय जनता देवी-देवताओं के शरण में पहुंचकर उनसे समस्या के निवारण की विनती करती थी। वर्तमान में भी कोरोना महामारी के भयंकर प्रकोप से लोग त्राहिमाम...त्राहिमाम कर रहे है। इसको देखते हुए काशी प्रांत के लोगों ने सवा पांच लाख श्री हनुमान चालीसा पाठ का जप कर संकट मोचक श्री हनुमान  से मानव समाज कि रक्षा के लिए प्रर्थना करने का संकल्प लिया है।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कुटुम्ब प्रबोधन गतिविधि, काशी प्रांत की ओर आयोजित यह अनुष्ठान मंगलवार को सुबह 8.30 बजे प्रारंभ हो गया है। काशी प्रांत की जनता के साथ देश के प्रतिष्ठित लोगों का भरपूर समर्थन मिल रहा है। अनुमानित 25 हजार परिवार अनुष्ठान से जुड़े हैं।

काशी प्रांत कुटुम्ब प्रबोधन के प्रांत संयोजक डॉ. शुकदेव त्रिपाठी ने बताया कि 18 मई मंगलवार को सुबह 8.30 से रात 09.30 बजे तक चलने वाले इस अनुष्ठान से अब तक प्रांत के सभी जिलों से 25 हजार से अधिक परिवार जुड़ चुके हैं। उन्होंने कहा कि इस संकल्पित कार्यक्रम का काशी प्रांत से ही नहीं वरन पूरे उत्तर प्रदेश समेत आसपास के अन्य राज्यों से भी समर्थन मिल रहे हैं। उन्होंने कहा कि अध्यात्म, कला, उद्योग समेत विभिन्न क्षेत्रों से जुड़े देश के प्रतिष्ठित लोग इस अनुष्ठान को पूर्ण करने का आमजनमानस से आह्वान भी कर रहे है। डॉ. त्रिपाठी ने बताया कि विश्व के सबसे बड़े इस अनुष्ठान सम्मिलित होने वाले लोगों को सर्वप्रथम पांच बार “श्रीराम जय राम जय जय राम” महामंत्र का जाप कर 11 बार श्री हनुमान चालीसा का पाठ करना है।

इसके पश्चात् पुनः पांच बार “श्रीराम जय राम जय जय राम” का जप कर श्री हनुमान महाराज से मानव समाज की रक्षा के लिए प्रार्थना करना है। उन्होंने बताया कि यदि परिवार में पांच सदस्य हैं तो प्रत्येक सदस्य को 11 बार यह पाठ करना है। इस प्रकार यह पाठ संख्या एक परिवार से 55 पाठ माना जाएगा। इस बहुप्रतीक्षित अनुष्ठान को मिल रहे जबरदस्त समर्थन के साथ अखिल भारतीय संत समाज के महामंत्री स्वामी जितेन्द्रानन्द और प्रख्यात भजन गायिका पद्मश्री अनुराधा पौडवाल जैसे देश के प्रतिष्ठित और सुप्रसिद्ध लोगों द्वारा इसे पूर्ण कराने का आह्वान भी किया जा रहा है। वे खुद भी पाठ कर रहे हैं।

इसके साथ ही जगतगुरु स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती, कैवल्य दास, संत ब्रज चैतन्य महाराज, निरंजनी अखाड़ा तेलंगाना, गायत्री संत सिद्धेश्ररानंद महाराज, जगतगुरु स्वामी रामकमल दास वेदांती, स्वामी शंकरानन्द महराज गुंटूर, प्रो पीके मिश्रा, उपकुलपति तकनीकी विश्वविद्यालय रांची, सुविख्यात समाजसेवी उद्योगपति दयाशंकर मिश्र,  आईआईए के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष आरके चौधरी,सुविख्यात समाज सेविका मोहिनी झंवर, महानगर उद्योग व्यापार समिति अध्यक्ष प्रेम मिश्रा, जगतगुरु दांडी स्वामी अनंतानंद सरस्वती महाराज, कथावाचक शान्तनु महाराज, डॉ. श्रीकांत मिश्र अर्चक श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर, जग्जीतन महाराज महामंत्री अखिल भारतीय धर्म संघ,  केशव जालान चेयरमैन जालान्स ग्रुप, रामनगर गुरुद्वारा प्रबन्धक कमेटी अध्यक्ष रविन्द्र सिंह ने इस अनुष्ठान का समर्थन करते हुए पाठ शुरू किया है।

कैलाश मठ में आयोजित है अनुष्ठान

इसी क्रम में महंत आशुतोषानन्द महाराज ने कैलाश मठ में भी यह कार्यक्रम आयोजित किया गया है जिसमें मठ परिवार के साथ अन्य लोग भी उपस्थित होकर यह अनुष्ठान पूरा कर रहे हैं।

आह्वान लिंक

1. पद्मश्री अनुराधा पोडवाल https://youtu.be/idG_svMM0ZU 

2. सन्त ब्रज चैतन्य जी महाराज जी https://fb.watch/5qtaV1_UTv/ 

3. स्वामी अनंतानंद सरस्वती जी महाराज https://youtu.be/D9wiG1PpLuU 

4. श्री जगजीतन जी महाराज https://youtu.be/JzHmtd_7xnM 

5. प्रो पी के मिश्रा, उपकुलपति https://youtu.be/T_TfybNoMwc

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.