जौनपुर में बैंकिंंग करेस्पांडेंट बनाने के लिए चयनित की गई 1737 महिलाएं, 750 की कराई जा चुकी है ट्रेनिंग

जौनपुर में ग्रामीण महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने की कड़ी में हर गांव में बैंकिंग करेस्पांडेंट (बीसी) सखी की नियुक्ति की जाएगी। इसकी प्रक्रिया को पूर्ण कर लिया गया है। जल्द ही महिलाओं को उनकी जिम्मेदारी सौंपी जाएगी।

Saurabh ChakravartySun, 11 Jul 2021 11:22 PM (IST)
गांव में रहने वाली महिलाएं होंगी आर्थिक रूप से सबल

जागरण संवाददाता, जौनपुर। ग्रामीण महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने की कड़ी में हर गांव में बैंकिंग करेस्पांडेंट (बीसी) सखी की नियुक्ति की जाएगी। इसकी प्रक्रिया को पूर्ण कर लिया गया है। जल्द ही महिलाओं को उनकी जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। गांव की जो महिलाएं कम पढ़ी-लिखी होने की वजह से बैंकिंग का कार्य सही तरीके से नहीं कर पाती। बीसी की जिम्मेदारी उनका खाता खुलवाने से लेकर जरूरत के समय पैसा निकालने तक की होगी। शासन की मंशा के तहत 1737 महिलाओं को इस कार्य के लिए चयनित कर लिया गया है। इनमें 750 की ट्रेनिंग भी करा दी गई है, शेष को भी प्रशिक्षित कर जल्द ही निपुण बनाया जाएगा।

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत शुरू किए गए इस कार्यक्रम का लाभ बड़ी संख्या में पढ़ी-लिखी महिलाओं को मिलेगा। बीसी सखी बैंकों के माध्यम से होने वाले लेन-देन पर भी आय अर्जित कर सकेंगी। ऐसा माना जा रहा है कि बैंकिंग करेस्पांडेंट के माध्यम से बैंकों में भीड़ कम करने और शारीरिक दूरी बनाए रखने में मदद मिलेगी।

दसवीं पास रखी गई थी योग्यता

इसके तहत आवेदन करने वाली महिलाओं के लिए कम से कम दसवीं पास योग्यता रखी गई थी। पारदर्शिता के लिहाज से पूरी प्रक्रिया आनलाइन की गई। आवेदकों ने गूगल प्ले स्टोर से यूपी बीसी सखी एप डाउनलोड कर आवेदन किया, जिसका चयन मुख्यालय स्तर पर किया गया।

महिलाओं को मजबूत बनाने का दिया गया मौका

प्रदेश सरकार की इस योजना का लाभ 1740 महिलाओं को मिलेगा। उन्हें प्रत्येक माह चार हजार रुपये भी दिया जाएगा। यहां कुल 1740 ग्राम पंचायतें हैं। बीएमएम गुलाब चंद्र ने बताया कि प्रत्येक गांव से एक महिला का चयन किया जाना है। बचे रह गए कुछ गांवों में भी इसे जल्द पूर्ण कर लिया जाएगा। बताया कि इस पहल से जहां ग्रामीणों को बैंकिंग संबंधित जानकारी आसानी से उपलब्ध हो सकेगी, वहीं बैंकिंग सेवाओं में भी काफी सुधार होगा।

सरकार की इस योजना से नारी सशक्तीकरण को बल मिलेगा

सरकार की इस योजना से नारी सशक्तीकरण को बल मिलेगा। बीसी सखी बैंकिंग सेवाओं को आसान बनाने में मददगार बनेंगी। इसके साथ ही उन्हें आर्थिक रूप से भी मजबूती मिलेगी।

-भूपेंद्र सिंह, उपायुक्त, एनआरएलएम।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.