दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

वाराणसी में भीख मांग रहा था 105 सदस्यों का कुनबा, मिला राशन और आजीविका का भरोसा

वाराणसी में कुछ परिवारों को राशन किट दिया गया।

कोरोना काल में 105 सदस्यों का 19 परिवार भीख मांगने पर मजबूर हो गया है। लहरतारा में फ्लाइओवर के नीचे ठौर जमाए यह परिवार सिगरा में फल मंडी के पास भीख मांग रहा था तभी नगर निगम के राजस्व अधीक्षक की नजर पड़ी तो पूछने पर सदस्यों ने आपबीती सुनाई।

Saurabh ChakravartyWed, 12 May 2021 07:10 AM (IST)

वाराणसी, जेएनएन। कोरोना काल में जहां बड़े व्यवसायी आर्थिक तंगी से गुजरने लगे हैं तो वहीं, सड़कों पर माला-फूल व पूजा की सामग्री बेचने वाले दाने-दाने को मोहताज हो गए हैं। ऐसा ही महाराष्ट्र का एक कुनबा श्रीकाशी विश्वनाथ धाम के पास माला-फूल बेचकर परिवार का भरण-पोषण करता था तो कोरोना काल में 105 सदस्यों का 19 परिवार भीख मांगने पर मजबूर हो गया है। लहरतारा में फ्लाइओवर के नीचे ठौर जमाए यह परिवार सिगरा में फल मंडी के पास भीख मांग रहा था तभी नगर निगम के राजस्व अधीक्षक की नजर पड़ी तो उनके पूछने पर सदस्यों ने आपबीती सुनाई।

सभी ग्राम लालगोटा, जिला जलगांव, प्रांत महाराष्ट्र के रहने वाले हैं। कुछ वर्ष पूर्व बनारस आए थे। कुल 19 परिवार हैं। जिसमें 105 सदस्य हैं। गोदौलिया दूध मंडी के पास माला-फूल की बिक्री कर परिवार का पेट भरते थे । कोरोना संक्रमण की वजह से जिला प्रशासन द्वारा सर्तकता को ध्यान में रखते हुए वहां से हटा दिया गया। हम लोग लहरतारा कैंसर हॉस्पिटल से पूर्व फ्लाईओवर के नीचे रह रहे है। नबर निगम की ओर से उन लोगों को आश्वस्त किया गया कि जिलाधिकारी व नगर आयुक्त से वार्ता कर आप लोगों के लिये जीवन निर्वाहन की व्यवस्था की जाएगी। जब तक लॉकडाउन लागू है, तब तक राशन उपलब्ध कराने का प्रयास किया जाएगा। उन लोगों की मजबूरी, सामाजिक दायित्व व मानवता को देखते हुए सुबह साढ़े आठ मिनट पर सिगरा भारत सेवाश्रम संघ के सामने बल्ली यादव पान वाले के पास 13 परिवारों को राशन किट दिया गया। इसमें पांच किग्रा आटा, एक किग्रा दाल, एक किग्रा नमक, एक किग्रा चावल, बिस्कुट, साबुन, सैनिटाइजर, मास्क, सब्जी, मसाला आदि के साथ वितरण किया गया। जोन कार्यालय आदमपुर में उनके साथ रहने वाले छह अन्य परिवारों जो छूट गये थे, को साधन उपलब्ध कराते हुए बुलाया गया और राशन किट का वितरित किया गया। इसमें भाजपा के दीपक जायसवाल मोनू, मनोज जायसवाल, कमलेश साहनी ने भी सहयोग दिया।

आदमपुर जोन कार्यालय में कार्यरत राजस्व निरीक्षक मंशाराम यादव, कर निरीक्षक ( द्वितीय ) कैलाश नाथ, कम्प्यूटर ऑपरेटर पवित्रेश जेटली व परिचारक बनारसी लाल, राजेश श्रीवास्तव, सरफुद्दीन, रहमान, किशुन लाल आदि ने भी सरकारी सहयोग से इतर खुद के पैसे से भी जरूरी सामान उपलब्ध कराए। परिवारों को आश्वस्थ किया गया कि जब तक कोरोना संक्रमण काल में बंदी से कामकाज शुरू नहीं होता है तब तक उनको राशन किट उपलब्ध कराया जाएगा। इसके अलावा हालात सामान्य होने पर नगर निगम प्रशासन आजीविका का साधन भी बनाएगा।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.