मास्क की अनिवार्यता को भूल गई पुलिस

मास्क की अनिवार्यता को भूल गई पुलिस

जागरण संवाददाता फतेहपुर कोविड-19 के दौर में संक्रमण से बचने के लिए शासन ने शारीरिक

JagranFri, 30 Oct 2020 04:55 PM (IST)

जागरण संवाददाता, फतेहपुर : कोविड-19 के दौर में संक्रमण से बचने के लिए शासन ने शारीरिक दूरी का ख्याल रखने के साथ मास्क पहनने की गाइड लाइन तक जारी कर दी थी, उसके बावजूद लोग बिना मास्क के ही घरों से निकल रहे हैं। इससे संक्रमण बढ़ रहा है। खास बात यह है कि पुलिस का ध्यान भी अब मास्क से हट कर वाहन चेकिग की तरफ हो गया है।

अप्रैल-मई 2020 से लेकर अगस्त तक पुलिस मास्क पहनने के लिए आम जनमानस को प्रेरित करती रही और न पहनने वालों से 100 रुपये जुर्माना भी वसूलती रही, लेकिन धीरे धीरे पुलिस मास्क से पुलिस का ध्यान हटने से युवा वर्ग मास्क नहीं पहन रहे हैं जिससे छींक, जुखाम, एलर्जी, बुखार, कमजोरी आदि का संक्रमण घर कर रहा है। भीड़ भाड़ वाले बाजार व सार्वजनिक जगहों पर अब कुछ लोग ही मास्क पहनकर घरों से बाहर निकल रहे हैं। हालत यह है कि डग्गामार वाहन चालक, कुछ दुकानदार, सब्जी विक्रेता व ग्राहक भी मास्क पहनने में कंजूसी कर रहे हैं और संक्रमण को बढ़ावा दे रहे हैं।

थाना प्रभारियों को अधिकार : सीओ

सीओ सिटी संजय कुमार सिंह व प्रभारी त्रिवेणी पांडेय का कहना था कि कोतवाली व थाना पुलिस को ही मास्क चेक कर जुर्माना करने का अधिकार है, यातायात पुलिस को सिर्फ वाहन चेकिग का ही अधिकार है फिर भी यातायात पुलिस मास्क पहनने के लिए आम जनमानस को प्रेरित कर रही है, उसके बावजूद कुछ लोग संक्रमण जैसी खतरनाक बीमारी को नहीं समझ रहे हैं।

............

सभी 21 कोतवाली व थाना प्रभारियों को कोविड 19 के तहत शासन की गाइड लाइन का पालन कराने के सख्त निर्देश दिए गए हैं और पुलिस बिना मास्क के घूम रहे लोगों पर 100 रुपये का जुर्माना लगाकर उन्हें मास्क पहनने को प्रेरित कर रही है, इसके बावजूद यदि कुछ लोग बिना मास्क के घूम रहे हैं तो ये गलत है।

राजेश कुमार, एएसपी

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.