top menutop menutop menu

कोरोना से मुल्क को महफूज रखने की घरों से मांगी दुआ

जागरण संवाददाता, उन्नाव : छोटी और बड़ी ईदगाह में इस बार सन्नाटा पसरा रहा, यह शायद पहली बार हुआ। जबकि मुल्क व अपनों की सुरक्षा के लिए सख्त धार्मिक नियमों को भी इस विश्वास के साथ शिथिल कर दिया कि एक दिन ऐसा आएगा कि वह फिर से अपनी जमात के साथ ईदगाह के विशाल परिसर में पहुंचेंगे और साथ नमाज पढ़ेंगे। सोमवार को ईद की नमाज शांति, सद्भावना और सरकारी नियमों को ध्यान में रखते हुए घरों में ही पढ़ी गई। इस दौरान हर किसी ने देश और दुनिया को इस महामारी से छुटकारा दिलाने के लिए अल्लाह से गुजारिश की।

एक माह तक रमजान में रोजे रखकर खुदा की इबादत करने वालों के लिए जश्न का मौका आया तो उन्होंने यहां भी अपने को संयमित रखा। रविवार को चांद नजर आने के बाद सोमवार को देश भर में ईद मनाने का ऐलान हो गया था। हालांकि इस बार ईदगाह मोहल्ले में मौजूद ईदगाह परिसर सन्नाटे में रहा। हर बार यहां हजारों की संख्या में एकत्र होकर नमाज अदा करने वाली भीड़, उनको शुभकामनाएं देने वाले जन प्रतिनिधियों के साथ प्रशासनिक अमला नजर नहीं आया। कोरोना प्रोटोकॉल से वाकिफ लोगों ने अपने घरों में परिवार के साथ नमाज अदा की। दुआएं मांगी कि उनका देश और देशवासी खुश, संपन्न और सेहतमंद रहें। हालांकि इससे पहले रविवार को ईद का चांद नजर आते ही हर तरफ खुशियां बांटने और मुबारक बाद की शुरुआत हो चुका थी। बावजूद इसके इस खास मौके पर सेवईं की मिठास के साथ ही इनसे अपनों को ईद मुबारक कहकर इस दिन को और भी खास बनाया गया। कुछ लोगों ने एक दूसरे को गले लगकर बधाई दी तो कुछ ने कोरोना प्रोटोकॉल का ध्यान रखते हुए दूर से ही ईद मुबारक कहना उचित समझा।

---------------------

डीएम-एसपी ने पूरे समय लिया जायजा

- ईद के दिन किसी को कोई असुविधा न हो। इस बात का जायजा लेने के लिए पूरे दिन डीएम रवीन्द्र कुमार और एसपी विक्रांत वीर ने शहर में दौड़ा किया। डीएम व एसपी ईदगाह में नमाज स्थल भी गए। अफसरों ने हर चौराहे पर रुककर यहां मौजूद पुलिस को सुरक्षा, लॉक डाउन, कोरोना प्रोटोकॉल आदि का ध्यान दिलाकर ईद की व्यवस्थाएं परखीं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.