top menutop menutop menu

डेढ़ हजार किसानों को दिए जाएंगे सिचाई के आधुनिक उपकरण

सुलतानपुर: खेती की लागत कम करने के लिए जिले के 1430 किसानों को सिचाई की आधुनिक सुविधा मुहैया कराई जाएगी। ड्रिप, स्प्रिंकलर व रेनगन प्रणाली के उपकरणों से सिचाई व्यवस्था में पानी की हर बूंद का सदुपयोग हो सकेगा। पीएम सिचाई योजना के तहत चयनित पात्र किसान को यह उपकरण 80 तथा लघु व सीमांत श्रेणी के किसानों को 90 प्रतिशत अनुदान के साथ दिए जाएंगे। विभाग में इसके लिए पंजीकरण किया जा रहा है।

जिले में पर ड्राप मोर क्राप के जरिए 492 हेक्टेयर क्षेत्रफल में ड्रिप सिचाई, माइक्रो स्प्रिंकल रेनगन सिचाई सिस्टम के तहत सैकड़ों किसानों को आधुनिक सिचाई सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। इनके जरिए लघु व सीमांत श्रेणी के किसानों को पानी की बर्बादी किए बिना उनकी फसलों को कम लागत पर बेहतर सिचाई सुविधाएं मिल सकेंगी।

छोटी जोत के किसानों के लिए पीएम कृषि सिचाई योजना के तहत ड्रिप सिचाई के लिए 198 हेक्टेयर, पोर्टेबल सिचाई के लिए 170 हेक्टेयर, माइक्रो, मिनी व रेनगन स्प्रिंकल के लिए क्रमश: 32, 20 व 32 हेक्टेयर तथा सेमी परमानेंट के लिए 40 हेक्टेयर क्षेत्रफल में सिचाई के लिए किसानों का चयन किया जाना है। जिले में अधिकतर किसान सिचाई के परंपरागत संसाधनों का उपयोग करते हैं। नलकूपों से सामान्य पाइपों के जरिए सिचाई की प्रथा है। इससे भूमिगत जल का फसलों के लिए बेहतर उपयोग नहीं हो पाता है। बहुत कम संख्या में स्प्रिंकल सिचाई पद्धति प्रयोग में लाई जाती है। उद्यान विभाग के निरीक्षक राम अकबाल ने बताया कि लाभान्वित होने वाले किसानों को प्रशिक्षित भी किया जाएगा। पहले आओ पहले पाओ के सिद्धांत पर अनुदान दिए जाएंगे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.