बिजली गिरने से किशोर की मौत, गली-मुहल्ले बने तालाब

- महिला थाने की ढही दीवार धराशायी हुए कई पेड़ - मौसम वैज्ञानिकों का अनुमान अगले 24 घंटों में तेज हवाओं के साथ होगी भारी बरसात

JagranMon, 14 Jun 2021 11:17 PM (IST)
बिजली गिरने से किशोर की मौत, गली-मुहल्ले बने तालाब

सुलतानपुर : मानसून की शुरुआती बारिश लोगों के लिए आफत बनने लगी है। सोमवार को गरज-चमक के बीच हुई तेज बरसात में बिजली गिरने से जहां एक किशोर की मौत हो गई। वहीं महिला थाने की दीवार सहित आधा दर्जन पेड़ भी धराशायी हो गए। इसके साथ शहर की लगभग सभी गलियों में जलभराव हो गया, जिससे मुहल्ले वासियों को आवागमन में परेशानी झेलनी पड़ी। मौसम वैज्ञानिकों का पूर्वानुमान है कि बारिश का सिलसिला जारी रहेगा। नियमित मानसून की आमद प्रदेश में हो गई है। ऐसे में आगामी 24 घंटे में अवध क्षेत्र में तेज हवाओं के साथ भारी वर्षा की संभावना है। - मुहल्ले हुए लबालब घरों में घुसा पानी : प्री मानसून बरसात में ही नाले नालियों की सफाई न होने का खामियाजा आमजन को झेलना पड़ रहा है। निचले इलाकों में आबाद दरियापुर, राइननगर, जमालगेट, निरालानगर, घोसियाना, डिहवा, गभड़िया, बढ़ैयावीर आदि मुहल्लों में नालियों से जल निकासी न होने के कारण सड़कें तालाब सी दिख रही है। यही नहीं गंदा पानी मुहल्ले वासियों के घरों में घुस गया।

- रेलवे कालोनी भी हुई लबालब, स्वयं की सफाई

रेलवे की पश्चिमी कालोनी बारिश के पानी से लबालब है। झाड़-झंखाड़ की वजह से जलनिकासी बाधित है। सड़क व घर के सामने घुटने तक पानी भरा हुआ है। कई घरों में सामान तक हटाना पड़ा है। उत्तर रेलवे मजदूर यूनियन के युवा शाखा के मुकेश कुमार ने साथियों के साथ पहुंचे व नाली की सफाई कराई, जिससे जलनिकासी शुरू हुई।

- 47 मिमी रिकार्ड हुई बरसात

आचार्य नरेंद्र देव कृषि विश्वविद्यालय कुमारगंज, अयोध्या के मौसम विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक डा. अमरनाथ मिश्रा ने बताया कि हवा का रुख उत्तरी पूर्वी रहने से तापमान में गिरावट जारी रहने की संभावना है। जिले का अधिकतम तापमान 26 और न्यूनतम 21 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। बीती रात से सोमवार की शाम तक 47 मिमी वर्षा रिकार्ड की गई है।

- अभियान रह गया अधूरा :

शहरी क्षेत्र में दस बड़े नाले है जिनकी सालाना सफाई कराई जाती है। बीते साल संक्रमण के चलते इनकी सफाई नहीं की जा सकी। वहीं इस वर्ष एक पखवाड़ा पहले नालों की सफाई का अभियान शुरू किया गया, लेकिन बीच में चक्रवात यास और अब नियमित बरसात के चलते सफाई बाधित हो गई।

- मवेशी चराने गया था विकास

बल्दीराय संसू के अनुसार हेमनापुर निवासी विकास निषाद सोमवार की सुबह गोमती नदी के किनारे मवेशी चराने गया था। अचानक तेज बारिश शुरू हो गई। इससे बचने के लिए वह एक पेड़ के नीचे खड़ा था कि अचानक गिरी बिजली से वह उसकी चपेट में आ गया और मौके पर मौत हो गई। एसडीएम राजेश कुमार सिंह ने बताया की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.