19 दिन में ही औसत से अधिक 182 मिलीमीटर हुई बारिश

जिले में लगातार कई दिनों से हो रही तेज बारिश के चलते नदी-नाले उफान पर हैं। लगातार रुक-रुक कर हो रही बारिश से आमजन बेहाल हैं। आठ दिनों से धूप नहीं निकली है। एक से लेकर 19 जून तक पूरे महीने के औसत से अधिक बारिश हुई है।

JagranSat, 19 Jun 2021 09:59 PM (IST)
19 दिन में ही औसत से अधिक 182 मिलीमीटर हुई बारिश

जागरण संवाददाता, सोनभद्र : जिले में लगातार कई दिनों से हो रही तेज बारिश के चलते नदी-नाले उफान पर हैं। लगातार रुक-रुक कर हो रही बारिश से आमजन बेहाल हैं। आठ दिनों से धूप नहीं निकली है। एक से लेकर 19 जून तक पूरे महीने के औसत से अधिक बारिश हुई है।

सोनांचल में जून महीने में हुई रिकार्ड बारिश से हर तरफ पानी-पानी दिखाई दे रहा है। 19 दिन में ही औसत से अधिक बारिश रिकार्ड की गई है। अब तक जून में 182 मिलीमीटर बारिश हो चुकी है। वहीं इस महीने की औसम बारिश 104.5 मिलीमीटर है। इस महीने में अभी 11 दिन शेष बचा है। ऐसे में बारिश होने पर इसमें और अधिक वृद्धि होगी। एक से 19 जून के बीच राब‌र्ट्सगंज तहसील में 183, दुद्धी में 140.06 व घोरावल तहसील में 223 एमएम बारिश हुई है। जिले में कभी झमाझम तो कभी रिमझिम बारिश का नतीजा हुआ कि गांव व गलियां पानी-पानी हो गईं। कहीं लोग अपने घरों में से पानी निकालते नजर आए तो कहीं लोग अपने जर्जर हो चुके मकान को गिरता हुआ देखने को विवश नजर आए।

आम जनजीवन अस्त-व्यस्त हुआ तो नदियों व अन्य जलाशयों के जलस्तर में भी वृद्धि दर्ज हुई। बारिश से नदी और नालों में पानी उफान पर है। खेत-क्यारी जल मग्न हो गए हैं। किसान कृषि कार्य में तेजी से जुट गए हैं। शुक्रवार की रात से शुरू हुई बारिश का सिलसिला शनिवार तक जारी रहा। इसका नतीजा यह रहा कि राब‌र्ट्सगंज नगर समेत ग्रामीण इलाकों में स्थिति बदतर हो गई है। ओबरा, रेणुकापार सहित आसपास के इलाकों में लगातार बारिश होने से अब लोगों में चिता होने लगी है। कई पहाड़ी नदियों में एक बार फिर से उफान की स्थिति बनने लगी है। जिससे जिला प्रशासन की निगाहें भी अब प्रभावित इलाकों की ओर हो गई हैं। बारिश से पिकनिक स्थल रहे गुलजार

जागरण संवाददाता, सोनभद्र : बारिश के मौसम में जनपद का रंग कुछ अलग ही रहता है। एक तरफ जहां भयंकर बारिश से आमजन बेहाल रहे तो वहीं दूसरी तरफ जिले के जल प्रपात अलग ही रंग बिखेर रहे थे। जिला मुख्यालय के सबसे नजदीक इको प्वाइंट के पास अलसुबह से ही युवाओं की टोली पहुंचनी शुरू हो गई। दोपहर को जैसे ही इंद्रदेव ने थोड़ी देर के लिए बारिश से राहत दी तो कई परिवार जल प्रपातों का मजा लेने वहां पर पहुंच गए। बारिश के मौसम में जिले के तमाम झरने अपने पूरे रंगत में रहती है। यहां पर अगर थोड़ी प्रशासनिक सुविधा बढ़ा दी जाए तो बेहतर पिकनिक स्पाट बन जाए। कहा कि अवकाश के दिनों में यहां पर भारी भीड़ रहती है इस दौरान लड़के, लड़किया व महिलाओं की संख्या भी रहती है जिसको ध्यान में रखते हुए पुलिस प्रशासन की तैनाती भी अति आवश्यक है। बाढ़ से निपटने के लिए कंट्रोल रूम में करें शिकायत

लगातार हो रही बारिश के चलते होने वाली समस्याओं को लेकर कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है। कोई भी व्यक्ति सोन नदी का जल स्तर खतरे के निशान से अधिक होने व किसी भी जगह बाढ़ आने की सूचना पर कलेक्ट्रेट में स्थापित बाढ़ नियंत्रण कक्ष के नंबर 05444-222030 पर दे सकता है। वहीं बंधी प्रखंड द्वितीय राब‌र्ट्सगंज के कार्यालय में खोले गए बाढ़ नियंत्रण कक्ष के दूरभाष नंबर 05444-297349 पर भी सूचना दे सकता है। कंट्रोल रूम सक्रिय कर दिया गया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.