तीन माह का एक साथ बिल आने से उपभोक्ताओं की बढ़ी परेशानी

जागरण संवाददाता अनपरा (सोनभद्र) कोरोनाकाल के दौरान मीटर रीडिग नही किए जाने के कारण अब बिजली विभाग द्वारा एक साथ बिल भेले जाने से उपभोक्ता परेशान हैं। लाकडाउन के दौरान सभी विभागों द्वारा घर से ही काम किया जा रहा था। अब लाकडाउन खुल गया है। सभी कर्मी अपने कार्य पर लग गए हैं। जुलाई माह में बिजली विभाग द्वारा उपभोंक्तओं को बिल भेजे जाने पर उन्हें जोर का झटका लगा है। महामारी काल के दौरान संक्रमण से बचने के लिए बिजली विभाग के कर्मचारी घरों से नही निकले। अब जब उन्होंने मीटर रीडिग लेना शुरू किया है। उपभोक्ताओं को एक साथ बिल सरचार्ज जोड़कर दिया गया है। बिल देखते ही उपभोक्ताओं के होश उड़ गए। कई उपभोक्ताओं ने तो हर महीने बिल को समय पर जमा कर दिया है। फिर भी उनका बिल सरचार्ज जोड़कर आया है। एक साथ बिल आने से उपभोक्ताओं की परेशानी बढ़ गई है।

JagranThu, 05 Aug 2021 12:25 AM (IST)
तीन माह का एक साथ बिल आने से उपभोक्ताओं की बढ़ी परेशानी

जागरण संवाददाता, अनपरा (सोनभद्र) : कोरोनाकाल के दौरान मीटर रीडिग नही किए जाने के कारण अब बिजली विभाग द्वारा एक साथ बिल भेले जाने से उपभोक्ता परेशान हैं। लाकडाउन के दौरान सभी विभागों द्वारा घर से ही काम किया जा रहा था। अब लाकडाउन खुल गया है। सभी कर्मी अपने कार्य पर लग गए हैं। जुलाई माह में बिजली विभाग द्वारा उपभोंक्तओं को बिल भेजे जाने पर उन्हें जोर का झटका लगा है। महामारी काल के दौरान संक्रमण से बचने के लिए बिजली विभाग के कर्मचारी घरों से नही निकले। अब जब उन्होंने मीटर रीडिग लेना शुरू किया है। उपभोक्ताओं को एक साथ बिल सरचार्ज जोड़कर दिया गया है। बिल देखते ही उपभोक्ताओं के होश उड़ गए। कई उपभोक्ताओं ने तो हर महीने बिल को समय पर जमा कर दिया है। फिर भी उनका बिल सरचार्ज जोड़कर आया है। एक साथ बिल आने से उपभोक्ताओं की परेशानी बढ़ गई है।

नाम न छापने की शर्त पर उपभोक्ताओं ने बताया कि महामारी से सबका कार्य ठप है। हर महीने खर्चे में कटौती कर किसी तरह बिजली का बिल जमा किया गया। कोरोनाकाल में बिजली विभाग ने रीडिग नही कराई जिस कारण अब हम लोगों को तीन महीने का एक साथ बिल जमा करना पड़ रहा है। बिजली का बिल लोगों के समक्ष पहाड़ बनकर खड़ा हो गया है। अगर नही भरते हैं तो सरचार्ज बढ़ता जाएगा और बिजली कटने का डर भी बना रहेगा। उपभोक्ताओं ने सुझाव दिया है कि सरकार को सेल्फ रीडिग की व्यवस्था करनी चाहिए। जिससे किसी कारणवश विभाग रीडिग नही करा पाता है तो उपभोक्ता स्वंय ही मीटर रीडिग की फोटो अपलोड कर बिल का भुगतान कर सके। इससे उपभोक्ताओं पर भार नही बढ़ेगा और विभाग का बकाया भी नही बढ़ेगा। अनपरा के जेई अनुज कुमार ने बताया कि कुछ जगहों पर कोरोनाकाल की वजह से मीटर रीडिग नहीं हो पायी है। उपभोक्ताओं को बिल जमा करने के लिए हर संभव सहयोग किया जा रहा है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.