धरने पर बैठे किसानों ने किया बुद्धि-शुद्धि यज्ञ

धरने पर बैठे किसानों ने किया बुद्धि-शुद्धि यज्ञ

राब‌र्ट्सगंज स्थित मंडी समिति क्रय केंद्र परिसर में धान खरीद की मांग को लेकर धरने पर बैठे किसानों ने छठवें दिन बुद्धि-शुद्धि यज्ञ किया। किसानों ने मुख्यमंत्री का फोटो रखकर यज्ञ किया और कहा कि जिले अधिकारियों की मनमानी के कारण धान की खरीद पूरी नहीं हो सकी।

JagranThu, 04 Mar 2021 10:05 PM (IST)

जागरण संवाददाता, सोनभद्र : राब‌र्ट्सगंज स्थित मंडी समिति क्रय केंद्र परिसर में धान खरीद की मांग को लेकर धरने पर बैठे किसानों ने छठवें दिन बुद्धि-शुद्धि यज्ञ किया। किसानों ने मुख्यमंत्री का फोटो रखकर यज्ञ किया और कहा कि जिले अधिकारियों की मनमानी के कारण धान की खरीद पूरी नहीं हो सकी। पूर्वांचल नव निर्माण मंच अध्यक्ष श्रीकांत त्रिपाठी ने कहा कि आनलाइन पंजीकरण कराने के बाद किसानों का धान नहीं लिया गया। इस कार्य की उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए। कहा कि अगर किसानों का धान नहीं लिया गया तो उनके सामने आर्थिक समस्या खड़ी हो जाएगी। कहा मुख्यमंत्री ने किसानों की आय दोगुनी करने के दावे करते हैं, वही सोनभद्र के अधिकारी उनके दावों पर दाग लगाने का काम कर रहे हैं। किसानों ने कहा कि वह महीनों से धान लेकर केंद्र पर खड़े रहने के बाद भी कोई सुनवाई नहीं हो रही है। कहा कि बुद्धि-शुद्धि यज्ञ के माध्यम से मुख्यमंत्री से मांग करते हैं कि वह जिले के बेलगाम अधिकारियों पर कड़ी कार्रवाई की जाए। जनपद के जन प्रतिनिधियों पर संवेदनहीन होने का आरोप लगाते हुए कहा कि इस मुद्दे पर वह कुछ बोलने से भी कतरा रहे हैं। चेतावनी देते हुए कहा कि अगर क्रय केंद्रों पर खड़े किसानों की खरीद नहीं हुई तो वह लोग व्यापक आंदोलन करने को बाध्य होंगे। इस मौके पर गिरीश पांडेय, रमाकांत तिवारी, भोलानाथ पांडेय, भोला बाबा, धर्मराज सिंह, पवन सिंह, सुरेंद्र कुमार सिंह, सुमित पटेल, राकेश सिंह, कमलेश सिंह, मुन्ना मालिक, ओमप्रकाश पाण्डेय, अभय पटेल आदि रहे। कृषि ऋण का समय से करें भुगतान

जागरण संवाददाता, करमा(सोनभद्र) : स्थानीय आर्यावर्त बैंक शाखा का गुरुवार को सिरविट गांव में क्रेडिट कैंप का आयोजन किया गया। इस दौरान सरकार की तरफ से चलाई जा रही लाभकारी योजनाओं व ऋण आदि के बारे में जानकारी दी गई।

मुख्य अतिथि खंड विकास अधिकारी घोरावल रमेश कुमार यादव ने राष्ट्रीय आजीविका मिशन पर चर्चा करते हुए कहा कि समूह आर्थिक विकास का माध्यम ही नहीं अपितु सामाजिक विकास का माध्यम है। उन्होंने प्रत्येक गांव में समूह के गठन की बात कही। क्षेत्रीय प्रबंधक ओपी गंगवार ने किसानों की सुविधा के लिए किसान क्रेडिट कार्ड के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि कृषि ऋण का समय से भुगतान करने पर सिर्फ चार फीसद ब्याज लगता है। समय सीमा के अंतर्गत ऋण का भुगतान न करने पर 12 फीसद ब्याज देना पड़ता है। निर्धारित सीमा के बाद भी भुगतान न होने की स्थिति में आरसी के दौरान दस फीसद अतिरिक्त कलेक्शन चार्ज के रूप में रकम चुकाना पड़ता है। जो किसानों के लिए मुसीबत बन जाती है। इसमें वरिष्ठ प्रबंध राजेश कुमार यादव, शाखा प्रबंधक नदीम इस्लाम, एडीओ शिवनाथ, शिव नारायण सिंह, पं. बिपिन तिवारी, सुनील सिन्हा आदि थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.