सड़कों पर बेसहारा पशुओं के जमावड़े से हो रहे हादसे

सड़कों पर बेसहारा पशुओं के जमावड़े से हो रहे हादसे

जागरण संवाददाता डाला (सोनभद्र) क्षेत्र की सड़कों पर मवेशियों के जमावड़े से लोग परेशान ।

Publish Date:Mon, 30 Nov 2020 06:50 PM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, डाला (सोनभद्र) : क्षेत्र की सड़कों पर मवेशियों के जमावड़े से लोग परेशान हैं। हादसे तो हो ही रहे, बड़े वाहनों की चपेट में आने से मवेशियों की भी मौत हो जा रही है। कभी-कभी मवेशी भी राहगीरों को जख्मी कर दे रहे हैं।

आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र में रहने वाले पशु पालकों की गैर जिम्मेदराना कार्यों के कारण बड़ी संख्या में पशु क्षेत्र की सड़कों पर दिन-रात डेरा डाले बैठे रहते हैं। डाला-ओबरा मार्ग हो या फिर वाराणसी शक्तिनगर मार्ग सभी जगहों पर ये या तो बैठे रहते है या विचरण करते हुए दिखलाई पड़ते हैं। जहां बैठते हैं उस मार्ग को गंदगी से पाट देते है। मार्ग से गुजरने वाले लोगों को इनसे भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। वाहनों के बजते हार्न का भी इन पर कोई असर नहीं पड़ता है। साइकिल सवार हो या मोटरसाइकिल सवार अक्सर छूटे पशुओं के कारण दुर्घटना का शिकार होते रहते हैं। मार्ग से अचानक कब उठकर ये आपस में लड़ने लगेंगे और कब ये किस दिशा की ओर दौड़ लगा दें ये किसी को पता नहीं होता। रात्रि के समय वाराणसी-शक्तिनगर मार्ग हो या क्षेत्र की अन्य सड़कों से आवागमन करने वाले बड़े वाहनों की चपेट में आकर कई पशु या तो घायल हो जाते है या तो कुछ समय बाद दम तोड़ देते है। बेसहारा पशुओं के मरणोपरांत अधिकरत पशुपालक इनकी सुध तक नहीं लेते और न ही इन्हें ठिकाने ही लगाते है। स्थानीय निवासी मुकेश जैन, महेश सोनी, सौरभ सिंह, मोनू सिंह आदि लोगों ने जिला प्रशासन का ध्यान इस ओर आकृष्ट कराते हुए समस्या का समाधान कराए जाने की मांग की है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.