शोहदे पर कार्रवाई न होने से आहत छात्रा ने की खुदकशी

शोहदे पर कार्रवाई न होने से आहत छात्रा ने की खुदकशी

मां बोली चौकी-थाने गई एसओ से भी बात हुई पर उलटे पुलिस ने धमकाया

JagranSun, 21 Mar 2021 12:32 AM (IST)

सीतापुर : इमलिया सुल्तानपुर के एक गांव के शोहदे से आजिज आकर छात्रा ने शुक्रवार रात घर में फांसी लगा ली। किशोरी कक्षा नौ की छात्रा है। छात्रा की मां ने बुधवार की घटना बताते हुए कहा, वह स्कूटी से बेटी को स्कूल से लेकर काजी कमालपुर तक आई थी। यही नहीं, बेटी को स्कूटी देकर उसकी आशा बहू मां सीएचसी चली गई थी। उधर, बाइक सवार शोहदा उसकी बेटी का पीछा कर लिया। रास्ते में ओवरटेक कर उसकी बेटी का बस्ता छीनकर भाग गया। बस इसी बात से उसकी बेटी परेशान थी। वह दिन-रात रो रही थी, हालांकि मां भी उसे समझा रही थी। मां ने बताया, बुधवार को बेटी के साथ हुई घटना के संबंध में पहले 1090 पर काल की। उसने काजी कमालपुर पुलिस चौकी को बताया। चौकी पुलिस गांव आई थी। आरोपित शोहदों के न मिलने पर उसके पिता को पकड़ ले गई थी। शोहदे के पकड़ जाने पर पुलिस ने उसके पिता को छोड़ा था। शोहदे को तीन दिन तक थाने में पुलिस ने हिरासत में रखा। छात्रा की मां ने बताया, वह काजी कमालपुर चौकी पर गई थी। शोहदे से बरामद बस्ता पुलिस से मांगा तो उलटे उसे पुलिस कर्मियों ने बेटी के विरुद्ध मुकदमा लिख देने की बात कहकर धमकाया। कुल मिलाकर आरोपित शोहदे के विरुद्ध पुलिस की कार्रवाई शून्य रही। नतीजा यह रहा कि छात्रा ने खुदकशी कर ली। 15 वर्षीय छात्रा सीतापुर शहर में पढ़ने के लिए अधिकतर अपनी मां के साथ स्कूटी से आती-जाती थी।

बोले थानाध्यक्ष, समझौता हो गया था फिर भी..

थानाध्यक्ष संत कुमार सिंह ने कहा, बुधवार को घटना के तुरंत बाद चौकी इंचार्ज छात्रा के गांव गए थे। आरोपित छोटे को हमने बुलाया था। शुक्रवार को दोनों पक्षों के अभिभावक थाने पर आए थे। आपस में बातचीत कर समझौता कर लिए थे। आरोपित ने माफी भी मांग ली थी। छात्रा के खुदकशी कर लेने के बाद मृतक छात्रा की मां ने गांव के छोटू नाम के युवक के विरुद्ध तहरीर दी है। हमने मुकदमा दर्ज किया है। आरोपित छोटू गिरफ्तार भी हो गया है।

वर्जन-

थानाध्यक्ष व चौकी इंचार्ज निलंबित

शनिवार को थाना इमलिया सुल्तानपुर क्षेत्र में घटित घटना का तत्काल संज्ञान लेते हुए थानाध्यक्ष संत कुमार सिंह और काजी कमालपुर चौकी इंचार्ज जितेंद्र बहादुर सिंह को निलंबित किया है। अभियुक्त वारिस को गिरफ्तार किया गया है। जहां तक रही बात अभियुक्त को संरक्षण एवं सह देने वालों की तो उनके विरुद्ध भी हम कार्रवाई करेंगे। फिलहाल प्रकरण की जांच एएसपी-उत्तरी डॉ. राजीव दीक्षित कर रहे हैं।

आरपी सिंह पुलिस अधीक्षक फजीहत के बाद जागे जिम्मेदार, एसओ और चौकी इंचार्ज निलंबित

चौकी और थाने में बैठे जिम्मेदार पुलिस की फजीहत करा रहे हैं। आंकड़ों में भले ही महिला अपराध कम होने का दावा किया जा रहा हो लेकिन, शनिवार को इमलिया सुल्तानपुर से पुलिसिया अनदेखी की जो पिक्चर सामने आई है, वह सचमुच शर्मनाक है। इस मामले में एसपी ने भले ही सख्त कार्यवाही की हो लेकिन, हकीकत यही है कि थानों और चौकी पर सिस्टम सही से काम नहीं कर रहा है।

खैर, इमलिया सुल्तानपुर में हुई घटना पर कार्यवाही कर एसपी ने सुधरने का संदेश सभी को दिया है। उन्होंने कार्यवाही न करने वाले थानाध्यक्ष संत कुमार सिंह और काजी कमालपुर चौकी इंचार्ज जितेंद्र बहादुर सिंह को निलंबित किया है। एसपी ने बताया, अभियुक्त वारिस उर्फ छोटू को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने यह भी कहा है कि जहां तक रही बात अभियुक्त को संरक्षण एवं सह देने वालों की तो उनके विरुद्ध भी वह कार्रवाई करेंगे। फिलहाल प्रकरण की जांच उन्होंने एएसपी-उत्तरी डॉ. राजीव दीक्षित को दी है।

यहां भी सवालों के घेरे में पुलिस

तंबौर में हुई घटना में पुलिस पर सवाल उठे हैं। सेउता विधायक ज्ञान तिवारी की कानें तो उन्होंने इस मामले में तंबौर थानाध्यक्ष को पहले ही कार्यवाही करने के लिए निर्देशित किया था। उन्होंने आरोप जड़ा कि पुलिस समय रहते कार्यवाही करती तो शायद शनिवार को हत्या जैसी वारदात न होती।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.