तीन दिन से गन्ना तौल ठप, किसान परेशान

गन्ना प्रजाति को रिजेक्ट बताकर नहीं कर रहे खरीद किसान तौल कराने पर अड़े।

JagranTue, 30 Nov 2021 11:20 PM (IST)
तीन दिन से गन्ना तौल ठप, किसान परेशान

सीतापुर : सहकारी चीनी मिल महमूदाबाद के गन्ना क्रय केंद्र रेउसा में तीन दिन से तौल नहीं हो रही है। बड़ी संख्या में किसानों के गन्ना भरे वाहन केंद्र पर खड़े हैं। मिल कर्मचारी गन्ने को रिजेक्ट प्रजाति बताकर तौल नहीं कर रहे। वहीं, किसान तौल कराने पर अड़े हैं।

सोमवार को किसानों ने चौराहे पर जाम लगाकर प्रदर्शन किया था। नायब तहसीलदार ने मिल प्रबंधन से बात कर समस्या निदान कराने का आश्वासन दिया था। इसके बाद जाम तो खुल गया, मगर तौल शुरू नहीं हो सकी। मंगलवार को भी क्रय केंद्र पर बड़ी संख्या में गन्ना भरे वाहनों के साथ किसान डटे थे।

बरौली, अकसोहा, ईटगांव, खरहरा, भौली आदि के किसानों राजेश यादव, प्रताप नारायण आदि ने बताया कि 9151 गन्ना प्रजाति बोई थी। सर्वेक्षण के समय भी चीनी मिल के अधिकारियों ने कुछ नहीं बताया। अब गन्ना आपूर्ति के समय रिजेक्ट बताकर तौल नहीं की जा रही है। समस्या को लेकर किसान विधायक ज्ञान तिवारी से भी मिले और समस्या से उन्हें अवगत कराया। इस दौरान किसान खुशीराम, विपिन चंद्र पांडेय, अखिलेश वाजपेयी, राम लोटन, राम हर्ष, लक्ष्मी निवास, देवेंद्र कुमार, जग्गन आदि मौजूद रहे।

विधायक ज्ञान तिवारी ने बताया कि गन्ना किसान मिले थे, हमने गन्ना मंत्री सुरेश राणा और जिला गन्ना अधिकारी संजय सिसौदिया से बात की है। बुधवार को इस समस्या का निदान होगा। जब मिल ने सर्वेक्षण किया है तो उसे गन्ना खरीदना पड़ेगा। अचानक रिजेक्ट बताना गलत है। जरूरत पड़ी तो मुख्यमंत्री से भी बात करेंगे।

प्रधान प्रबंधक किसान सहकारी चीनी मिल महमूदाबाद आलोक कुमार ने बताया कि 9151 गन्ना प्रजाति को शासन ने इस वर्ष से सामान्य प्रजाति में परिवर्तित किया है। गत वर्ष यह प्रजाति अरली श्रेणी में थी। साफ्टवेयर में बदलाव किया जा रहा है। जब तक इस प्रजाति की सामान्य पर्ची जारी न हो किसान भाई कटाई न करें। जो किसान गन्ना कटाई कर चुके हैं, उसकी तौल की व्यवस्था हो रही है। शीघ्र ही इस समस्या का समाधान हो जाएगा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.