हड्डी वार्ड की बिजली गुल, मरीज पसीना-पसीना

शार्ट सर्किट की वजह से जिला अस्पताल में अव्यवस्था

JagranPublish:Fri, 25 Jun 2021 11:31 PM (IST) Updated:Fri, 25 Jun 2021 11:31 PM (IST)
हड्डी वार्ड की बिजली गुल, मरीज पसीना-पसीना
हड्डी वार्ड की बिजली गुल, मरीज पसीना-पसीना

सीतापुर : जिला अस्पताल में शार्ट सर्किट की वजह से दो वार्डों की बिजली गुल हो गई। गर्मी और उमस के बीच अंधेरे में मरीज और तीमारदार पसीना-पसीना हो गए। यही नहीं, मेडिकल स्टाफ को भी परेशानियों का सामना करना पड़ा। दरअसल, बिजली गुल होने के बाद यहां पर जेनरेटर से भी आपूर्ति नहीं की जा सकी। अस्पताल प्रशासन का दावा है कि करीब आधे घंटे में ही आपूर्ति सुचारू करा दी गई।

सीतापुर जिला अस्पताल में करीब 11:30 बजे के करीब जर्जर लाइन के तार अचानक जलने लगे। कर्मियों ने जब तक इसकी सूचना जिम्मेदारों को दी, इससे पहले ही बिजली गुल हो गई। हड्डी वार्ड के अलावा नेत्र रोग विभाग में भी अंधेरा छा गया। पंखे चलने भी बंद हो गए। अस्पताल के दो प्रमुख वार्डों की बिजली कटने के बाद फाल्ट को सही करने का काम शुरू किया गया। करीब आधे घंटे की मशक्कत के बाद आपूर्ति सुचारू हो पाई। एक तीमारदार ने बताया कि हड्डी वार्ड के अधिकांश बेडों पर मरीज हैं। इनके साथ स्वजन भी हैं। ऐसे में बिजली गुल होने के बाद उमस में मुश्किलें बढ़ गईं।

जर्जर लाइन बड़ा खतरा

जिला अस्पताल के वार्डों में जर्जर तार बड़े हादसे का भी सबब बन सकते हैं। शुक्रवार को भले ही सिर्फ बिजली गुल हुई हो लेकिन, गर्मी में बढ़ते लोड के बीच शार्ट सर्किट से अनहोनी भी हो सकती है। ऐसे में मुश्किलें खड़ी हो सकती हैं।

वर्जन

'वायरिग में तार पुराने हैं। लोड पड़ा तो शार्ट सर्किट से तार जल गए। इस वजह से करीब आधा घंटा बिजली गुल रही। तार बदलवाकर आपूर्ति सुचारू करा दी गई है।'

- डा. एके अग्रवाल, सीएमएस जिला अस्पताल