कोविड से पांच की मौत, 222 और मिले कोविड रोगी

कोविड से पांच की मौत, 222 और मिले कोविड रोगी

गुरुवार को 222 में 141 पुरुष व 81 महिलाएं हो गईं कोरोना से संक्रमित

JagranThu, 29 Apr 2021 11:49 PM (IST)

सीतापुर : गुरुवार को कोविड से पांच लोगों की मौत होने की खबर है। सीएमओ की रिपोर्ट में तीन कोविड रोगियों की मौत होना बताया गया है। इसी तरह लखनऊ के विवेकानंद अस्पताल में भर्ती हरगांव गंज के 50 वर्षीय अखिलेश बरनवाल की भी दोपहर को कोविड से मौत हो गई है। इसी तरह रेउसा के शिकोहा निवासी 55 वर्षीय संजय त्रिपाठी की भी कोविड से मौत हो गई है। बुधवार देर रात सीएमओ को प्राप्त 2119 सैंपलों की जांच रिपोर्ट में कोविड के 222 नए रोगी मिले हैं। इसमें 141 पुरुष और 81 महिला रोगी हैं। इनमें आठ बच्चे भी संक्रमित हो गए हैं। इस तरह जिले में अब तक कुल पॉजिटिव रोगियों की संख्या 9054 हो गई है। वर्तमान में जिले में कुल 2330 एक्टिव कोविड रोगी बताए जा रहे हैं। स्वास्थ्य अधिकारी शुरुआत से अब तक जिले में कोविड से 107 लोगों की मौत बता रहे हैं। सीएमओ ने बताया, शुरू से अब तक कोविड रोगियों में 4932 रोगी होम आइसोलेशन में रहकर कोरोना से जंग जीत चुके हैं। इसके अलावा 1685 रोगियों को अस्पताल में ठीक किया गया है। इस तरह कोविड से ग्रसित कुल रोगियों में 6617 रोगियों की सेहत दुरुस्त हो चुकी है। सीएमओ ने बताया, जिले में अब तक 4.17 लाख संदिग्धों के सैंपलों में कोविड की जांच कराई गई है।

सांस लेने में दिक्कत से दो की मौत

प्रेमनगर के नरेश राजपूत और रानी कोठी के ईंट भट्ठा मालिक 42 वर्षीय मनोज पांडेय की भी मौत हो गई है। बताया जा रहा है कि नरेश राजपूत और मनोज पांडेय को सांस लेने में दिक्कत हो रही थी।

नहीं पहुंची एंबुलेंस, इलाज के अभाव में तोड़ा दम

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के नगर सेवा प्रमुख व सिने कलाकार शिवाकांत मिश्र बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था की भेंट चढ़ गए। गुरुवार को परिवारजन अपने मरीज को बचाने के लिए एंबुलेंस का इंतजार करते रहे। एंबुलेंस तो नहीं पहुंची लेकिन उन की उपचार के अभाव में मौत जरूर हो गई। शिवाकांत को कुछ दिन पूर्व तेज बुखार आया था, घर पर उपचार करा रहे थे। उन्होंने दो दिन पूर्व अपना सैंपल कोविड जांच के लिए भेजा था, रिपोर्ट अभी आनी बाकी थी। बुधवार की सुबह अचानक से शिवाकांत की हालत गंभीर हो गई। सुगर लेबल भी काफी बढ़ गया, तथा सांस लेने में तकलीफ होने लगी थी। परिवारजनों ने तुरंत आक्सीजन सिलिडर का बंदोबस्त किया, लेकिन हालत में सुधार न होते देख जिला अस्पताल लाए। गुरुवार की सुबह परिवारजन उन्हें पुन: घर वापस ले आए। पुत्र तुषार मिश्र ने बताया दोपहर में हालत एकबार फिर बिगड़ने पर वेंटिलेटर युक्त 102 एंबुलेंस को काल की गई। बताया गया दस मिनट में एंबुलेंस पहुंच जाएगी, लेकिन मौके पर एंबुलेंस नहीं पहुंची लिहाजा पिता की मौत हो गई। शिवाकांत की मौत से संघ स्वयंसेवकों में शोक की लहर दौड़ गई नगर कार्यवाह ज्योतिशंकर, बौद्धिक प्रमुख सचिन त्रिपाठी, जिला प्रचारक उपेंद्र, महेश शर्मा, शैलेंद्र सिंह आदि ने घर पर पहुंचकर परिवारजन को ढांढस बंधाया और शिवाकांत के अंतिम दर्शन किए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.