जून में आवेदन, अब तक नहीं मिला बिजली कनेक्शन

कई माह कार्यालय के चक्कर लगाने के बाद भी आवेदकों को नहीं मिल पा रहा कनेक्शन।

JagranTue, 30 Nov 2021 11:25 PM (IST)
जून में आवेदन, अब तक नहीं मिला बिजली कनेक्शन

सीतापुर : ग्रामीण अंचल में व्यावसायिक (कामर्शियल) या नलकूप के लिए बिजली कनेक्शन पाना आसान नहीं है। कनेक्शन के लिए उपभोक्ता बिजली दफ्तर के चक्कर लगाने को मजबूर हैं। सभी मानकों को पूरा करने के बाद उनको कोई न कोई कारण बताकर वापस कर दिया जाता है। पिछले कई माह से चक्कर काट रहे इन ग्रामीण उपभोक्ताओं की सुनने वाला कोई नहीं है। दैनिक जागरण की टीम ने जब विद्युत वितरण खंड द्वितीय कार्यालय की पड़ताल की तो वहां का हाल कुछ इस तरह ही नजर आया।

कार्यालय में कुछ कर्मचारी सीट पर बैठे तो कुछ कार्यालय में चहलकदमी कर रहे थे। एक्सईएन कार्यालय में नहीं थे। कमरे में बैठे कर्मचारी अशरफ से जब उनके न होने का कारण पूछा गया तो बताया ओटीएस शिविर में गए हुए हैं। एक्सईएन सुधीर भारती ने बताया कि एकमुश्त समाधान योजना का अंतिम दिन होने के कारण शिविर में गए हुए थे इसलिए कार्यालय में मौजूद नहीं रहा। कनेक्शन सभी उपभोक्ताओं को उपलब्ध कराए जाते हैं। अगर कोई आवेदन या शिकायत लंबित है तो उसे दूर कराया जाएगा।

केस 1 : मिश्रिख के ग्राम बहेरवा निवासी लवलेश अपने भाई अवधेश के नाम पर व्यावसायिक बिजली कनेक्शन चाहते हैं। वह मंगलवार को अधिशासी अभियंता कार्यालय में कनेक्शन की जानकारी लेने आए थे। यहां उनको बताया गया कि आज साहब नहीं हैं कल आइएगा। लवलेश का कहना है वह आटा चक्की लगाना चाह रहे हैं। इसके लिए आनलाइन आवेदन जून में किया था समस्त कागजी कार्रवाई भी पूरी कर चुके हैं। अभी तक कनेक्शन नहीं मिला है।

केस 2 : बहारखेड़ा के पराग नारायण के पिता श्रीपाल के नाम पर नलकूप कनेक्शन था। चार वर्ष पूर्व पिता की मौत हो गई। बिजली का बिल बकाया होने के कारण पांच माह पूर्व कनेक्शन काट दिया गया। पराग नारायण ने बिल चुकता कर दिया लेकिन अभी तक कनेक्शन दोबारा नहीं हुआ है। पराग नारायण का कहना है कि जेई उमा शंकर त्यागी से कई बार कह चुके हैं लेकिन अभी तक कनेक्शन नहीं मिला है।

बहुत लोग वापस जा चुके :

कार्यालय में अपने कनेक्शन के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए आए लवलेश ने बताया कि अभी कुछ देर पहले बहुत लोग थे, जो कि अपने कनेक्शन के विषय में जानकारी लेने आए थे। यहां एक्सईएन के न होने के कारण वह लोग वापस चले गए हैं।

कार्यालय में फैली हुई थी गंदगी :

कार्यालय में जगह-जगह गंदगी फैली हुई थी। स्टोर में कागज व फाइलें बेतरतीब तरीके से पड़ी थीं। साथ ही टूटी कुर्सी व अन्य निष्प्रयोज्य सामान पड़ा हुआ था। जब यह पूछा गया तो कर्मचारियों ने बताया यह स्टोर है इसलिए यहां सब रखा है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.