दूसरे डोज के गैप को पूरा करने में बरती जाए गंभीरता

सोमवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र स्थित मीटिग हाल में आयोजित समीक्षा बैठक में विभाग से जुड़ी विभिन्न योजनाओं की समीक्षा की गई। अब तक की प्रगति रिपोर्ट लेने के साथ आगे के कार्यों के लिए आवश्यक निर्देश दिए गए। मुख्य रूप से कोविड-19 के दूसरे डोज के गैप को पूरा करने में गंभीरता बरतने पर जोर दिया गया।

JagranMon, 20 Sep 2021 11:57 PM (IST)
दूसरे डोज के गैप को पूरा करने में बरती जाए गंभीरता

सिद्धार्थनगर : सोमवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र स्थित मीटिग हाल में आयोजित समीक्षा बैठक में विभाग से जुड़ी विभिन्न योजनाओं की समीक्षा की गई। अब तक की प्रगति रिपोर्ट लेने के साथ आगे के कार्यों के लिए आवश्यक निर्देश दिए गए। मुख्य रूप से कोविड-19 के दूसरे डोज के गैप को पूरा करने में गंभीरता बरतने पर जोर दिया गया।

बैठक में अधीक्षक डा. बीके वैद्य ने कहा कि कोरोना टीकाकरण में पहले और दूसरे डोज में अंतर आ रहा है। ये मामला गंभीर है। सभी एएनएम और सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी गांव-गांव आशा की मदद से ऐसे लाभार्थियों की खोज करें, जिनको पहली डोज लग गई है और निर्धारित समय पूरा होने के बाद अब तक दूसरी डोज नहीं लग पाई है। ऐसे लोगों का टीकाकरण कराएं। गोल्डन कार्ड बनाने की गति भी बहुत सुस्त है। इसमें भी तेजी लाई जाए। नियमित टीकाकरण में किसी प्रकार की उदासीनता न बरती जाए। कार्य क्षेत्र में जो तिथि निर्धारित है, उसमें टीका अवश्य लगाया जाए। कन्या सुमंगला योजना के तहत लाभार्थियों के फार्म जमा कराने के प्रति सभी लोग जागरूकता बरतें। जननी सुरक्षा योजना के कार्यों को भी सही ढंग से पूर्ण कराएं। जो लाभार्थी हों, उनके खाते में समय से धनराशि पहुंचाना सुनिश्चित कराएं। स्वास्थ्य विभाग से जुड़े इन कार्यक्रमों में किसी प्रकार की उदासीनता क्षम्य नहीं होगी।

बैठक के दौरान प्रथम तिमाही में गर्भवती महिलाओं का पंजीकरण, समस्त उपकरण और दवाओं की उपलब्धता, आयुष्मान भारत अभियान, सास-बहू सम्मेलन आदि बिदुओं पर समीक्षा की गई। ब्लाक कार्यक्रम प्रबंधक अनिल यादव, यूनिसेफ समन्वयक रिजवाना अंसारी, शिव शंकर वरूण, दुर्गेश गुप्ता, बृज किशोर, राम तीरथ चौधरी, अंबिका मौर्या, मंजू सिंह, रूबी, रीना तिवारी, अकांक्षा, प्रगति आदि उपस्थित रहे। सिरिज के अभाव में नहीं चला टीकाकरण महाअभियान

सिद्धार्थनगर : सोमवार को कोविड टीकाकरण को लेकर महा अभियान चलाया जाना था। इसके लिए इटवा ब्लाक क्षेत्र में कार्ययोजना भी बन चुकी थी। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सहित कुल 40 केंद्रों पर वैक्सीनेशन होना था। परंतु सिरिज के अभाव में टीकाकरण नहीं हो सका। लोगों को निराश लौटना पड़ा।

तीन दिन पहले 17 तारीख को बृहद अभियान था। उस दिन बारिश के कारण दिक्कतें हुईं। जबकि आज सीएचसी के अलावा तेनुआ, कठेला गर्वी, बगुलहवा, रमवापुर-बैरवा, पटना, महादेव, पिपरी, विशुनपुर, मूसा, पतिला, जमोहना, रानीजोत, चूहीग्रांट, अगया, विरवापुर, कठेला जनूबी, परसा, पिपरी महरी, संग्रामपुर, खुखुड़ी, बिदुआर, पिरैला, बेलहसा, अमौना, सेमरी, सेमरा, पचपेड़वा, अहिरौला, मदरहवा, सिकरी, महादेव घुरहू, बैरिहवा, चेचराफ, राजपुर डिहवा, अमहवा, सुहेलवा, कमिया, झकहिया, पंचमपुर में अभियान के तहत टीकाकरण शिविर लगना था। सभी केंद्रों पर 100-100 टीका, कुल चार हजार टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया था। इसके लिए स्वास्थ्य टीमों की जिम्मेदारी भी तय कर दी गई थी। बावजूद टीकाकरण शिविर नहीं लग सका।

इटवा सीएचसी पर महेंद्र, राजू, फूलमती, राम अजोर, ममता, रेखा, सुनोध, राम प्यारे आदि लोग कोरोना का टीका लगाने के लिए आए, परंतु पता चला कि आज टीकाकरण नहीं हो रहा है, जिसकी वजह से सभी को मायूस होकर वापस जाना पड़ा। सीएचसी अधीक्षक डा. बीके वैद्य ने बताया कि टीका तो उपलब्ध था, परंतु सिरिज न होने कारण दिक्कतें हुईं। सायं तक सिरिज पहुंच जाने की उम्मीद है, जिसके बाद कल से टीकाकरण कार्यक्रम चलेगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.