दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

सभासदों के नेतृत्व में निगरानी समिति करेगी काम

सभासदों के नेतृत्व में निगरानी समिति करेगी काम

ोरोना संक्रमण की भयावह स्थिति को देखते हुए उपजिलाधिकारी शिवमूर्ति सिंह ने निगरानी समिति की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि निगरानी समिति सभासदों के नेतृत्व में काम करेगी।निगरानी समिति में आशा आंगनबाड़ी व एक सफाईकर्मी घर घर जाकर लोगों के स्वास्थ्य संबंधी जानकारी लेंगे।

JagranSat, 15 May 2021 10:53 PM (IST)

सिद्धार्थनगर: कोरोना संक्रमण की भयावह स्थिति को देखते हुए उपजिलाधिकारी शिवमूर्ति सिंह ने निगरानी समिति की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि निगरानी समिति सभासदों के नेतृत्व में काम करेगी।निगरानी समिति में आशा, आंगनबाड़ी व एक सफाईकर्मी घर घर जाकर लोगों के स्वास्थ्य संबंधी जानकारी लेंगे। किसी प्रकार का लक्षण होने पर उनकी जांच कराएं और दवा का वितरण कराएं।सफाई कर्मी साफ- सफाई पर विशेष ध्यान दें। इसके अलावा एक अप्रैल से अबतक बड़े शहरों से आने वाले प्रवासियों को चिह्नित कर उनका डाटा तैयार करें और चिकित्साधिकारी के पास जमा करें। उन्होंने सभासदों, आशा व आंगनबाड़ी कार्यकर्ता से सक्रियता बढ़ाने की अपेक्षा की। उन्होंने निगरानी समिति से अपने-अपने वार्डो में लोगों को मास्क व सैनिटाइजर का प्रयोग करने और बिना जरूरत के घर से बाहर न जाने के प्रति जागरूक करने के निर्देश दिए। कोरोना पाजिटिव पाए जाने पर स्वास्थ्य विभाग की आरआरटी वहां पहुंचेगी और दवा की किट आदि उन्हें देगी,लोगों को घबराने व अफवाह पर ध्यान देने की जरूरत नहीं है। इस दौरान जगदम्बा तिवारी, रवि अग्रवाल, संजीव जयसवाल, मनोज गुप्ता आदि मौजूद रहे। बढ़ेगा तापमान, गर्मी दिखाएगी असर सिद्धार्थनगर : बीते सप्ताह तापमान में आई गिरावट व बारिश के चलते मौसम राहत भरा रहा। मगर इधर मौसम की ओर से जारी एडवाइजरी में अगले पांच दिनों में तापमान में बढ़ोतरी की संभावना जताई गई है। जिसके कारण गर्मी एकबार फिर अपना असर दिखाना शुरू करेगी।

मौसम विज्ञानी सूर्य प्रकाश सिंह ने कहा कि पांच दिनों में बारिश होने की कोई उम्मीद नहीं है। कभी-कभी आसमान में बादल छाए रह सकते हैं। अधिकतम तापमान 36 से 37 व न्यूनतम तापमान 22 से 26 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है। अधिकतर पूर्वी हवा चलेगी, जिसकी गति 09 से 11 किलोमीटर प्रति घंटा रह सकती है।

कृषि वैज्ञानिक डा. एसएन सिंह ने बताया कि बरसात में बोई जाने वाली अगेती सब्जियों की बोआई के लिए यह मौसम बहुत अनुकूल है, इसकी तैयारी किसानों को शुरू कर देनी चाहिए। अगेती सब्जियों से प्राप्त उपज को बाजार में बेचकर किसान अधिक लाभ कमा सकते हैं। इस समय अदरक और हल्दी की खेती भी की जा सकती है। किसान अपने खेत में नरेंद्र हल्दी एक और दो, मधुकर, राजेंद्र इत्यादि हल्दी की प्रजाति की बोआई करें। साथ ही साथ अदरक की प्रजाति सुप्रभा, सुरुचि, सुरभि, हिमगिरी आदि की बोआई के लिए भी यह समय काफी उपयुक्त है। पिछले दिनों बारिश होने के कारण सब्जियों में कीट एवं रोग की बढ़ने की संभावना है, इसलिए किसान बराबर खेतों का निरीक्षण करते रहें, कीट का प्रकोप दिखाई दे तो बचाव के इंतजाम करें।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.