क्षमता से आधा कनेक्शन, फिर भी बिजली नहीं

सिद्धार्थनगर बिजली की आपूर्ति पटरी से उतर गई है। हालत यह है कि जनपद मुख्यालय पर सुबह से श्

JagranSun, 01 Aug 2021 09:47 PM (IST)
क्षमता से आधा कनेक्शन, फिर भी बिजली नहीं

सिद्धार्थनगर: बिजली की आपूर्ति पटरी से उतर गई है। हालत यह है कि जनपद मुख्यालय पर सुबह से शाम तक करीब सौ बार से अधिक बार बिजली कट रही है। कटौती को लेकर हाहाकार मचा हुआ है। रविवार को शायद ही कोई ऐसा समय आया हो जब उपभोक्ताओं को निर्वाध गति से आधे घंटे बिजली की आपूर्ति हुई हो। उमस भरी गर्मी में हो रही कटौती का आलम यह है कि उपभोक्ता रात में सड़कों पर टहलने को मजबूर हैं। तमाम शिकायतों के बावजूद विभाग आपूर्ति व्यवस्था की खामियों को दूर कर पाने में विफल साबित हो रहा है। नौगढ़ शहर को दो उपकेंद्रों से बिजली की सप्लाई होती है। रेलवे लाइन के उत्तरी छोर में रेहरा फीडर से बिजली दी जा रही है। जबकि दक्षिणी हिस्से में नौगढ़ उपकेंद्र से बिजली मिलती है। दोनों उपकेंद्रों की क्षमता 30 हजार कनेक्शन देने की है। दोनों केंद्रों पर 15773 उपभोक्ता ही जुड़े हैं। बावजूद इसके चरमराई बिजली की आपूर्ति ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं।

सरकार बिजली की आपूर्ति को लेकर गंभीर है। उपभोक्ताओं को तय शेड्यूल से बिजली देने का निर्देश दिया है। पर इसका असर शहर से सटे बिजली उपकेंद्र रेहरा पर नहीं है। इस उपकेंद्र से जनपद मुख्यालय के आधे हिस्से को बिजली मिलती है। शहर के उपभोक्ता पंकज,अशोक, रमेश, धीरेंद्र आदि का कहना है कि पहले शहर के उत्तरी हिस्से को नौगढ़ उपकेंद्र से बिजली मिलती थी। बीच में रेलवे लाइन होने के कारण कभी कभार आपूर्ति में समस्या होती थी। विभाग ने पिछले वर्ष रेहरा में बने उपकेंद्र से इस हिस्से को जोड़ दिया। तभी से आपूर्ति व्यवस्था एकदम से लड़खड़ा गई है। जब भी फोन पर अधिकारियों से जानकारी मांगी जाती है तो लाइन फाल्ट की जानकारी मिलती है। शायद ही कोई ऐसा दिन हो जब 20 घंटे से अधिक बिजली मिली हो।

.....

नौगढ़ उपकेंद्र की क्षमता 20 एमबीए की है। इस उपकेंद्र से 20 हजार उपभोक्ताओं को जोड़ा जा सकता है। जबकि इससे लगभग नौ हजार ग्राहक ही जुड़े हुए हैं। इसी तरह रेहरा की क्षमता 10 हजार उपभोक्ताओं की है। यहां से मात्र छह हजार कनेक्शन ही चल रहा है।

.......

रेहरा उपकेंद्र से जुड़े उपभोक्ताओं को बिजली आपूर्ति की समस्या है। इसके पीछे लाइन के आसपास पेड़-पौधों को अधिक होना है। काफी काम कराया गया है। जल्द ही बेहतर आपूर्ति का प्रबंध किया जाएगा।

एके श्रीवास्तव, अधीक्षण अभियंता सिद्धार्थनगर

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.