शिविर में छह सौ मरीजों का हुआ निश्शुल्क इलाज

गौरा चौराहे पर बुधवार को निश्शुल्क स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया। छह सौ मरीजों का जांच कर दवा वितरित किया गया। डाक्टर सरफराज अंसारी के नेतृत्व में टीम ने लोगों को स्वास्थ्य के प्रति सतर्क रहने को कहा।

JagranWed, 01 Dec 2021 10:18 PM (IST)
शिविर में छह सौ मरीजों का हुआ निश्शुल्क इलाज

सिद्धार्थनगर: गौरा चौराहे पर बुधवार को निश्शुल्क स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया। छह सौ मरीजों का जांच कर दवा वितरित किया गया। डाक्टर सरफराज अंसारी के नेतृत्व में टीम ने लोगों को स्वास्थ्य के प्रति सतर्क रहने को कहा।

डा. सरफराज ने कहा की मौसम में तेजी से बदलाव हो रहा है। अधिकतर लोग सर्दी, जुकाम, बुखार व पेट की बिमारियों के चपेट में आ रहे हैं। अपने आसपास सफाई रखें। गर्म पानी व ताजे भोजन का सेवन करें। सिशनिया , परसा ,कुल्हुवा , परैया , मस्जिदिया , मंझरिया शिवपुर आदि के गांव के लोगों ने कैंप का लाभ उठाया। डा. मक्की हसन , डा. मोहम्मद शादाब अंसारी , डा. सूरज , डा. रोशन खान आदि मौजूद रहे।

सर्विलांस की मदद से कोविड पाजिटिव तक पहुंचने की जुगत में महकमा

सिद्धार्थनगर: बांसी कस्बा निवासी एक युवक सोमवार को गोरखपुर स्थित जिला अस्पताल में कोरोना संक्रमित पाया गया था। उसे मेडिकल कालेज रेफर कर दिया गया, वह मेडिकल कालेज न जाकर बीच से ही गायब हो गया है। अब स्वास्थ्य विभाग संक्रमित का घर ढूढ़ने में जुट गया है। पर्चे पर पता सही न होने की वजह से उसका मोबाइल नंबर पुलिस की मदद से सर्विलांस पर लगवाया गया है। मंगलवार की दोपहर तक उसका लोकेशन कस्बे के आर्यनगर मोहल्ले में पाया गया है। इसके पश्चात मोबाइल बंद बता रहा है। जिसकी वजह से दूसरे दिन बुधवार तक उसकी खोज पूरी नहीं हो पाई है।

विदेशों में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने तैयारियां तेज कर दी है। बाहर से आए शोहरतगढ़ तहसील क्षेत्र के दो लोगों को होम क्वारंटाइन करते हुए उनकी निगरानी के लिए एएनएम एवं आशा कार्यकर्ताओं को लगाया गया है। सर्दी, जुकाम या बुखार होने पर इनकी कोविड जांच कराई जाएगी। फिलहाल अभी तक दोनों व्यक्तियों में कोरोना से जुड़ा कोई लक्षण नहीं पाया गया है।

देश के बाहर से आने वालों पर निगाह रखी जा रही है। दो व्यक्तियों को होम क्वारंटाइन किया गया है। एसीएमओ व नोडल कोरोना डा. सौरभ चतुर्वेदी ने कहा कि बांसी कस्बा निवासी संक्रमित मिले व्यक्ति के पहचान के लिए स्वास्थ्यकर्मियों की मदद ली जा रही है। पाजिटिव मिले व्यक्ति का मोबाइल नंबर सर्विलांस पर लगवाया गया है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.