फर्जी शिक्षकों के लंबित विवेचना को जल्द करें पूर्ण

सिद्धार्थनगर अपर पुलिस अधीक्षक सुरेश चंद्र रावत ने गुरुवार को पुलिस लाइन सभागार में फर्जी शिक्ष्

JagranFri, 17 Sep 2021 12:49 AM (IST)
फर्जी शिक्षकों के लंबित विवेचना को जल्द करें पूर्ण

सिद्धार्थनगर : अपर पुलिस अधीक्षक सुरेश चंद्र रावत ने गुरुवार को पुलिस लाइन सभागार में फर्जी शिक्षक मामलों की समीक्षा की। लंबित मामलों में जल्द कार्रवाई पूर्ण करने के लिए निर्देशित किया। दर्ज सभी मुकदमा में चार्जशीट दाखिल करने के लिए कहा।

एएसपी ने कहा कि फर्जी अभिलेखों के आधार पर नौकरी प्राप्त करने वाले शिक्षकों पर पुलिस मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई कर रही है। कई ऐसे भी शिक्षक हैं, जिनके खिलाफ अभी तक कार्रवाई नहीं हो सकी है। इनके खिलाफ जल्द कार्रवाई की जाए। इन मामलों की शासन स्तर पर निगरानी की जा रही है। फर्जी अभिलेख के आधार पर भर्ती के कुल 103 प्रकरण दर्ज हैं। 70 मामलों में विवेचना पूर्ण करते हुए चार्जशीट न्यायालय भेजी जा चुकी है द्य 33 प्रकरण में अभी भी विवेचना चल रही है। जिसमें विवेचनाधिकारी फर्जी अभिलेख को मूल कार्यालय से प्रमाणित करा रहे हैं। 30 सितंबर तक सभी मुकदमा की विवेचना पूर्ण करके विधिक कार्रवाई पूरी करनी है। बेसिक शिक्षा कार्यालय से 103 फर्जी शिक्षकों के आहरित वेतन का आगणन करते हुए वसूली की कार्रवाई भी की जाएगी। अभी तक इन आरोपितों के खिलाफ वसूली का नोटिस भी जारी नहीं हुई है। इस संबंध में शिक्षा विभाग से विवेचक पत्राचार करें। एक सप्ताह में ऐसे फर्जी शिक्षक जिनसे वेतन की वसूली किया जाना है, उनसे संबंधित कागजात पुलिस के पास होने चाहिए। अगर फर्जी नियुक्ति के बाद अगर आहरित वेतन वापस राजकीय कोष में जमा किया जाता है तो संबंधित आरोपित के खिलाफ गबन की भी धारा बढ़ाई जाएगी। सीओ सदर प्रदीप कुमार यादव के साथ सभी विवेचक मौजूद रहे। दो दिनों में उठी दो बाइक, नहीं लगा सुराग सिद्धार्थनगर : वाहन चोरी के मामले में पुलिस की कार्य प्रणाली पर सवाल उठ रहे हैं। अभी एक पखवारे के अंदर कोतवाली ने दो बाइक चोरों को चार चोरी के वाहनों के साथ व चार दिन वाद ही एसओजी टीम ने दस वाहनों के साथ तीन को दबोचा था। बावजूद वाहन चोरी का सिलसिला रुक नहीं रहा। दो दिनों के अंदर दिनदहाडे़ दो बाइक फिर उठ गईं। पर एक का भी पता नहीं लग सका।

गुरुवार दोपहर करीब दो बजे कोतवाली के ग्राम गौरा निवासी बुद्धिराम नई तहसील में बाइक से एक मुकदमे की पैरवी में आए थे। वाहन को खड़ा कर वह अपने अधिवक्ता से वार्ता करने लगे। कुछ देर बाद लौटे तो देखा उनकी बाइक गायब है। पहले खोजबीन किया फिर कोतवाली पहुंच मामले की तहरीर दिया। पुलिस जांच पड़ताल में जुटी हुई है। इसी प्रकार मंगलवार की दोपहर किराना व्यवसायी मनोज कुमार साहू रोडवेज स्थित अपने दुकान से अशोक नगर वार्ड स्थित अपने आवास पर खाना खाने गए थे। बाइक घर के बाहर सड़क के किनारे खड़ी किए थे घर के अंदर से निकले तो बाइक गायब थी। कोतवाल छत्रपाल सिंह का कहना है कि मामला संज्ञान में है। जांच पड़ताल की जा रही है। जल्द ही बाइक चोरों को तक पुलिस पहुंच जाएगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.