यातायात नियमों की अनदेखी करने से हो रही दुर्घटनाएं

यातायात नियमों की अनदेखी करने से हो रही दुर्घटनाएं

शुक्रवार को शहर में दिखा जहां चालक नियम -कानून तोड़ते नजर आए। जिन्हें कोई रोक-टोकने वाला नहीं दिखा। सच्चाई तो यह है कि यातायात माह में पुलिस सिर्फ कोरम पूरा कर रही है। एआरटीओ प्रवर्तन दल भी वाहन जांच के नाम पर खानापूरी करता है। पुलिस मार्ग दुर्घटनाओं को लेकर वह गंभीर नहीं है। सड़कों पर डग्गामार वाहन बेखौफ फर्राटा भर रहे हैं।

Publish Date:Fri, 27 Nov 2020 11:25 PM (IST) Author: Jagran

सिद्धार्थनगर : वाहन चालकों को यातायात नियमों की परवाह नहीं है। शहर से गांव तक ट्रैक्टर-ट्राली का प्रयोग सवारी लेकर चलने में किया जा रहा है। बिना हेलमेट बाइक पर तीन-चार सवार का प्रचलन तेजी से बढ़ा है। युवा तो पुलिस के सामने फर्राटा भरते निकल जाते हैं और पुलिस देखती रह जाती है।

यह नजारा शुक्रवार को शहर में दिखा, जहां चालक नियम -कानून तोड़ते नजर आए। जिन्हें कोई रोक-टोकने वाला नहीं दिखा। सच्चाई तो यह है कि यातायात माह में पुलिस सिर्फ कोरम पूरा कर रही है। एआरटीओ प्रवर्तन दल भी वाहन जांच के नाम पर खानापूरी करता है। पुलिस मार्ग दुर्घटनाओं को लेकर वह गंभीर नहीं है। सड़कों पर डग्गामार वाहन बेखौफ फर्राटा भर रहे हैं। इन वाहनों के फिटनेस की जांच की जहमत कोई नहीं उठाता। वाहन चालक नशा की स्थिति में तेज रफ्तार से चल रहे हैं। ओवर लोडेड वाहन, ट्रैक्टर व ट्राली और जुगाड़ गाड़ी पर कोई रोक नहीं लग सकी है। सड़कों पर आधे-अधूरे निर्माण कार्य भी वजह बन रहे हैं। कार्यदायी संस्था ने यहां पर किसी प्रकार का दिशा संकेतक भी नहीं लगाया है। 16 नवंबर को सदर थाना क्षेत्र के भरवलिया गांव के पास तेज रफ्तार कार पुलिया से टकरा कर पलट गई थी। कार में कपिलवस्तु कोतवाली के रक्सेल गांव निवासी दस लोग सवार रहे। घटना में सात लोगों की मौत हो गई थी।

तीन वर्ष का दुघर्टना तुलानात्मक आंकड़ा वर्ष संख्या

2018 101

2019 123

2020 99

नोट: यह आंकड़ा सितंबर तक का है।

8689 वाहनों से वसूल किया 1.28 करोड़ जुर्माना

यातायात माह में पुलिस ने 8689 वाहनों का चालान किया है। इसमें 5264 दो पहिया व 3425 बड़े वाहन शामिल हैं। पुलिस ने इनसे एक करोड़ 28 लाख 86 हजार 200 रुपये जुर्माना वसूल किया गया है।

एसपी राम अभिलाष त्रिपाठी ने कहा कि यातायात माह में वाहन चालकों को नियम की जानकारी दी जा रही है। इन्हें जागरूक किया जा रहा है। उल्लघंन करने वाले चालकों पर अर्थदंड भी लगाया जाता है। थोड़ी सी लापरवाही बड़ी घटना का स्वरूप ले लेती है। लोगों को नियम का पालन करना चाहिए।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.