3166 लोगों को लगी वैक्सीन, 2700 डोज मिली

जिले में मंगलवार को 24 बूथों पर कोरोनारोधी वैक्सीन लगाई गई। अधिकतर बूथों पर भीड़ रही। लक्ष्य 3950 के टीकाकरण का था और इसके सापेक्ष 3166 लोगों को वैक्सीन लगी। वहीं कोविशील्ड की 2700 डोज जिले को मिल गई हैं।

JagranPublish:Tue, 10 Aug 2021 10:44 PM (IST) Updated:Tue, 10 Aug 2021 10:44 PM (IST)
3166 लोगों को लगी वैक्सीन, 2700 डोज मिली
3166 लोगों को लगी वैक्सीन, 2700 डोज मिली

शामली, जागरण टीम। जिले में मंगलवार को 24 बूथों पर कोरोनारोधी वैक्सीन लगाई गई। अधिकतर बूथों पर भीड़ रही। लक्ष्य 3950 के टीकाकरण का था और इसके सापेक्ष 3166 लोगों को वैक्सीन लगी। वहीं, कोविशील्ड की 2700 डोज जिले को मिल गई हैं। हालांकि बुधवार के लिए बूथ कम किए गए हैं।

18 से 44 वर्ष आयु वर्ग में 17 बूथ रहे और 2950 के टीकाकरण का लक्ष्य था। 2345 को टीका लगा। 2057 को पहली और 288 को दूसरी डोज लगी। लक्ष्य के सापेक्ष 79.49 फीसद टीकाकरण हुआ। 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग में सात बूथों पर एक हजार लोगों को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य रखा गया था। 821 लोगों का टीकाकरण हुआ। 521 को पहली और 300 को दूसरी डोज लगी। लक्ष्य के सापेक्ष 82.10 फीसद टीकाकरण हुआ। बुधवार के लिए 17 बूथ बनाए गए हैं। 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग में में 11 और 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग में छह बूथ पर टीकाकरण होगा। दरअसल, रविवार को वैक्सीन की 14 हजार डोज मिली थी, जो एक सप्ताह के लिए दी गई थी। हालांकि मंगलवार को कोविशील्ड की 2700 डोज मिली हैं, लेकिन यह बहुत अधिक नहीं हैं। ऐसे में बूथों की संख्या कम की गई है। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. राजकुमार सागर ने बताया कि वैक्सीन की लगातार ही मिल रही है। हालांकि कभी-कभी बूथ घटाने पड़ते हैं, जिससे टीकाकरण बीच में न रुके। जिले में अब कोरोना का कोई सक्रिय केस नहीं

जागरण संवाददाता, शामली: जिले में मंगलवार को कोरोना संक्रमण का कोई केस नहीं मिला है। एक मरीज के स्वस्थ होने के बाद अब कोई सक्रिय केस नहीं बचा है। संक्रमितों की कुल संख्या 12903 है और 12858 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं।

अप्रैल-मई में कोरोना का प्रकोप सर्वाधिक रहा था। इसके बाद प्रकोप कम होता चला गया। 18 जुलाई को कोविड अस्पताल में भर्ती एक मरीज डिस्चार्ज हो गए थे और कोई सक्रिय केस नहीं मिला था। हालांकि दो दिन बाद दो केस मिल गए थे। इसके बाद भी कुछ केस मिले। जिलाधिकारी जसजीत कौर ने बताया कि अब कोई सक्रिय केस नहीं है। मंगलवार को भी 2300 से अधिक लोगों की जांच हुई। 40 से 50 फीसद सैंपल आरटी-पीसीआर जांच को भेजे जाते हैं।