योगी सरकार की सौगात से खिले किसानों के चेहरे

योगी सरकार ने किसानों को तोहफा दिया है और जिले के किसानों के चेहरे भी खिल गए हैं। सरकार ने गन्ने के राज्य परामर्शित मूल्य (एसएपी) में 25 रुपये प्रति कुंतल की बढ़ोत्तरी की है साथ ही बिजली बिल के बकाये पर ब्याज माफ करने की घोषणा की है।

JagranSun, 26 Sep 2021 09:06 PM (IST)
योगी सरकार की सौगात से खिले किसानों के चेहरे

शामली, जागरण टीम। योगी सरकार ने किसानों को तोहफा दिया है और जिले के किसानों के चेहरे भी खिल गए हैं। सरकार ने गन्ने के राज्य परामर्शित मूल्य (एसएपी) में 25 रुपये प्रति कुंतल की बढ़ोत्तरी की है, साथ ही बिजली बिल के बकाये पर ब्याज माफ करने की घोषणा की है।

किसानों का कहना है कि योगी सरकार ने किसानों के हित में बड़ा फैसला लिया है। इससे किसानों की आमदनी भी बढ़ेगी और बिजली बिल के बकाये का भार भी बहुत कम हो जाएगा। बता दें कि एसएपी अगेती प्रजाति का 325, सामान्य प्रजाति का 315 और अनुपुयक्त प्रजाति का 310 रुपये प्रति कुंतल था। बढ़ोत्तरी के बाद पेराई सत्र 2021-22 में एसएपी क्रमश: 350, 340, 335 रुपये प्रतिकुंतल रहेगा। बोले किसान

किसानों के हित में लिए गए सरकार के निर्णय का स्वागत है। गन्ने का भाव 25 रुपये बढ़ा है तो निश्चित रूप से किसानों की आमदनी भी बढ़ेगी। यह बढ़ोत्तरी कम नहीं है।

-सेवाराम सैनी, जलालाबाद सरकार के किसानों के प्रति गंभीर है। गन्ना मूल्य में वृद्धि के साथ बिजली बिल के बकाये पर ब्याज माफ करने का फैसला भी लिया है। किसानों को बड़ी राहत मिलेगी।

-शिवकुमार, जलालाबाद सरकार ने किसानों की सुनी है और यह बड़ी खुशी की बात है। यह भी अच्छा रहा कि पेराई सत्र से पहले ही घोषणा हो गई। मुख्यमंत्री बकाया भुगतान शीघ्र कराने की बात पहले ही कह चुके हैं।

-सतेंद्र सैनी, मुल्लापुर किसानों को फसलों का वाजिब दाम मिल जाए, और क्या चाहिए। कुछ दिन पहले केंद्र सरकार ने रबी फसलों का एमएसपी बढ़ाया था और प्रदेश सरकार ने गन्ने के भाव भी बढ़ा दिया।

-कृष्णपाल सिंह, थानाभवन सरकार ने तीनों प्रजाति अगेती, सामान्य, अनुपुयक्त में 25-25 रुपये बढ़ाकर किसानों को बड़ी राहत दी है। बिजली बिल के बकाये पर ब्याज भी अब माफ हो जाएगा।

-ओमप्रकाश शर्मा, लाव्वा दाउदपुर मुख्यमंत्री ने पहले ही कह दिया था कि इस बार गन्ना मूल्य बढ़ाया जाएगा। ऐसे में हम आश्वस्त थे। दाम में वृद्धि जरूरी थी, क्योंकि उत्पादन की लागत व महंगाई बढ़ी है।

-सुशील गोयल, गढ़ीपुख्ता किसान थोड़ा अधिक दाम बढ़ाने की मांग कर रहे थे, लेकिन सरकार ने जो भी वृद्धि की है, वह संतोषजनक है। बिजली बिल के बकाये का ब्याज करने भी सरकार का बड़ा फैसला है।

-सुखमाल सिंह, गढ़ीपुख्ता किसान बिजली का बिल जमा नहीं कर पाते थे। ऐसे में ब्याज लगकर धनराशि बहुत अधिक हो जाती है। सरकार ने ब्याज को माफ करने का फैसला लेकर बड़ी सौगात दी है।

- संजय पंवार, कैराना हमारे क्षेत्र में प्रमुख फसल गन्ना ही है। 25 रुपये प्रति कुंतल की बढ़ोत्तरी भी कम नहीं है। हमें पूरी उम्मीद है कि भुगतान की व्यवस्था में भी सरकार सुधार करेगी।

-जगदीश चौहान, कैराना गन्ना मूल्य में हुई बढ़ोत्तरी संतोषजनक है। मुख्यमंत्री ने जो कहा था, वह कर दिया है। उम्मीद है कि आगे भी सरकार किसानों के हित में निर्णय लेती रहेगी।

-देवेंद्र सिंह, ऊदपुर

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.