मेरठ-करनाल हाईवे पर भाकियू का चक्का जाम

मेरठ-करनाल हाईवे पर भाकियू का चक्का जाम

शामली जेएनएन हाल ही में पारित हुए कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली जा रहे किसानों ने शुक्रवार को मेरठ-करनाल हाईवे पर चक्का जाम किया। झिझाना के गाड़ीवाला चौक पर प्रदर्शन के दौरान पुलिस और प्रशासनिक अफसरों से वार्ता के बाद किसानों ने दिल्ली कूच रद कर दिया।

Publish Date:Fri, 27 Nov 2020 10:57 PM (IST) Author: Jagran

शामली, जेएनएन : हाल ही में पारित हुए कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली जा रहे किसानों ने शुक्रवार को मेरठ-करनाल हाईवे पर चक्का जाम किया। झिझाना के गाड़ीवाला चौक पर प्रदर्शन के दौरान पुलिस और प्रशासनिक अफसरों से वार्ता के बाद किसानों ने दिल्ली कूच रद कर दिया। इसके बाद किसान अपने घरों को चले गए। भाकियू का कहना है कि शनिवार को किसान मेरठ में एकत्र होंगे। यहीं पर आगे की रणनीति बनाई जाएगी। किसानों के जाम के कारण हाईवे पर दोनों ओर वाहनों की लंबी लाइन लग गई। यात्री किसानों और पुलिस से अपने वाहन निकलवाने की गुहार लगाते रहे।

जामस्थल पर भाकियू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मेनपाल चौहान ने कहा कि आज किसान पीड़ा से गुजर रहा है। सरकार और प्रशासन उनकी बात नहीं सुन रहा है। फसल का वाजिब दाम मिल रहा है और न ही बकाया भुगतान। किसान मुसीबत में है और वह कुछ भी कर सकता है। प्रदेश प्रवक्ता कुलदीप पंवार ने कहा कि मनमाने कानून लागू किए जा रहे हैं। अपनी बात रखने वाले किसानों पर लाठीचार्ज किया जा रहा है। जिलाध्यक्ष शामली कपिल खाटियान ने कहा कि किसान बच्चों की फीस और शादियों के लिए आर्थिक तंगी से जूझ रहा है। इस दौरान आई बरात की एक बस और एंबूलेंस को किसानों ने रास्ता दिया। भाकियू पदाधिकारियों ने कहा कि हमारा मकसद किसी को परेशान करना नहीं है।

भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने दिल्ली जाने की घोषणा की तो सभी किसान धरनास्थल से शामली की ओर पैदल चल दिए। इस दौरान किसान नेताओं ने 200 किसानों के साथ गिरफ्तारी देने का दावा किया, लेकिन पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने गिरफ्तारी की पुष्टि नहीं की। पुलिस ने रोका तो किसान धरने पर बैठ गए। एसडीएम ऊन मणि अरोड़ा ने किसानों से कोविड-19 के चलते दिल्ली कूच नहीं करने को कहा। कुछ देर बाद ही एसपी नित्यानंद राय भी वहां पहुंच गए। उन्होंने भी किसानों से बात की और दिल्ली कूच रद कर दिया गया ।

भाकियू जिलाध्यक्ष कपिल खाटियान और भाकियू मंडल अध्यक्ष भंवर सिंह तोमर ने बताया कि राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत अभी मेरठ रुके हैं। जिले से किसान शनिवार को मेरठ जाएंगे। कुलदीप पंवार प्रदेश प्रवक्ता, संजीव राठी जिला उपाध्यक्ष, मनव्वर हसन ब्लाक अध्यक्ष युवा कैराना, दीपक शर्मा ब्लाक अध्यक्ष शामली, योगेंद्र पंवार नगर अध्यक्ष शामली, अजित निर्वाल मौजूद रहे। इनका कहना है

कोविड-19 की भयावहता देखते हुए किसानों और उनके परिवारों की सेहत-सुरक्षा को देखते हुए उनसे दिल्ली नहीं जाने का अनुरोध किया था। विचार विमर्श के बाद किसान भी इससे सहमत हो गए। इसके बाद उन्होंने दिल्ली जाने का निर्णय स्थगित कर दिया।

मणि अरोड़ा, एसडीएम ऊन

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.