न छोड़िए सावधानी का साथ, खानपान का भी रखें ध्यान

कोरोना का प्रकोप शुरू होने से लेकर अब तक यही कहा जा रहा है कि सावधानी ही बचाव है। साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए खानपान का ध्यान रखना और जीवनशैली को संतुलित रखना भी जरूरी है। हालांकि कोरोना संक्रमण के केस कुछ कम हुए तो लोगों ने लापरवाही शुरू कर दी।

JagranSun, 21 Mar 2021 11:06 PM (IST)
न छोड़िए सावधानी का साथ, खानपान का भी रखें ध्यान

शामली, जागरण टीम। कोरोना का प्रकोप शुरू होने से लेकर अब तक यही कहा जा रहा है कि सावधानी ही बचाव है। साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए खानपान का ध्यान रखना और जीवनशैली को संतुलित रखना भी जरूरी है। हालांकि कोरोना संक्रमण के केस कुछ कम हुए तो लोगों ने लापरवाही शुरू कर दी। इससे संक्रमित होने का खतरा है और संक्रमण की चेन भी बढ़ सकती है।

कोरोना को हल्के में न लें। लापरवाही भारी पड़ सकती हैं। पहले की तरह शारीरिक दूरी बनानी होगी। संकल्प लेना होगा कि मास्क लगाए बिना बाहर नहीं निकलेंगे। सावधानी बरतें और खानपान का भी ध्यान रखें। देश में बढ़ते संक्रमण के मामलों को हमें गंभीरता से लेना होगा। समय पर खाना खाएं। फलों, सलाद का सेवन भरपूर करें।

- डा. अकबर खान, अध्यक्ष, आइएमए कोरोना काल में हम स्वास्थ्य के प्रति सजग हुए हैं। सजगता को बनाए रखने की जरूरत है। सुबह गुनगुने पानी में नींबू और थोड़ा शहद मिलाकर सेवन करें। नियमित योग-व्यायाम भी अवश्य करें। मास्क लगाने, शारीरिक दूरी के पालन, हाथों की सफाई से हम कोरोना के साथ ही अन्य कई बीमारियों से भी बचे रहेंगे। घबराएं नहीं, लेकिन सतर्क रहना जरूरी है।

-डा. विजेंद्र, चिकित्सक गुनगुना पानी पिएं। एक कप काढ़े का सेवन भी फायदेमंद है। रात को भूख से कुछ कम खाएं और पर्याप्त नींद लें। योग-व्यायाम जरूर करें। तनाव से दूर रहेंगे और शारीरिक रूप से स्वस्थ बने रहेंगे। तला-भुना और मसालेदार भोजन से परहेज करें। आंवला, नींबू, संतरा, अनानास जैसे फलों का सेवन नियमित करें।

-डा. राज तायल, आयुर्वेदिक चिकित्सक

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.