सुर्कलर नहीं बता सके पुलिसकर्मी, लूट की धारा बताने में भी हड़बड़ाए

महिला व साइबर अपराध को रोकने के लिए जारी किया गया डीजीपी का नया सुर्कलर पुलिसकर्मी सही से याद नहीं कर सके हैं। शनिवार को सदर बाजार थाने पहुंचे एडीजी जोन बरेली अविनाश चंद्र के पूछने पर कई पुलिसकर्मी ठीक से जवाब नहीं दे सके। लूट व चोरी में लगने वाली धारा बताने में भी हड़बड़ा गए

JagranSun, 26 Sep 2021 12:29 AM (IST)
सुर्कलर नहीं बता सके पुलिसकर्मी, लूट की धारा बताने में भी हड़बड़ाए

जेएनएन, शाहजहांपुर : महिला व साइबर अपराध को रोकने के लिए जारी किया गया डीजीपी का नया सुर्कलर पुलिसकर्मी सही से याद नहीं कर सके हैं। शनिवार को सदर बाजार थाने पहुंचे एडीजी जोन बरेली अविनाश चंद्र के पूछने पर कई पुलिसकर्मी ठीक से जवाब नहीं दे सके। लूट व चोरी में लगने वाली धारा बताने में भी हड़बड़ा गए।

एसपी एस आनंद के साथ थाने में हुए समाधान दिवस में पहुंचे एडीजी ने कुछ फरियादियों की खुद समस्याएं सुनीं। उसके बाद उन्होंने डीजीपी मुकुल गोयल की ओर से कानून व्यवस्था को बेहतर करने के लिए जारी किए गए नये सुर्कलर के बारे में पुलिसकर्मियों से पूछा। तो वे चुप्पी साध गए। प्रभारी निरीक्षक अशोक पाल सिंह से लंबित व निस्तारित हुईं विवेचनाओं के बारे में जानकारी ली। कहा कि अधीनस्थों की कार्यशैली में सुधार कराएं। एडीजी ने कहा कि महिला अपराध व साइबर अपराध को रोकने के लिए जो विभाग की ओर से प्रयास किए जा रहे है। उसका पालन हर पुलिसकर्मी कराएं। लूट व चोरी का अंतर बताने में अटक गए सबसे अच्छे पुलिसकर्मी

एडीजी ने थाने में सबसे अच्छी कार्यशैली वाले दारोगा व सिपाहियों के बारे में पूछा तो प्रभारी निरीक्षक ने वरिष्ठ उप निरीक्षक अजयवीर सिंह, अशफाकनगर चौकी प्रभारी जयचंद्र गिरि व शहबाजनगर चौकी प्रभारी अमित कुमार व थाने में तैनात कांस्टेबल नरेश कुमार को बुलाया। जब इन लोगों से भी लूट, चोरी की धाराओं के अंतर के बारे में पूछा तो वे लोग भी अटक गए। थाने के स्टाफ के बारे में पूछने पर प्रभारी निरीक्षक ने 119 की संख्या बताई, जिस पर एडीजी ने 100 पुलिसकर्मियों के नाम कागज पर लिखकर देने के लिए कहा। हालांकि सूची पूरी होने से पहले एडीजी वहां से चले गए। फोन पर करें बात

सदर थाने का विवेचना रजिस्टर देखने के बाद एडीजी ने सीओ सिटी सरवणन टी को निर्देश दिए कि कम से कम दस मोबाइल नंबर पर फोन कर संबंधित से बात करें। यदि वह पूरी तरह से संतुष्ट नहीं है तो दोबारा जांच कराएं। एडीजी की पत्नी ने किया कैफे का उद्घाटन

पुलिसकर्मियों व उनके स्वजन को रेस्टोरेंट की सुविधा लाइन में ही मिल सके इसके लिए एसपी एस आनंद ने वहां पुलिस कैफे बनवाया है। जिसका उद्घाटन एडीजी की पत्नी स्मिता वर्मा ने किया। इसके बाद एडीजी ने महिला बैरक, वीआइपी रूम आदि का निरीक्षण किया। इस मौके पर एएसपी सिटी संजय कुमार, एएसपी ग्रामीण संजीव कुमार वाजपेयी, सीओ सदर प्रवीण कुमार, सीओ तिलहर परमानंद पांडेय आदि मौजूद रहे। अधिकारियों के साथ की मीटिग

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के 28 सितंबर को जिले में आने की संभावना है। ऐसे में एडीजी ने एसपी एस आनंद समेत सभी पुलिस के अधिकारियों के साथ मीटिग भी की। बड़ी घटनाओं के समय से राजफाश होने पर एसपी की सराहना भी की।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.