शाहजहांपुर में जलालाबाद, कलान में हालात बदतर, तिलहर में हालात स्थिर

खतरे के निशान से ऊपर बह रही गर्रा रामगंगा तथा गंगा नदी की बाढ़ से अब शहर समेत जलालाबाद तथा कलान क्षेत्र में हालात बदतर हैं। मिर्जापुर विकास खंड के करीब 22 गांव रामगंगा की बहगुल की बाढ़ से टापू बन गए हैं

JagranMon, 25 Oct 2021 12:49 AM (IST)
शाहजहांपुर में जलालाबाद, कलान में हालात बदतर, तिलहर में हालात स्थिर

जेएनएन, शाहजहांपुर : खतरे के निशान से ऊपर बह रही गर्रा, रामगंगा तथा गंगा नदी की बाढ़ से अब शहर समेत जलालाबाद तथा कलान क्षेत्र में हालात बदतर हैं। मिर्जापुर विकास खंड के करीब 22 गांव रामगंगा की बहगुल की बाढ़ से टापू बन गए हैं। आठ गांव गंगा नदी की बाढ़ से घिरे हैं। कलान ब्लाक में परौर, कुंडरियां समेत दर्जन भर गांव के लोग सैलाब से जूझ रहे है। प्रशासन की ओर से उपलब्ध कराई गई नाव व मोटरमोट बाढ़ की विभीषिका के आगे नाकाफी साबित हो रहे है। बाढ़ से घिर लोग ट्यूब की नाव बनाकर एक दूसरे की मदद में लगे है। घर तक सैलाब पहुंच जाने पर तमाम लोगों को सड़क पर खुले आसमान के नीचे आ गए है। तिलहर क्षेत्र में हालात स्थिर है। हालांकि शनिवार रात बस्ती नगला समेत बाढ़ में फंसे 125 लोगों को प्रशासन ने रेस्क्यू किया। उधर निजामपुर नगरिया में शनिवार को पानी में बहा युवक रविवार को भी नहीं मिल सका। एसडीआरएफ टीम भी युवक को तलाश नहीं सकी। रामगंगा में गत दिनों 2.38 लाख क्यूसेक, गंगा में 2.73 तथा गर्रा नदी में छोड़ा गया 56 हजार क्यूसेक पानी के जनपद में पहुंचने के बाद हालात खराब हो गए। 350 से अधिक गांव बाढ़ से घिर गए। रविवार को खुदागंज तथा तिलहर क्षेत्र में नदियों का जलस्तर गिरा, लेकिन तहसील सदर क्षेत्र के साथ जलालाबाद व कलान में जलस्तर बढ़ गया। गर्रा नदी का पानी शहर के सुभाषनगर, ककरा तक पहुंच गया है। ककरा से जैव विविधता पार्क व बिजली चार्ज स्टेशन जाने वाली सड़क पूरी तरह डूब गई है। प्रस्तावित न्यूसिटी पूरी तरह जलमग्न है। लोदीपुर, हुसैनपुरा, ख्वाजाफिरोज, हनुमतधाम खन्नौत नदी की बाढ़ से जलमग्न है। उधर राइखेड़ा समेत समीपवर्ती गांव गर्रा नदी सैलाब से घिर है। वित्त मंत्री ने डीएम, एसपी के संग किया निरीक्षण

वित्तमंत्री सुरेश खन्ना ने डीएम इंद्र विक्रम सिंह, एसपी एस आनंद के साथ बाढ़ प्रभावित अजीजगंज, ककरा, लोदीपुर, हनुमतधाम, हुसैनपुरा आदि क्षेत्रों का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने बाढ़ से खतरे में आ चुके निर्माणाधीन पुल को भी देखा। सेतु निगम के अभियंताओं से पुल की डिजाइन व गुणवत्ता को लेकर चर्चा की। एसडीएम दशरथ कुमार व तहसीलदार पुष्पेंद्र कुमार सिंह ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का निरीक्षण किया। सुभाष नगर में कराए जा रहे बाढ़ बचाव कार्य को देखा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.