शाहजहांपुर में 27 स्कूलों के 1992 विद्यार्थी पास, तीन स्कूलों का रिजल्ट रुका

सीबीएसई (केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद) बोर्ड ने शुक्रवार को इंटरमीडिएट परीक्षा का परिणाम घोषित कर दिया। हाईस्कूल परीक्षा के 30 फीसद अंकों के साथ स्कूल बेस्ड असेसमेंट के आधार पर घोषित परिणाम में जनपद के 27 विद्यालयों के 1992 विद्यार्थी बिना परीक्षा दिए पास हो गए। इनमें 20 फीसद से अधिक बच्चों को 90 फीसद से ज्यादा अंक मिले है

JagranSat, 31 Jul 2021 02:00 AM (IST)
शाहजहांपुर में 27 स्कूलों के 1992 विद्यार्थी पास, तीन स्कूलों का रिजल्ट रुका

जेएनएन, शाहजहांपुर : सीबीएसई (केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद) बोर्ड ने शुक्रवार को इंटरमीडिएट परीक्षा का परिणाम घोषित कर दिया। हाईस्कूल परीक्षा के 30 फीसद अंकों के साथ स्कूल बेस्ड असेसमेंट के आधार पर घोषित परिणाम में जनपद के 27 विद्यालयों के 1992 विद्यार्थी बिना परीक्षा दिए पास हो गए। इनमें 20 फीसद से अधिक बच्चों को 90 फीसद से ज्यादा अंक मिले है। लंबी प्रतीक्षा के बाद जारी परिणाम से स्कूल विद्यार्थियों के साथ शिक्षकों में खुशी की लहर दौड़ गई। अभिभावकों व शिक्षकों ने बच्चों को मिठाइयां खिलाकर खुशियां बांटी।

सीबीएसई की मान्यता के बाद पहली बार इंटरमीडिएट परीक्षा के लिए पंजीकृत शाहजहांपुर का डा. सुदामा प्रसाद विद्यास्थली, तिलहर का सेंट मेरी तथा पुवायां के सेक्रेड हार्ट स्कूल का रिजल्ट रोक लिया गया है। इससे 159 विद्यार्थी मायूस रहे।

शुक्रवार अपराह्न दो बजे परीक्षा परिणाम जारी होते ही शहर के नवोदय विद्यालय, केंद्रीय विद्यालय प्रथम, केंद्रीय विद्यालय द्वितीय, तक्षशिला, डा. जीएल कनौजिया, डॉन एंड डोना, जलालाबाद के रोजी पब्लिक स्कूल, पुवायां के कैंब्रिज कान्वेंट, मारवाह, तिलहर के द रेनेसां समेत स्कूलों की रौनक बढ़ गई। शिक्षकों ने परीक्षा परिणाम देख टापर्स को विद्यालय के इंटरनेट मीडिया व वाट्सएप ग्रुप पर साझा किया। अभिभावकों ने भी मिठाई खिलाकर बच्चों का उत्साहवर्धन किया। इन विद्यालयों के परीक्षार्थी मायूस

शाहजहांपुर के डा. सुदामा प्रसाद विद्यास्थली स्कूल के 89 विद्यार्थी इंटरमीडिएट परीक्षा के लिए पंजीकृत थे। इसी तरह पुवायां के सेक्रेट हार्ट के 31 तथा तिलहर स्थित सेंट मैरी स्कूल के 39 विद्यार्थियों का पहली बार इंटरमीडिएट परीक्षा के लिए पंजीयन कराया गया। शुक्रवार को जारी परीक्षा परिणाम में इन विद्यालयों के परीक्षार्थियों का परिणाम जारी नहीं किया गया। इससे 159 विद्यार्थी मायूस हो गए है।

कालेज बेस असेस्मेंट से प्रभावित रहा परिणाम

सीबीएसई की ओर से घोषित परीक्षा परिणाम, कालेज बेस्ड असेस्मेंट से प्रभावित रहा। दरअसल सीबीएसई बोर्ड ने कोरोना संक्रमण काल को देखते हुए रिजल्ट का फार्मूला जारी किया था। इंटरमीडिएट परीक्षा परिणाम में हाईस्कूल के 30 अंक शामिल किए। जो कि बोर्ड के रिकार्ड में पहले से ही थे। शेष 70 फीसद अंक संबंधित स्कूल को देने थे। इनमें कक्षा 11 की गृह परीक्षा के साथ ही बोर्ड ने कक्षा 12 में किसी भी परीक्षा अंक संबंधित स्कूल को देने थे। स्कूल ने विद्यार्थियों की परफार्मेंस के आधार पर कक्षा 11 व 12 के अंक दिए। इस कारण कालेज बेस्ड असेसमेंट का परीक्षा परिणाम पर सर्वाधिक असर पड़ा। यही कारण रहा कि किसी भी मेधावी बच्चे का परीक्षा में कोई खास नुकसान नही हुआ। हाईस्कूल के अंकों का भी आधार लिए लिए जाने पर सभी विद्यार्थी संतुष्ट रहे।

परीक्षा परिणाम में बोर्ड ने हाईस्कूल के अंकों के साथ कालेज बेस्ड असेसमेंट पर सर्वाधिक महत्व दिया। इससे कोरोना संक्रमण काल मे किसी भी बच्चे का अहित नहीं हो सका। जिन बच्चों ने नियमित ऑनलाइन कक्षाएं अटेंड की, उनके प्रदर्शन के आधार पर स्कूल की ओर से उचित अंक दिए गए। नतीजतन सभी विद्यार्थियों का न्याय हो सका। पहली बार शामिल होने इंटरमीडिएट परीक्षा के लिए पंजीकृत तीन स्कूलों के 159 बच्चों का रिजल्ट रुका है, जो जल्द ही घोषित हो जाएगा।

राजीव मोहन पांडेय, सिटी कोआर्डिनेटर

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.