नहर विभाग के जेई के गोदाम से पकड़ी अवैध शराब, तीन गिरफ्तार

नहर विभाग के जेई के गोदाम से पकड़ी अवैध शराब, तीन गिरफ्तार
Publish Date:Sat, 19 Sep 2020 11:56 PM (IST) Author: Jagran

जेएनएन, कांट : शाहजहांपुर-जलालाबाद मार्ग स्थित नहर विभाग के जेई के गोदाम में शनिवार को पुलिस व क्राइम ब्रांच ने छापा मारा। वहां, अवैध रूप से शराब बना रहे कानपुर के तीन लोगों को पकड़ा। मौके पर ढाई हजार लीटर शराब, उपकरण व एक वाहन भी बरामद हुए। एसपी एस आनंद ने पुलिस टीम को 25 हजार रुपये का इनाम देने की घोषणा की है।

जमौर में एफसीआइ गोदाम के पास नहर विभाग के जेई राजेश कुमार का गोदाम है। करीब डेढ़ माह पहले उन्होंने इसे कानपुर देहात के मूसानगर थाना क्षेत्र के सूरजपुर गांव निवासी दीपू कुमार को 23 हजार रुपये प्रतिमाह किराये पर दिया था। गोदाम में देसी व अंग्रेजी शराब बनाने की सूचना एसपी को मिली। उनके निर्देश पर सीओ सदर महेंद्र सिंह ने टीम के साथ छापा मारा तो रामपुर के बरेली रोड स्थित एक शराब कंपनी के नाम से पैकिग व बिना पैकिग की शराब बरामद हुई। वहां से कानपुर के बिधनू थाना क्षेत्र के चौराई गांव निवासी विकास गुप्ता, प्रताप सिंह व हरबंशपुर गांव निवासी प्रमोद कुमार को गिरफ्तार कर लिया।

ऐसे शुरु हुआ कारोबार

विकास गुप्ता उन्नाव में शराब की दुकान पर सेल्समैन था। वह अवैध रूप से शराब भी बनाने लगा था, जिस कारण उन्नाव व कानपुर में जेल भी गया था। दो माह पहले उन्नाव की जेल से छूटा था। उसके बाद मित्र दीपू के साथ शाहजहांपुर आ गया था।

हर पेटी पर मिल रहे थे 100 रुपये

विकास गुप्ता ने पुलिस को बताया कि तीनों एक दिन में 40 से 50 पेटी शराब तैयार करते थे। दीपू उन्हें सौ रुपये प्रति पेटी देता था। शराब बेचने का काम दीपू व विकास करते थे। एक पेटी में 60 पौव्वे आते हैं। 17 रुपये की लागत वाला पौव्वा 80 में बेचते थे। कानपुर, उन्नाव, फर्रुखाबाद समेत कई जिलों में ढाबों व दुकानों पर सप्लाई की जा रही थी।

वर्जन:::

बैग फैक्ट्री लगाने के लिए गोदाम बनवाया था। लॉकडाउन की वजह से मशीन नहीं आ पाई थी। ऐसे में एक परिचित के माध्यम से इन लोगों को गोदाम किराए पर दे दिया था।

राजेश कुमार, जेई नहर विभाग

------

इस कारोबार से जुड़े अन्य लोगों की धरपकड़ के लिए क्राइम ब्रांच व पुलिस टीमें लगाई गई हैं। जल्द ही अन्य गिरफ्तारी भी होंगी।

एस आनंद, एसपी

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.