एक दिन बना कंटेनमेंट जोन, फिर नहीं दिया ध्यान

एक दिन बना कंटेनमेंट जोन, फिर नहीं दिया ध्यान

कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने को संक्रमितों के आवास से 25 मीटर के दायरे को कंटनमेंट जोन बनाने के निर्देश दिए। जिले में भी एक सप्ताह पहले इसकी जलालाबाद से शुरुआत हुई थी। इसके बाद एक-दो स्थानों पर प्रशासन ने बैरीकेडिग और रस्सी भी बंधवाई।

JagranThu, 15 Apr 2021 01:39 AM (IST)

जेएनएन, शाहजहांपुर : कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने को संक्रमितों के आवास से 25 मीटर के दायरे को कंटनमेंट जोन बनाने के निर्देश दिए। जिले में भी एक सप्ताह पहले इसकी जलालाबाद से शुरुआत हुई थी। इसके बाद एक-दो स्थानों पर प्रशासन ने बैरीकेडिग और रस्सी भी बंधवाई। लेकिन, उसके बाद प्रशासन ने लापरवाही बरतना शुरू कर दी। अब शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों तक प्रशासन कंटेनमेंट जोन बनाना तो दूर संक्रमितों के संपर्क में आने वालों की जांच कराना तक उचित नहीं समझ रहा है। ऐसे में बिना रोक-टोक के लोग घूम रहे है। जिससे संक्रमण की रोकथाम तो दूर की बाद फैलने का खतरा बढ़ गया है। ऐसे ही कई स्थान बुधवार को भी देखने को मिले, जहां संक्रमितों के आस के आस-पास ही बिना मास्क लगाए घूमते नजर आए।

फोटो : 15एसएचएन 26

शहर के चौक कोतवाली क्षेत्र के तीन खंभा गली में चार दिन पहले तीन संक्रमित निकले थे। उससे दो दिन पहले भी यहां चार संक्रमित मिले। लेकिन, गली में प्रशासन ने बैरीकेडिग नहीं कराई। हालांकि इस गली के कुछ लोगों ने स्वयं जांच करा ली। बुधवार को गली में लोग घूमते नजर आए।

फोटो : 15एसएचएन 31

निगोही कस्बा में 12 अप्रैल को कोरोना संक्रमित महिला की मौत हो गई थी। लेकिन, प्रशासन संक्रमित के घर के आस-पास कंटनमेंट जोन नहीं बनाया। संपर्क में आने वाले किसी की जांच नहीं कराई। बुधवार को महिला के घर आस-पास की ज्यादातर दुकानें खुली थी। आने वाले लोग मास्क भी नहीं लगाए थे। फोटो : 15एसएचएन 32

कलान के उल्फतनगर मुहल्ले में मंगलवार को एक युवक संक्रमित निकला। यहां बुधवार को भी कंटनमेंट जोन नहीं बना। यही स्थिति नदी किनारे मुहल्ले में देखने को मिली। यहां भी मंगलवार को दो संक्रमित निकले थे। लेकिन, प्रशासन की टीम यहां नहीं पहुंची। बीएसएनएल वाली गली में भाजपा नेता संक्रमित होने के बाद उनके संपर्क में आने वाले की भी जांच करना उचित नहीं समझा। फोटो : 15एसएचएन 24

डाक विभाग में डाक अधीक्षक व एक अन्य कर्मचारी संक्रमित निकले। दोनों लोग अपने आवास में क्वारंटाइन हो गए। डाक परिसर में तो प्रशासन ने सैनिटाइजेशन करा दिया। लेकिन, कालोनी में न कंटेनमेंट जोन बनाया और न ही सैनिटाइजेशन करने कोई पहुंचा। उनके संपर्क में आने वालों को भी ट्रेस नहीं किया। फोटो : 14एसएचएन 33

संक्रमित के निकलने पर कंटनमेंट जोन अनिवार्य रूप से बनने है। हर जगह बना भी रहे है। कहीं लापरवाही है तो संबंधित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। लोग स्वयं भी सतर्क रहें।

रामसेवक द्विवेदी, एडीएम प्रशासन

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.