शिक्षकों को दिए गए बच्चों को पढ़ाने के टिप्स

शिक्षकों को दिए गए बच्चों को पढ़ाने के टिप्स

संतकबीर नगर प्राथमिक विद्यालयों में नवनियुक्त सहायक अध्यापकों को प्रशिक्षण शिविर में बच्चों को पढ़ाने के टिप्स दिए गए। अनुशासन का पाठ पढाया गया।

Publish Date:Sat, 16 Jan 2021 10:43 PM (IST) Author: Jagran

संतकबीर नगर : प्राथमिक विद्यालयों में नवनियुक्त सहायक अध्यापकों को प्रशिक्षण शिविर में बच्चों को पढ़ाने के टिप्स दिए गए। शिक्षकों ने शनिवार को समाप्त हुए दो दिवसीय प्रशिक्षण में अनुशासन व कर्तव्यनिष्ठा का भी पाठ पढ़ा।

जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान (डायट) में दो दिनों में 126 शिक्षकों का प्रशिक्षण दिया गया। बच्चों को पढ़ाने में महारत हासिल करने वाले 63 शिक्षकों को आज दक्षता प्रमाण पत्र दिया गया। प्रमाणपत्र पाते ही सभी के चेहरे खिल उठे। प्रथम चरण में दो चक्र में अब तक 128 शिक्षकों में से 126 ने प्रशिक्षण लिया है। अब अगले चरण में शेष नवनियुक्त शिक्षकों का प्रशिक्षण चलेगा।

समापन सत्र में प्रभारी प्राचार्य डा. ज्ञानेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि आप से बच्चों का भविष्य जुड़ा है। बच्चों को सरलतम ढंग से पढ़ाने के लिए प्रशिक्षण में अर्जित ज्ञान का प्रयोग जरूरी है। डा. आराधना गोस्वामी ने दीक्षा एप, पुनीता धर द्विवेदी ने मानव संपदा के बारे में जानकारी दी। प्रवक्ता ओंकार नाथ मिश्र ने मिशन प्रेरणा से संबंधित जानकारी दी। प्रवक्ता तृप्ति श्रीवास्तव ने आपरेशन कायाकल्प से विद्यालय व्यवस्था बेहतर बनाने का उपाय सुझाया। इस दौरान मुख्य रूप से डा. रोली श्रीवास्तव, चंदन शुक्ला, साधना पटेल, संत कुमार चौधरी, अखंड प्रताप सिंह, अभिष्ठ देव पांडेय, आद्या प्रसाद, उपेंद्र यादव, संतोष कुमार, प्रवीण कुमार समेत बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे। नारियों के सम्मान पर दिया जोर

संतकबीर नगर: अखिल हिदी साहित्य परिषद के तत्वावधान में शनिवार को हीरालाल रामनिवास स्नातकोत्तर महाविद्यालय खलीलाबाद में साहित्य संवाद हुआ। पौराणिक कथाओं व व्रत पर चर्चा करके नारी के सम्मान पर जोर दिया गया।

परिषद के महामंत्री डा. अमरनाथ पांडेय ने मा‌र्क्सवादी प्रगतिशील कथाकार यशपाल की कहानी करवा का व्रत पर विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि करवा की कहानी स्त्री- पुरुष संबंधों के धरातल पर नारी समस्या का समुचित समाधान है। कथा का मूल बिदू नारी सम्मान की रक्षा व पुरुष हृदय परिवर्तन की घटना है। उन्होंने कहा कि साहित्य पर संवाद व चर्चा जरूरी है। डा. अमित भारती के करवाचौथ व्रत की पौराणिक एवं लौकिक मान्यता पर प्रकाश डाला और साथ ही स्त्री समाज में इसकी भूमिका को परिभाषित किया। इस दौरान डा. संध्या राय, डा. प्रिया अग्रहरि, साधना मौर्या, राजेश यादव, लक्की सिंह, नमिता सिंह, चंद्रशीला, विनीता, छोटेलाल आदि मौजूद रहे। कल से चलेगा दूसरे चरण का प्रशिक्षण - प्राथमिक विद्यालयों में नवनियुक्त सहायक अध्यापकों के दूसरे चरण का प्रशिक्षण सोमवार को होगा। बीएसए कार्यालय में कार्यभार ग्रहण करने वाले सभी 578 शिक्षकों को 18 से दो फरवरी तक दो-दो दिनों का प्रशिक्षण दिया जाएगा। इन्हें अभी विद्यालय का आवंटन नहीं मिला है। प्रभारी प्राचार्य ने बताया कि दूसरे चरण में एक साथ तीन पाली चलेगी। हर में 32 प्रशिक्षार्थी शामिल रहेंगे। सुबह 9.30 बजे शाम पांच बजे तक उपस्थिति होने के साथ मास्क व शारीरिक दूरी का पालन करना होगा। -------------------

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.