नहरें बेपानी, बढ़ी परेशानी

नहरें बेपानी, बढ़ी परेशानी

संतकबीर नगर जनपद की सभी नहरें बेपानी हैं। नहरों में पानी न आने से किसानों की परेशानी बढ़ गई है । परेशान किसान नहरों में पानी न आने के लिए प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगा रहे हैं।

Publish Date:Fri, 27 Nov 2020 06:49 PM (IST) Author: Jagran

संतकबीर नगर: जनपद की सभी नहरें बेपानी हैं। नहरों में पानी न आने से किसानों की परेशानी बढ़ गई है और अन्नदाता को सिंचाई की चिंता सताने लगी है।

धनघटा तहसील क्षेत्र के किसानों को सिचाई की बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने के लिए लगभग पांच दशक पूर्व बना पंप कैनाल बदहाल होने से नहर में अब तक पानी नहीं आया। इससे किसानों की चिता बढ़ गई है।

मुखलिसपुर पंप कैनाल से कठैचा, सकरैचा, भिटकिनी, काली-जगदीशपुर, नाथनगर समेत गोरखपुर जिले के दर्जनों गांवों तक के किसानों को सिचाई की सुविधा मिलती थी। किसान भीमसेन चौधरी का कहना है कि नहर की सफाई पर हर वर्ष लाखों का खर्च होता है। ठीक से सफाई नहीं होने से खेतों तक पानी नहीं पहुंच पाता है। सकरैचा निवासी गोविद का कहना है कि पिछले तीन-चार वर्षों से इस प्रकार की समस्या आ रही है। नहर होने के बाद भी अपने ही पंपसेट से खेतों की सिचाई करनी पड़ती है। इस बार भी एक सप्ताह बाद से गेहूं की फसल की सिचाई आरंभ होने वाली है। नहर का हाल बदहाल होने से पंपसेट का प्रयोग करने की मजबूरी फिर आन पड़ने की आशंका है। शैलेंद्र यादव ने कहा कि नहर में पानी को लेकर क्षेत्र के किसान लगातार मांग करते रहे हैं। इसके लिए प्रदर्शन भी होता है। इसके बाद भी जिम्मेदार सुनने को तैयार नहीं हैं। किसानों ने नहर से सिल्ट की सफाई करवाने की मांग की। एसडीएम धनघटा गुलशन कुमार ने बताया कि नहर की सफाई के लिए विकास विभाग को पत्र लिखा गया है। जहां भी सिल्ट भरा होगा उसे जल्द ही साफ करवाकर सिचाई की सुविधा बहाल करवाई जाएगी।

--------------------

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.